scriptHealth services were being operated on the basis of a nurse | एक नर्स के भरोसे संचालित हो रहीं थी स्वस्थ्य सेवाएं | Patrika News

एक नर्स के भरोसे संचालित हो रहीं थी स्वस्थ्य सेवाएं

चिकित्सकों के इंतजार में परेशान हुए मरीज
११ बजे के बाद पहुंचे चिकित्सक
रामपायली सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र का मामला

https://fb.watch/cQIroo5oZ6/

बालाघाट

Published: May 06, 2022 03:59:17 pm

https://fb.watch/cQIroo5oZ6/

बालाघाट/रामपायली. भीषण गर्मी में मरीजों की कतार, चिकित्सकों के इंतजार में परेशान होते मरीज और स्वास्थ्य केन्द्र के कमरों की खाली कुर्सियां यह हाल ४ मई को रामपायली के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में नजर आए। दरअसल बुधवार को इस स्वास्थ्य केन्द्र में सुबह ११ बजे तक कोई चिकित्सक नहीं पहुंच पाया था। एक मात्र नर्स केन्द्र उपस्थित नजर आई। जिनके द्वारा ही मरीजों को समझाने का प्रयास किया जा रहा था। जानकारी लगने पर पत्रिका टीम मौके पर पहुंची इस दौरान स्वास्थ्य केन्द्र के स्टॉफ और चिकित्सकों की मनमानी सामने आई।
बताया गया कि वैसे तो इस केन्द्र में दो चिकित्सकों को पदस्थ किया गया, लेकिन वर्तमान में एक डॉ खान सोमवार तक अवकाश पर है। वहीं दूसरीं चिकित्सक हमेंशा ही बाहर से अपडाउन करने के कारण ११ बजे के बाद ही केन्द्र में पहुंचती है। इस दौरान सुबह आठ बजे से पहुंचे मरीजों को भीषण गर्मी में परेशान होना पड़ता है। बुधवार को चिकित्सकों के कक्ष के अलावा पैथोलॉजी लैब और दवां वितरण केन्द्र में भी कर्मचारी अनुपस्थित नजर आए। इन सबका इंतजार करते हुए मरीज बेजा परेशान होते नजर आए।
मरीजों ने बताई परेशान
अपना उपचार कराने सुबह आठ बजे से पहुंचीं जयंती डोहरे ने बताया कि वे बीमार है, चलने और खड़े रहने में काफी तकलीफ हो रही है। लेकिन चिकित्सक मौके पर नहीं होने के कारण मजबूरन उन्हें इंतजार करना पड़ रहा है। इसी तरह सीताराम बनकर ने बताया कि वह भी कई किलोमीटर दूर से उपचार कराने पहुंचा है। लेकिन मौके पर ना तो चिकित्सक है और दवा वितरण करने कर्मचारी, ऐसे सीताराम बनकर द्वारा निजी क्लिीनिक में उपचार कराए जाने की बात कही गई।
८४ गांव से आते मरीज
जानकारी के अनुसार रामपायली का सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र आस पास के करीब ८४ गांवों का केन्द्र बिंदू है। इस स्वास्थ्य केन्द्र पर करीब डेढ़ की आबादी स्वास्थ्य सुविधाओं के लिए आश्रित है। बावजूद इसके चिकित्सकों की कमी और मनमानी से ग्रामीणों को स्वास्थ्य सुविधाओं का लाभ नहीं मिल पा रही है। हमेंशा ही मरीज ओपीडी समय पर पहुंचते हैं। लेकिन डॉक्टरों के देरी से आने के कारण या तो उन्हें परेशान होना पड़ता है या फिर निजी क्लिीनिक में जाकर अधिक रूपए खर्च कर उपचार कराना पड़ता है।
इस पूरे मामले पर पत्रिका द्वारा जिला स्वास्थ्य अधिकारी डॉ मनोज पांडे से फोन पर संपर्क कर जानकारी से अवगत कराया गया। इस दौरान सीएमएचओ पांडे द्वारा अनुपस्थित कर्मचारियों द्वारा नोटिस जारी किए जाने की बात कही गई।
वर्सन
सुबह आठ बजे से पहुंचकर डॉक्टरों का इंतजार कर रहूॅ। काफी वीकनेस और शरीर में तकलीफ भी है। बावजूद इसके यहां पहुंचकर बेजा परेशान होना पड़ रहा है।
जयंती डोहरे, मरीज
एक नर्स के भरोसे संचालित हो रहीं थी स्वस्थ्य सेवाएं
एक नर्स के भरोसे संचालित हो रहीं थी स्वस्थ्य सेवाएं
रामपायली केन्द्र में डॉक्टरों के देरी से आने का यह पहला वाक्या नहीं है। बल्कि हमेंशा ही यहां डॉक्टर और कर्मचारी देरी से ही पहुंचते हैं। चिकित्सकों के मुख्यालय में न रहकर बाहर से अपडाउन करने से यह समस्या उत्पन्न होती है।
सीताराम बनकर, मरीज
हमारे द्वारा सभी अनुपस्थित डॉक्टर और कर्मचारियों को नोटिस जारी कर जवाब तलब किया जा रहा है। स्पष्ट कारण प्रस्तुत नहीं करने पर वैधानिक कार्रवाई की जाएगी।
डॉ मनोज पांडे, सीएमएचओ

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

सीएम Yogi का बड़ा ऐलान, हर परिवार के एक सदस्य को मिलेगी सरकारी नौकरीचंडीमंदिर वेस्टर्न कमांड लाए गए श्योक नदी हादसे में बचे 19 सैनिकआय से अधिक संपत्ति मामले में हरियाणा के पूर्व CM ओमप्रकाश चौटाला को 4 साल की जेल, 50 लाख रुपए जुर्माना31 मई को सत्ता के 8 साल पूरा होने पर पीएम मोदी शिमला में करेंगे रोड शो, किसानों को करेंगे संबोधितराहुल गांधी ने बीजेपी पर साधा निशाना, कहा - 'नेहरू ने लोकतंत्र की जड़ों को किया मजबूत, 8 वर्षों में भाजपा ने किया कमजोर'Renault Kiger: फैमिली के लिए बेस्ट है ये किफायती सब-कॉम्पैक्ट SUV, कम दाम में बेहतर सेफ़्टी और महज 40 पैसे/Km का मेंटनेंस खर्चIPL 2022, RR vs RCB Qualifier 2: राजस्थान ने बैंगलोर को 7 विकेट से हराया, दूसरी बार IPL फाइनल में बनाई जगहपूर्व विधायक पीसी जार्ज को बड़ी राहत, हेट स्पीच के मामले में केरल हाईकोर्ट ने इस शर्त पर दी जमानत
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.