नदी में स्वीकृत स्थल से बाहर हो रहा रेत का अवैध खनन

ग्राम पंचायत टुईयापार के चंद्रकुंआ घाट का मामला, तहसीलदार के आदेश पर आरआई ने किया मौके का निरीक्षण

बालाघाट. खैरलांजी तहसील के अंतर्गत आने वाली ग्राम पंचायत टुईयापार में सरपंच विनोद खरोले इन दिनों बावनथड़ी नदी में अवैध तरीके से रेत का उत्खनन कर रहे है। माफिया को फायदा पहुंचाने के लिए सरपंच ने स्वीकृत एरिया के बाहर जाकर रेत का उत्खनन शुरू किया है। इस अवैध रेत उत्खनन के संबंध में जब तहसीलदार प्रीति चौरसिया को शिकायत हुई तो उन्होंने राजस्व निरीक्षक विक्रम उइके को मौके पर भेजकर निरीक्षण करवाया है। इस निरीक्षण के दौरान आरआई ने मौखिक तौर पर अवैध उत्खनन की बात भी कबूल कर ली है। मगर, आरआई ने अवैध उत्खनन होने के बाद भी किसी तरह की कोई कागजी कार्रवाई नहीं की है। जिससे प्रशासन की कार्रवाई पर भी सवाल खड़े हो रहे है। ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि बावनथड़ी नदी में सफेदपोश नेताओं के रिश्तेदारों और रेतमाफिया को फायदा पहुंचाने में प्रशासन पूरी तरह मदद कर रहा है।
उल्लेखनीय है कि ग्राम पंचायत टुईयापार को 6 माह के लिए चन्द्रकुंआ में रेतघाट स्वीकृत किया गया था। यह रेतघाट शुरू से ही विवादों में रहा है। प्रशासनिक जानकारी के मुताबिक बावनथड़ी नदी पर पंचायत को करीब ढाई एकड़ का रकबा रेत खनन के लिए स्वीकृत है। ग्राम पंचायत ने 2 माह में ही 2 एकड़ के रकबे से रेत खनन कर ली थी। अब पंचायत स्वीकृत एरिया के बाहर जाकर अवैध तरीके से रेत खनन कर रही है। यह रेत माफिया के जरिए बेची जा रही है। नदी में रेत खनन के लिए एक छोर से दूसरे छोर तक रैम का निर्माण कर लिया है। वहीं रात के अंधेरे में नियम विरुद्ध जेसीबी मशीन से रेत निकाली जा रही है। सूत्रों की माने तो इस रेतघाट को जिले का एक सिंडिकेट संचालित कर रहा है। जिसमें सफेदपोश नेता से लेकर कथित समाजसेवी और रेत माफिया भी शामिल है।
इनका कहना है
स्वीकृत एरिया के बाहर खनन किया जा रहा है। तहसीलदार ने मौके का निरीक्षण करने के लिए कहा था।
- विक्रम उइके, आरआई
रेत के अवैध खनन की मुझे शिकायत प्राप्त हुई थी। आरआई तथा पटवारी के मौके पर भेजकर दिखवाती हूं। अगर अवैध तरीके से उत्खनन किया जा रहा है तो कार्रवाई की जाएगी।
-प्रीति चौरसिया, तहसीलदार

Bhaneshwar sakure Bureau Incharge
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned