नहीं थम रहा रेत का अवैध खनन, हो रहा विरोध

माफिया नदियों को कर रहे हैं छलनी, शासन को लाखों रुपए के राजस्व की हो रही है क्षति

बालाघाट. जिले में रेत के अवैध खनन, परिवहन पर रोक नहीं लग पा रही है। माफिया लगातार नदियों को छलनी कर रहे हैं। इससे न केवल प्रकृति पर प्रभाव पड़ रहा है। बल्कि नदियों के भू-जल स्तर पर इसका असर हो रहा है। जबकि इसी वर्ष ग्रीष्म ऋतु में नदियों से रेत के अवैध खनन के कारण जिले में भीषण पेयजल संकट गहरा गया था। बावजूद इसके प्रशासन ने इसे गंभीरता से नहीं लिया है। इसका ताजा उदाहरण लांजी क्षेत्र में देखने को मिला। जहां पर लांजी एसडीएम चंद्रप्रताप गोहल ने कोचेवाही नदी में रेत का अवैध खनन कर परिवहन करते चार ट्रैक्टरों को जब्त किया है। इसी तरह तिरोड़ी क्षेत्र में ग्रामीणों द्वारा बावनथड़ी, टुईयापार सहित अन्य क्षेत्रों में नदी से रेत के खनन किए जाने का विरोध किया जा रहा है। लेकिन माफिया पर ठोस कार्रवाई नहीं होने की वजह से रेत के खनन और परिवहन का कार्य बेखौफ चल रहा है।
जानकारी के अनुसार जिले में रेत के अवैध खनन का कार्य तेजी से हो रहा है। मौजूदा समय में जिले में रेत घाट को स्वीकृति नहीं मिलने के कारण माफिया बड़े पैमाने पर रेत का अवैध खनन कर उसका अन्य राज्यों में परिवहन कर रहे हैं। जिले के लांजी, किरनापुर, खैरलांजी, तिरोड़ी, कटंगी, वारासिवनी, बोनकट्टा, समनापुर, मगरदर्रा सहित अन्य क्षेत्रों में बड़े पैमाने पर रेत का अवैध खनन किया जा रहा है। इससे शासन को राजस्व की क्षति तो हो रही है। साथ ही साथ नदियों के भू-जल स्तर पर प्रभाव भी पड़ रहा है। बुधवार को लांजी एसडीएम चंद्रप्रताप गोहल ने कोचेवाही नदी से चार ट्रैक्टर ट्राली को रेत का अवैध रुप से परिवहन करने के मामले में जब्त किया है।
इसी तरह तिरोड़ी क्षेत्र में बावनथड़ी नदी के कोड़बी, चाकाहेटी, टुईयापार सहित अन्य क्षेत्र में रेत का वैध और अवैध रुप से बेजा खनन किया जा रहा है। टुईयापार में पंचायत को पांच माह के लिए घाट स्वीकृत किया गया है। लेकिन यहां पर स्वीकृति की आड़ में नदी का बेजा दोहन किया जा रहा है। जिससे न केवल नदी के जल स्तर पर प्रभाव पड़ रहा है। बल्कि पर्यावरण पर भी असर पड़ रहा है।

Bhaneshwar sakure Bureau Incharge
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned