लालबर्रा-सिवनी मार्ग पर बाघ की बढ़ रही चहल कदमी

वन विभाग ने ग्रामीणों को सतर्क रहने की अपील की, कंजई-भांडामुर्री के जंगल में रोजाना हो रही है बाघ की हलचल

By: Bhaneshwar sakure

Published: 08 Oct 2021, 10:11 PM IST

बालाघाट/लालबर्रा. लालबर्रा-सिवनी मार्ग पर रोजाना बाघ की चहल कदमी से न केवल ग्रामीणों में दहशत का माहौल बना हुआ है। बल्कि राहगीरों के लिए भी खतरा बना हुआ है। शुक्रवार को भी लालबर्रा-सिवनी मार्ग पर बंजारी माता मंदिर से पहले एक बाघ रोड पार करते हुए राहगीरों को दिखा। हालांकि, बाघ ने किसी भी प्रकार की कोई हिंसात्मक रुप अख्तियार नहीं किया। इधर, शुक्रवार को बाघ के दर्शन होने पर राहगीरों ने इसे आस्था से भी जोड़कर देखा। वहीं दूसरी वन विभाग ने भी ग्रामीणों और राहगीरों को सतर्क रहने की अपील की है।
जानकारी के अनुसार वन विकास निगम परिक्षेत्र लालबर्रा अंतर्गत आने वाले जंगल से सटे ग्राम कंजई व भांडामुर्री मुरूम नाला के जंगलों में रोजाना बाघ विचरण करते देखा जा रहा है। इन ग्रामों में बाघ के चलते दहशत का माहौल बना हुआ है। आए दिन कहीं न कहीं कोई न कोई मवेशी बाघ का निवाला बन रहा है। जानकारों की माने तो यह बाघ रोजाना क्षेत्र में घूमता हुआ दिखाई देता है। गुरुवार को बालाघाट सिवनी मार्ग पर स्थित बंजारी मंदिर परिसर के कुछ ही दूरी पर बाघ को दहाड़ते हुए देखा गया। मार्ग पर चलने वाले राहगीरों ने बाघ की कुछ तस्वीरें भी अपने मोबाइल में कैद की। बाघ का यूं खुलेआम घूमना नागरिकों के लिए घातक बताया जा रहा है। वन विभाग ने भी आमजन से अपील है कि जंगल में प्रवेश करते समय सावधानी बरतें।
इनका कहना
लालबर्रा-सिवनी मार्ग पर बाघ का विचरण रोजाना हो रहा है। आवागमन करते समय लोगों को सावधानी बरतने की आवश्यकता है। नागरिकों से अपील है कि जंगल न जाए। जंगल में भी बाघ की लगातार उपस्थिति के संकेत मिल रहे हैं।
-रवि गेडाम, परिक्षेत्र अधिकारी, वन विकास निगम परिक्षेत्र लालबर्रा

Bhaneshwar sakure
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned