scriptInspection Of School-मान्यता, स्कूल से ही किताबें वितरित करने के मामले में 4 स्कूलों की होगी जांच | Ins recognition, 4 schools will be investigated in the matter of distributing books from the school itself | Patrika News
बालाघाट

Inspection Of School-मान्यता, स्कूल से ही किताबें वितरित करने के मामले में 4 स्कूलों की होगी जांच

कलेक्टर डॉ. गिरीश कुमार मिश्रा ने शनिवार को स्कूल संचालकों के साथ दूसरे चरण की बैठक की। दूसरे चरण में उन स्कूलों को बुलाया गया जो पहले शेष रह गए थे। साथ ही वे स्कूल जिन्होंने ऑनलाइन इंट्री नहीं की थी। शनिवार को करीब 19 स्कूलों के साथ विस्तृत रुप से ड्रेस, फीस, पुस्तकें और […]

बालाघाटJul 06, 2024 / 09:35 pm

Bhaneshwar sakure

स्कूलों की जांच

बैठक में समीक्षा करते कलेक्टर।

कलेक्टर डॉ. गिरीश कुमार मिश्रा ने शनिवार को स्कूल संचालकों के साथ दूसरे चरण की बैठक की। दूसरे चरण में उन स्कूलों को बुलाया गया जो पहले शेष रह गए थे। साथ ही वे स्कूल जिन्होंने ऑनलाइन इंट्री नहीं की थी। शनिवार को करीब 19 स्कूलों के साथ विस्तृत रुप से ड्रेस, फीस, पुस्तकें और अन्य प्रबंधन के विषयों पर जानकारी ली गई।
बालाघाट. कलेक्टर डॉ. गिरीश कुमार मिश्रा ने शनिवार को स्कूल संचालकों के साथ दूसरे चरण की बैठक की। दूसरे चरण में उन स्कूलों को बुलाया गया जो पहले शेष रह गए थे। साथ ही वे स्कूल जिन्होंने ऑनलाइन इंट्री नहीं की थी। शनिवार को करीब 19 स्कूलों के साथ विस्तृत रुप से ड्रेस, फीस, पुस्तकें और अन्य प्रबंधन के विषयों पर जानकारी ली गई।
बैठक में कलेक्टर ने स्कूल वार पृथक-पृथक रुप से बैठक कर जानकारी ली। उन्होंने स्पष्ट कहा कि अभिभावकों पर किताबों का बोझ नहीं पडऩा चाहिए। अगर किताबें या पब्लिशर लगातार बदली जा रही है और चुनिंदा बुक स्टोर्स पर ही मिल रहीं है तो एमआरपी पर छूट मिलनी चाहिए। यह सुनिश्चित कराना संबंधित स्कूल प्रबंधन का ही कार्य है। बैठक के दौरान किताबों, फीस, सीबीएसइ के नाम पर अभिभावकों को गुमराह करने वाले स्कूल और स्कूल से ही किताबें देने वाले शालाओं की जांच के निर्देश दिए है। बैठक में जिला शिक्षा अधिकारी एके उपाध्याय, डीपीसी डॉ. महेश शर्मा और ट्रेसरी ऑफिसर अमित मरावी मौजूद रहे।
इन स्कूलों की होगी जांच
शनिवार को हुई बैठक में 4 स्कूलों की जांच के निर्देश कलेक्टर डॉ. मिश्रा ने दिए है। इनमें वैदिक कान्वेंट स्कूल लालबर्रा, डीपीएस स्कूल खुरसोड़ी, शैमरॉक और ग्रीस पब्लिक स्कूल शामिल है। वैदिक पब्लिक स्कूल ने वर्ष 2021 में पुस्तकों के पब्लिशर बदला है। इसके बाद 2024 में भी बदल दिया। जबकि बदले हुए पब्लिशर की किताबें चुनिंदा बुक स्टोर्स ओर ही उपलब्ध है। वहीं स्कूल प्रबंधन को यह भी जानकारी नहीं है कि एमआरपी पर छूट दी गई है या नहीं। कुछ ऐसा ही मामला खुरसोड़ी की डीपीएस स्कूल का भी है। शैमरॉक स्कूल को एमपी बोर्ड की मान्यता है लेकिन अभिभावकों को सीबीएसइ की मान्यता होने की गलत जानकारी दी गई। मान्यता के नाम पर गुमराह करने के मामले में अभिभावकों ने शिकायत की है। इसकी जांच करने के लिए एसडीएम को नियुक्त किया गया है। इसी तरह ग्रीस पब्लिक स्कूल की लिखित में शिकायत में प्राप्त हुई कि स्कूल से ही किताबें मिल रही है। स्कूल से प्रदान की जाने वाली किताबों की कीमत भी तय है। इस मामले में भी कलेक्टर ने एसडीएम को जांच करने के निर्देश दिए है।

Hindi News/ Balaghat / Inspection Of School-मान्यता, स्कूल से ही किताबें वितरित करने के मामले में 4 स्कूलों की होगी जांच

ट्रेंडिंग वीडियो