जयराम धुर्वे कैण्डाटोला सरपंच निर्वाचित, १९४ मतों से जीते

जनपद पंचायत अंतर्गत ग्राम पंचायत कैण्डाटोला में सरपंच के चुनाव में जयराम धुर्वे ने ४७९ मत लेकर जीत प्राप्त की है।

By: mahesh doune

Updated: 11 Sep 2017, 08:21 PM IST

बालाघाट/बिरसा. जनपद पंचायत अंतर्गत ग्राम पंचायत कैण्डाटोला में सरपंच के चुनाव में जयराम धुर्वे ने ४७९ मत लेकर जीत प्राप्त की है। चुनाव में सरपंच के लिए चार प्रत्याशी मैदान में थे। इनमें जयराम को ४७९ मत, कलमसिंह मेरावी २८५ मत, संगीता मरकाम ७८, वरूण घोरमारे २४ मत व नोटा में १५ मत मिले। मतगणना सुबह ९ बजे से जनपद पंचायत में प्रारंभ हुई।
पंच के निर्वाचित प्रत्याशी
ग्राम पंचायत के अंतर्गत विभिन्न १२ वार्डो में पंच के लिए मतदान कराया गया था। विजेता पंचों की घोषणा भी ११ सितम्बर को की गई। इसमें जितेन्द्र परते, नंदकुमार मेरावी, जयराम धुर्वे, चैतराम मेरावी, रामोबाई पुसाम, रामेश्वर चौधरी, इमलाबाई धुर्वे, सहतरीन धुर्वे, सुबेलाल मेरावी, सुनीता मरकाम, ललीता गढ़पाले, धरमीनबाई टेकाम निर्वाचित हुए।
विजेता को मिला प्रमाणपत्र
सहायक रिर्टनिंग अधिकारी राजेश सोनवाने ने बताया कि सरपंच चुनाव में १०५५ मतदाता थे जिनमें ८९२ मतदान हुआ था। सरपंचों का मतदान इलेक्ट्रानिक मशीन से व पंच का मतदान मतपत्र से किया गया। सोमवार को मतगणना कर विजेता प्रत्याशियों की घोषणा कर प्रमाणपत्र वितरण किया गया। मतगणना का कार्य शांतीपूर्ण संपन्न हुआ।
जुलुस निकालकर मनाई खुशियां
विजेता प्रत्याशियों के समर्थक द्वारा ग्राम में डीजे व बैण्ड की धुनों के साथ जुलुस निकालकर खुशियां मनाई गई। विजेता प्रत्याशियों को गुलाल लगाकर मिठाइयां खिलाकर बधाईयां दी गई। इस दौरान समर्थकों में भारी उत्साह का माहौल था।
शिकायत के बाद प्राचार्य पर कार्रवाई नहीं होने से अंसतोष
परसवाड़ा क्षेत्र के शासकीय उच्चतर माध्यमिक स्कूल भीड़ी के प्राचार्य व डोरा स्कूल के प्रभारी प्राचार्य आलोक चौरे द्वारा एक स्वाध्यायी छात्र से अधिक शुल्क लिए जाने की शिकायत के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं की गई है। इससे शिकायतकर्ताओं में आक्रोश व्याप्त है। उन्होंने कहा कि सरकार शिक्षा की गुणवत्ता व आधुनिकीकरण को लेकर हर वर्ष सरकार करोड़ों रुपए की योजना चला रही है। लेकिन आदिवासी ग्रामीण अंचलों में शिक्षा के स्तर में शिक्षकों की उदासीनता के चलते सुधार नहीं हो रहा है।
इनने की थी शिकायत
इसकी शिकायत जनपद सदस्य दिनेश मरकाम, सरपंच फगनुसिंह खण्डाते, उप सरपंच नेमीचंद क्षीरसागर, पालक संघ अध्यक्ष समारूसिंह वारिवा, पूर्व सरपंच मुन्ना टेकाम सहित अन्य ने २३ अगस्त को कलेक्टर कार्यालय पहुंच शिकायत की थी। कलेक्टर द्वारा शिकायत की जांच कर कार्रवाई करने का आश्वासन दिया था।

 

mahesh doune
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned