नींद से जागा लोनिवि. ग्रामीणों ने जताया पत्रिका का आभार

नींद से जागा लोनिवि. ग्रामीणों ने जताया पत्रिका का आभार

Mukesh Yadav | Updated: 14 Jul 2019, 05:33:29 PM (IST) Balaghat, Balaghat, Madhya Pradesh, India

जराहमोहगांव में सड़क निर्माण कार्य प्रांरभ

कटंगी। मुख्यालय से 15 किमी. दूर जराहमोहगांव में 2 साल से अधूरा 1 किमी. का सड़क निर्माण कार्य ग्रामीणों के बगावती तेवर देखने के बाद शुरू कर दिया गया है। पत्रिका ने सबसे पहले 2 जुलाई को '' एक किमी. सड़क का निर्माण दो सालों से अटका पड़ा शीर्षक से खबर का प्रकाशन किया था। इसके बाद ग्रामीणों को संबल मिला। वहीं 08 जुलाई को जब बारिश हुई और अधूरी सड़क के गढ्डों पानी जमा हो गया तो ग्रामीणों ने मलबा डालकर इसे पाटने की कोशिश की ग्रामीणों ने गढ्डों में वाहन लुटकाते हुए प्रकट किया। ग्रामीणों के इस विरोध को भी प्रशासन के सामने लाया गया। जिसके चलते 2 साल से गहरी नींद में सोया लोक निर्माण विभाग जागा और अब निर्माण कार्य प्रांरभ कर चुका है। ग्रामीणों की समस्या को प्रशासन तक पहुंचाने पर ग्रामीणों ने पत्रिका का आभार व्यक्त किया है।
उल्लेखनीय है कि झालीवाड़ा, बासी- अंसेरा जराहमोहगांव मार्ग 148.73 लाख रुपए की लागत से साल 2017 में स्वीकृत हुआ था। जिसे 4 माह में पूर्ण कर लेना था। मगर, विभागीय उदासीनता एवं ठेकेदार की घोर लापरवाही की वजह से निर्माण कार्य अधूरा था। ग्रामीणों ने बताया कि पहले 2 किमी. का काम शेष था ग्रामीणों ने जब लगातार विरोध किया तो 1 किमी. का निर्माण पूर्ण किया गया. पंरतु इसके बाद हाईस्कूल मुख्य मार्ग से जराहमोहगांव की सीमा तक 1 किमी. की सीसी सड़क का निर्माण अधूरा रख दिया गया था। जिससे आवागमन करने में काफी परेशानी हो रही थी। हालाकिं इसके बावजूद लोक निर्माण विभाग निर्माण एंजेसी के खिलाफ कोई कार्रवाई करने को तैयार नहीं था। इस मामले को प्रमुखता से उठाने के बाद विभाग ने ठेकेदार को तलब करते हुए निर्माण कार्य शुरू करवाया है। निर्माण कार्य हाईस्कूल की तरफ से शुरू हो चुका है। जिसका पहले चरण का काम शुरू किया जा चुका है।
इधर, कटंगी से वारासिवनी 30 किमी. का मुख्य सड़क मार्ग की हालत जर्जर होने की वजह से राहगीर जाम-जराहमोहगांव के रास्ते वारासिवनी का सफर कर रह है। जिससे इस मार्ग पर आवागमन का दबाव काफी बढ़ गया है। ऐसे में इस मार्ग के निर्माण की नितांत आवश्यकता थी। मगर, लोक निर्माण विभाग दो सालों से गहरी नींद में सोया हुआ था। बहरहाल, ग्रामीणों द्वारा आंदोलन की चेतावनी देने के बाद विभाग की नींद टूट चुकी है और निर्माण कार्य प्रांरभ भी हो गया है। ग्रामीणों का कहना है कि इस मार्ग का जल्द ही निर्माण कार्य पूर्ण होना चाहिए अन्यथा बारिश में काफी मुसीबतों का सामना करना पड़ सकता है।
पत्रिका का आभार-
हम दो सालों से लगातार परेशान हो रहे थे। जनप्रतिनिधियों एवं अधिकारियों को लगातार शिकायत भी गई। मगर, सिर्फ आश्वासन मिल रहा था। पत्रिका ने हमारी समस्या को समझा इसके लिए धन्यवाद।
हरीलाल मानेश्वर, ग्रामीण

गर्मी, ठंडी के मौसम में धूल के गुबार से परेशानी होती थी। बारिश में कीचड़ से चलना पड़ता था बहुत दिक्कत होती थी। पत्रिका ने हमारी समस्या को प्रशासन के सामने लाया. इसके लिए पत्रिका का बहुत-बहुत आभार व्यक्तकरते हैं।
डॉ ईश्वरी गढ़पांडे, गणमान्य

बरसात के मौसम में हम विद्यार्थियों को बहुत दिक्कत होती थी। साफ-सुथरे कपड़े भी कीचड़ से गंदे हो जाते थे। सड़क का निर्माण शुरू होने से राहत मिली है।
प्रांशु खैरवार, छात्र

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned