मध्यप्रदेश शिक्षक कांग्रेस ने 14 सूत्रीय मांगो को लेकर लगाई गुहार

मध्यप्रदेश शिक्षक कांग्रेस ने 14 सूत्रीय मांगो को लेकर लगाई गुहार

Mahesh Kumar Doune | Updated: 04 Jun 2019, 03:25:01 PM (IST) Balaghat, Balaghat, Madhya Pradesh, India

मध्यप्रदेश शिक्षक कांग्रेस ने 3 जून को अपनी 14 सूत्रीय मांगो को लेकर जिला प्रशासन को ज्ञापन सौंपा।

बालाघाट. मध्यप्रदेश शिक्षक कांग्रेस ने 3 जून को अपनी 14 सूत्रीय मांगो को लेकर जिला प्रशासन को ज्ञापन सौंपा। शिक्षक संघ ने प्रदेश सरकार के आदेश को अनुचित बताया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने शिक्षा विभाग द्वारा बच्चों के परीक्षा परिणाम को आधार मानकर माध्यमिक स्कूलों में कक्षा 6 से 8 तक पढ़ाने वाले शिक्षकों की परीक्षा ली जा रही है। जो कि सिविल सेवा नियम 1961 के प्रतिकुल है और शिक्षकों को अपमानित करने का प्रयास भी है। इस तरह की आयोजित परीक्षाओं को निरस्त करते हुए मांगों का शीघ्र निराकरण किया जाएं।
ये है प्रमुख मांगे
सहायक शिक्षक से शिक्षक व प्रधान अध्यापक एवं प्रधान अध्यापक से व्याख्याता का पदनाम वेतनमान व पात्रता अनुसार दिया जावे। एक शाला एक परिसर के आदेश को निरस्त कर पूर्ववत व्यवस्था रखी जाएं व सातवें वेतनमान की दूसरी किस्त का भुगतान जिन जिलों में नही किया गया है जून माह में किया जावे। अध्यापकों को सातवां वेतनमान व अतिथि शिक्षकों को संविदा शिक्षक पद नियुक्ति दी जाए।
ये रहे शामिल
ज्ञापन सौंपते समय मध्यप्रदेश शिक्षक कांग्रेस के प्रांतीय सचिव सुनील मेश्राम, जिलाध्यक्ष राकेश वर्मा, महामंत्री बीएल चौधरी, उपाध्यक्ष डॉ. शिव त्रिपाठी, नारायणप्रताप सोलंकी, संतोष गनवीर, रमेशदास बंसोड़, आरपी राजुरकर, श्यामलाल पंचेश्वर, नीलकमल गौतम, हेमराज राणा, हेमचंद चौधरी, सूर्यपाल राउत सहित अन्य शामिल रहे।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned