महिला के अंधे हत्याकांड मामले का मुख्य आरोपी गिरफ्तार

प्रेम प्रसंग के चलते की थी हत्या, बडग़ांव जंगल में महिला की हत्या कर शव को जलाने का किया था प्रयास

By: Bhaneshwar sakure

Published: 23 Jan 2021, 09:25 PM IST

बालाघाट/परसवाड़ा. परसवाड़ा थाना क्षेत्र के बडग़ांव जंगल में महिला के अंधे हत्याकांड के दूसरे आरोपी को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार मुख्य आरोपी को बैहर न्यायालय में पेश किया गया। जहां से उसे जेल भेज दिया गया।
जानकारी के अनुसार 11 जनवरी को तहसील परसवाड़ा अंतर्गत बडग़ांव के जामुनझोड़ी जंगल से शिवाजी नगर नई बस्ती गोरखपुर निवासी महिला प्रेम उर्फ मुस्कान पति राजेश विश्वकर्मा (३२) का अधजला शव पुलिस ने बरामद किया था। इस अंधे हत्याकांड को अंजाम देने वाले एक आरोपी कोमल प्रसाद राहंगडाले को पूर्व में ही गिरफ्तार कर धारा 302, 201 ताहि के तहत जेल भिजवा दिया गया था। जबकि इस घटना का मुख्य आरोपी फरार हो गया था, जिसे पुलिस ने शनिवार को गिरफ्तार कर लिया है।
परसवाड़ा एसडीओपी अपूर्व भलावी ने बताया कि मृतक महिला प्रेम विश्वकर्मा के हत्याकांड का मुख्य आरोपी नंदकिशोर ठाकरे जो कि ग्राम रुमाल थाना उगली जिला सिवनी का रहने वाला है, घटना दिनांक के बाद से फरार था। परसवाड़ा टीआई राम सिंह राठौर के नेतृत्व में एक टीम गठित की गई थी और संभावित स्थानों पर लगातार परसवाड़ा पुलिस द्वारा दबिश दी जा रही थी। इस दौरान मुखबिर से सूचना मिली थी कि मुख्य आरोपी नंदकिशोर ठाकरे अपनी मोटरसाइकिल से नगरवाड़ा की तरफ आया है और जल्द ही वह वहां से फरार भी हो सकता है। सूचना के आधार पर परसवाड़ा पुलिस द्वारा उसे मौके पर पहुंचकर गिरफ्तार किया गया। मुख्य आरोपी नंदकिशोर ठाकरे के पास से मृतका का पर्स, जिसमें उसके कपड़े सहित उसका सामान, इसके अलावा 50000 नगद जो मृतिका अपने घर से लेकर आई थी और उसके मंगलसूत्र के साथ ही मृतिका के द्वारा मुख्य आरोपी नंदकिशोर ठाकरे को जो गिफ्ट दिया गया था वह जैकेट भी बरामद किया गया है।
विदित हो कि मृतिका प्रेम उर्फ मुस्कान पति राजेश विश्वकर्मा (३२) का मायका पिपरटोला घंसौर जिला सिवनी का है। वहीं ससुराल नैनपुर के ग्राम हांडिया जिला मंडला का है। शादी के बाद प्रेम विश्वकर्मा अपने पति राजेश के साथ शिवाजी नगर नई बस्ती गोरखपुर जबलपुर में रहती थी। प्रेम का पति राजेश जबलपुर में दूध डेयरी में काम करता था। प्रेम विश्वकर्मा का प्रेम प्रसंग ग्राम रुमाल थाना उगली निवासी नंदू उर्फ नदंकिशोर ठाकरे के साथ शादी के पूर्व से चल रहा था। जब भी प्रेम विश्वकर्मा अपने मायके आती थी, तब वह अपने प्रेमी से अवश्य मिलती थी। प्रेम विश्वकर्मा अपने प्रेमी नंदू पर शादी के लिए दबाव बना रही थी। लेकिन नंदू शादी के लिए तैयार नहीं था। प्रेम विश्वकर्मा द्वारा शादी के लिए लगातार दबाव बनाए जाने के कारण वह काफी परेशान था। जिसके चलते नंदू ने अपने साले रानू उर्फ कोमल प्रसाद पिता आत्माराम राहंगडाले (२४) के साथ प्रेम विश्वकर्मा को रास्ते से हटाए जाने की योजना बनाई। योजनाबद्ध तरीके से दोनों और जीजा ने उसकी हत्या कर दी।

Show More
Bhaneshwar sakure Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned