खसरा का ऑनलाइन नहीं हो पाया अपडेशन

खसरा का ऑनलाइन नहीं हो पाया अपडेशन

Bhaneshwar sakure | Publish: Sep, 09 2018 01:24:18 PM (IST) Balaghat, Madhya Pradesh, India

किसान कर रहे शिकायत, नहीं हो पा रहा निराकरण, धान उपार्जन के लिए पंजीयन कराने परेशान हो रहे किसान

बालाघाट. किसानों का खसरा राजस्व विभाग में ऑनलाइन अपडेट नहीं हो पाया है। जिसके कारण धान उपार्जन के लिए पंजीयन कराने में किसानों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। इधर, प्रशासन द्वारा पंजीयन के लिए 20 सितम्बर तक की ही तिथि नियत की गई है। जिसके कारण किसानों ने राहत की सांस ली है। किसानों को पंजीयन में हो रही परेशानी को देखते हुए अब खसरा की कापी की अनिवार्यता को शिथिल कर दिया गया है। इधर, किसानों ने अनेक बार इस मामले की शिकायत भी की। लेकिन किसी ने इसे गंभीरता से नहीं लिया। जिसके कारण समस्या जस की तस बनी हुई है।
भू-अभिलेख विभाग से मिली जानकारी के अनुसार जिले में 1148528 खसरे और 523868 भू-स्वामी धारक है। इसमें से करीब साढ़े चार लाख खसरा धारक किसान है। इनमें से करीब 80 प्रतिशत किसानों का खसरा ही ऑनलाइन अपडेट हो पाया है। विदित हो कि इसके पूर्व जिले की ११ तहसीलों के 1313 गांवों के 1148528 खसरे और 523868 भू-धारकों को आधार कार्ड से लिंक्ड किए जाने का कार्य किया जा रहा था।
एनआईसी और वेब जीआईएस सॉफ्टवेयर से हो रहा अपडेट
विभाग से मिली जानकारी के अनुसार किसानों के खसरों के ऑनलाइन अपडेशन का कार्य दो अलग-अलग स्थानों से किया जा रहा है। जिसमें एनआईसी और राजस्व विभाग के वेब जीआईएस सॉफ्टवेयर के माध्यम से यह कार्य किया जा रहा है। लेकिन यहां राजस्व विभाग में पदस्थ पटवारियों ने इस सॉफ्टवेयर में कार्य किए जाने से इंकार कर दिया, जिसके कारण यह कार्य पिछड़ गया है। इस सॉफ्टवेयर में एक खसरे के अलग-अलग नंबर को एक्सेप्ट नहीं किए जाने की वजह से पटवारियों ने कार्य नहीं करने की बात कही थी।
जिले में खसरा, भू-स्वामी धारक
तहसील गांव कुल खसरे भू-स्वामी धारक
बैहर 113 54311 29114
बालाघाट 162 146660 86424
कटंगी 63 77823 33068
किरनापुर 148 140291 58074
लांजी 158 136604 56495
वारासिवनी 80 130608 53923
खैरलांजी 84 132557 48485
लालबर्रा 106 125316 53618
तिरोड़ी 74 54930 21596
परसवाड़ा 155 61407 32515
बिरसा 169 87021 50556

इनका कहना है
एनआईसी और राजस्व विभाग के वेब जीआईएस सॉफ्टवेयर के माध्यम से किसानों के खसरा को ऑनलाइन अपडेट किए जाने का कार्य किया जा रहा है। जिले में अभी तक करीब ८० प्रतिशत खसरा ऑनलाइन अपडेट हो चुका है।
-एमएस मार्को, अधीक्षक, भू-अभिलेख, बालाघाट

Ad Block is Banned