कार्यों में बरती लापरवाही तो होगी कार्रवाई

टीएल बैठक में कलेक्टर ने अधिकारियों को दिए निर्देश

By: Bhaneshwar sakure

Updated: 03 Jan 2019, 05:23 PM IST

बालाघाट. कलेक्टर दीपक आर्य की अध्यक्षता में टीएल समय सीमा बैठक का आयोजन मंगलवार को किया गया था। बैठक में कलेक्टर ने अधिकारियों को महत्वपूर्ण दिशा निर्देश दिए। बैठक में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी जगदीश गोमे, सभी एसडीएम, तहसीलदार, जनपद पंचायतों के मुख्य कार्यपालन अधिकारी और सभी विभागों के अधिकारी मौजूद थे।
कलेक्टर आर्य ने बैठक में अधिकारियों से कहा कि वे अपना कार्य पूरी जिम्मेदारी के साथ करें। विकास कार्यों को लेकर किसी तरह की लापरवाही नहीं होना चाहिए। निर्माण कार्यों एवं विकास कार्यों को लेकर अंतर विभागीय समन्वय अच्छा होना चाहिए। जहां कहीं पर भी विकास कार्यों में व्यवधान आए तो यह उनके संज्ञान में लाया जाए। निर्माण विभागों को भी चाहिए कि वे कार्ययोजना बनाते समय इस बात का ध्यान रखें कि वन विभाग या अन्य विभाग की उसमें आपत्ति नहीं आना चाहिए। कलेक्टर ने बैठक में नगरीय क्षेत्रों में अतिक्रमण हटाने के अभियान की चर्चा करते हुए कहा कि यह अभियान रूकेगा नहीं। इस अभियान को पूरी तत्परता के साथ अंजाम तक पहुंचाना है और जिले के नगरीय क्षेत्रों को सुंदर और आकर्षक बनाना है। उन्होंने बैठक में सभी विभागों के अधिकारियों को निर्देशित किया कि वे अपने कार्यालय परिसर को सुंदर एवं आकर्षक बनाने के लिए सात दिनों के भीतर कार्यवाही करें। कार्यालय प्रमुख की जिम्मेदारी होगी कि वे शासकीय कार्यालयों के परिसर में अनावश्यक झाडिय़ां नहीं रहने दें। कार्यालय परिसर के आसपास की झाडिय़ां काटकर बाउंड्रीवाल की रंगाई-पुताई कर आकर्षक स्वरूप प्रदान करने के निर्देश दिए।
कलेक्टर ने लोक निर्माण विभाग परियोजना क्रियान्वयन ईकाई के कार्यपालन यंत्री को निर्देशित किया कि वे कटंगी तहसील के ग्राम खैरलांजी और वारासिवनी तहसील के ग्राम झाडग़ांव में हाईस्कूल भवन का निर्माण कार्य शीघ्र प्रारंभ करें। प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के महाप्रबंधक महोबे ने बताया कि उनके संभाग को 16 नई सड़के स्वीकृत की गई है। लेकिन इन सड़कों के लिए वन विभाग से अनापत्ति नहीं मिलने के कारण इनका कार्य प्रारंभ नहीं हो पा रहा है। यह सभी सड़के बैहर क्षेत्र की है। इस पर कलेक्टर ने वन विभाग मंडला के अधिकारियों के साथ शीघ्र समन्वय बैठक आयोजित करने के निर्देश दिए है। कलेक्टर ने सड़क विकास प्राधिकरण के अधिकारी को निर्देशित किया कि बालाघाट से बैहर रोड पर कुछ स्थानों पर रैलिंग टूटी हुई है, इसे शीघ्र दुरूस्त किया जाए। उन्होंने बालाघाट-बैहर मार्ग पर बन गए गड्ढो को भी सुधारने के निर्देश दिए। लोक निर्माण विभाग के कार्यपालन यंत्री को निर्देशित किया गया कि बालाघाट-गोंदिया सड़क पर रजेगांव के पास बनाए गए टोल बेरियर को शीघ्र हटाकर वहां पर सड़क को समतल कर डामरीकरण करें। बालाघाट-गोंदिया मार्ग पर टोल बेरियर बंद हो जाने से अब उसका उपयोग नहीं रह गया है, लेकिन बेरियर के लिए किए गए निर्माण से दुर्घटना की आशंका बनी रहती है।
कलेक्टर ने बैठक में अधिकारियों से दो टूक शब्दों में कहा कि कोई भी अधिकारी उनकी अनुमति के बगैर मुख्यालय से बाहर नहीं जाएगा। बिना अनुमति के अवकाश एवं मुख्यालय से बाहर जाने पर कार्रवाई की जायेगी। बैठक में जिला पेंशन अधिकारी को निर्देशित किया गया कि वे सेवानिवृत्त शासकीय सेवकों के पेंशन प्रकरणों का त्वरित निराकरण करें। कोई भी पेंशन प्रकरण जो न्यायालय में लंबित नहीं है, उसका निराकरण पेंशन कार्यालय में लंबित नहीं रहना चाहिए। बैठक में सभी अधिकारियों को निर्देशित किया गया कि सीएम हेल्पलाइन के प्रकरणों को तत्परता के साथ निराकरण करें। सीएम हेल्पलाइन के प्रकरण लंबित नहीं रहना चाहिए।

Bhaneshwar sakure Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned