न तो तालाब बना न किसानों को मिला फसल बीमा का लाभ

भाजपा-कांग्रेस की सबसे बड़ी जीत वाले बूथों की ग्राउंड रिपोर्ट

बालाघाट. विधानसभा चुनाव 2013 में बालाघाट विधानसभा क्षेत्र के बूथ क्रमांक 130 पर भाजपा तो 204 पर कांग्रेस को एकतरफा वोट मिले थे, लेकिन वोटरों ने जिन वादों पर भरोसा करके वोटिंग की थी, वे आज भी अधूरे हैं। भाजपा विधायक ने जिस बूथ पर उम्मीद से ज्यादा वोट मिले उस पर ध्यान नहीं दिया। अब एक बार फिर से वोटरों के सामने अपना नेता चुनने का मौका है। इस बार प्रत्याशियों के लिए काम के आधार पर, नहीं बल्कि क्षेत्र में बनने वाले नए समीकरणों से वोटिंग की उम्मीद है।
भाजपा
पांच वर्ष में भी नहीं बदले हालात
विधानसभा क्षेत्र बालाघाट, जिला बालाघाट
बूथ क्रमांक 130
मतदान केन्द्र प्रा.शाला भवन ग्राम मरेरा
भाजपा को मिले वोट-821
कुल पड़े वोट 1136
इ स बूथ पर वैसे तो सर्वाधिक मत भाजपा प्रत्याशी और वर्तमान केबिनेट मंत्री गौरीशंकर बिसेन को मिले है। लेकिन विडम्बना यह है कि माननीय ने पांच वर्ष में केवल एक बार ही इस बूथ की सुध ली। जिसके कारण यहां समस्या जस की तस बनी हुई है। बालाघाट विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत जनपद पंचायत लालबर्रा के ग्राम पंचायत बहियाटिकुर के अंतर्गत शासकीय प्राथमिक शाला भवन मरेरा का बूथ आता है। मरेरा के अंतर्गत दो टोला आते हैं। इन दोनों टोलों में 6 वार्ड हैं। यहां मौजूदा समय में जनसंख्या 950 और 600 मतदाता है। जबकि पहले यहां की आबादी और मतदाताओं की संख्या अधिक थी। लेकिन यहां पांच वर्ष में काफी बदलाव आ गया है। 2013 में इस बूथ पर भाजपा उम्मीदवार गौरीशंकर बिसेन को सर्वाधिक 821 वोट मिले थे। वहीं कांग्रेस उम्मीदवार को केवल 25 मत ही मिले थे।
सिंचाई सबसे बड़ा मुद्दा
स्थानीय निवासी रोशन लाल टेंभरे, हरीचंद बागड़े, वैतराम गजाने, जगलाल धुर्वे, डोलीराम पटले का कहना है कि यहां सिंचाई नहीं होना सबसे बड़ी समस्या है। पानी की कमी से धान का उत्पादन नहीं हो पाता है। पिछले वर्ष के फसल बीमा का लाभ नहीं मिल पाया है। पेयजल की समस्या बनी हुई है। नल-जल योजना से कभी-कभार ही पानी आता है। बिजली की समस्या भी बरकरार है। उपस्वास्थ्य केन्द्र नहीं होने से स्वास्थ्य सुविधाओं का लाभ नहीं मिल पा रहा है।
कांग्रेस
पांच साल: समस्याएं जस की तस
इ स बूथ पर काली पुतली चौक से लेकर रामगली रोड पर त्रिलोकचंद कोचर के निवास स्थान तक और इसके पीछे एमएलबी स्कूल तक का क्षेत्र आता है। यहां पर आधे से अधिक क्षेत्र में व्यापारी और स्थानीय निवासी आते हैं। इनमें अलग-अलग वर्गों के वोटर हैं। भले ही इस वार्ड से नगर पालिका परिषद के चुनाव में भाजपा प्रत्याशी संतोष जायसवाल निर्विरोध पार्षद के रुप में निर्वाचित हुए है। लेकिन यहां भाजपा के गौरीशंकर बिसेन को ही कम मत मिले है। यहां पर सर्वाधिक मत सपा प्रत्याशी और पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष अनुभा मुंजारे को 354 वोट मिले है। जबकि कांग्रेस को पूरे विस क्षेत्र में से इस बूथ पर 213 मत मिले है। 2013 के चुनाव में इस सीट पर भाजपा और सपा प्रत्याशी के बीच मुकाबला था। लेकिन अब होने वाले चुनाव से पहले यहां के समीकरण बदल गए है। यहां पर साइलेंट मतदाताओं का रुख अभी स्पष्ट नहीं हो पाया है।
जल निकासी की समस्या
इस वार्ड में जल निकासी की प्रमुख समस्या है। यहां पर नालियों का निर्माण तो हुआ है, लेकिन साफ-सफाई, नालियों के क्षतिग्रस्त होने की वजह से पानी की निकासी नहीं हो पा रही है। पार्षद संतोष जायसवाल का कहना है कि जल निकासी के लिए नालियों का निर्माण करवाया है। तीन हजार की आबादी वाले इस वार्ड के पात्र हितग्राहियों को आवास योजना का लाभ भी दिलाया गया है। यहां भाजपा विधायक की सक्रियता लगातार बनी हुई है।
बूथ क्रमांक 204
मतदान केन्द नवीन माशा. का मध्य भाग बालाघाट
2013 में कांग्रेस को मिले वोट 213
कुल पड़े वोट 693

Bhaneshwar sakure
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned