रक्तदान कर अनेक लोगों को दिया नया जीवन

Bhaneshwar sakure

Publish: Jun, 14 2018 01:18:58 PM (IST)

Balaghat, Madhya Pradesh, India
रक्तदान कर अनेक लोगों को दिया नया जीवन

रक्तदान के लिए प्रेरित करने पर महाराष्ट्र राज्य सरकार ने भी किया सम्मानित

बालाघाट. रक्तदान कर न केवल दूसरों को नया जीवन दिया है। बल्कि इसके लिए लोगों को भी प्रेरित किया है। रक्तदान की प्रेरणा का कार्य ऐसा कि उन्हें महाराष्ट्र राज्य सरकार ने भंडारा में आयोजित एक समारोह में रक्तदूत के नाम से सम्मानित किया है। हम बात कर रहे हैं युवा समाजसेवी और रक्तदान के लिए दूसरों को प्रेरित करने वाले सौरभ लोधी की।
युवा समाजसेवी सौरभ लोधी के अनुसार वे तहसील कार्यालय खैरलांजी में दैनिक वेतन भोगी कर्मचारी के रुप में अपनी सेवाएं देते हैं। मूलत: बालाघाट नगर के निवासी सौरभ लोधी रोजाना अपने कार्य से तहसील कार्यालय खैरलांजी अप-डाउन करते है। इसी दौरान उन्हे कटंगी क्षेत्र के दो वर्ष पूर्व एक गरीब परिवार की जानकारी मिली, जिसमें परिवार के चार सदस्य सिकलिन बीमारी से पीडि़त थे। जो कटंगी मुख्यालय में ही अपना उपचार कराते थे। लेकिन कटंगी अस्पताल में रक्त की व्यवस्था नहीं होने के चलते वह अपने बच्चे का उपचार करने के लिए जिला चिकित्सालय ला रहे थे। इसी दौरान रास्ते में ही पुत्र ने अपने पिता की गोद में दम तोड़ दिया। इस घटना ने उन्हें काफी झकझोंर दिया। इस घटना के बाद से ही उन्होंने रक्त को संग्रहित करने के लिए लोगों को रक्तदान करने प्रेरित करने का कार्य शुरू किया। जो अभी तक जारी है।
सौरभ लोधी बताते है वे पिछले चार वर्षों से इस कार्य में लगातार लगे हुए हैं। प्रारंभिक दिनों में वे इसे ज्यादा महत्व नहीं देते थे। लेकिन दो वर्ष पूर्व हुई एक घटना के बाद से उन्होंने लोगों को रक्तदान के लिए प्रेरित करने का कार्य किया। प्रतिवर्ष शादी की सालगिरह और जन्मदिन के अवसर पर भी रक्तदान करते है। उन्होंने बताया कि उनके इसी रक्तदान कार्यक्रम के चलते वर्ष २०१७ में महाराष्ट्र राज्य सरकार द्वारा भंडारा जिले में आयोजित कार्यक्रम में सम्मानित किया गया। इसके अलावा जिला प्रशासन, पुलिस और सामाजिक संगठनों द्वारा भी उन्हें सम्मानित किया गया है।
करीब 15 सौ लोगों ने किया रक्तदान
युवा समाजसेवी सौरभ लिल्हारे की प्ररेणा से अभी तक करीब 15 सौ लोगों ने रक्तदान कर चुके हैं। इन्हीं की प्रेरणा से खैरलांजी, कटंगी, तिरोड़ी, बोनकट्टा, महकेपार, रजेगांव, किरनापुर, भानेगांव, बालाघाट, परसवाड़ा, बैहर में भी रक्तदान शिविर का आयोजन हुआ है। खासतौर पर भाउ परिवार, पठार संघर्ष समिति, अपना परिवार और युवा शक्ति बालाघाट द्वारा इनकी प्रेरणा से शिविर का आयोजन कर लोगों को रक्तदान के लिए प्रेरित करते हैं। समाजसेवी सौरभ लिल्हारे का कहना है कि उनके द्वारा गठित किए गए भाउ परिवार की प्रेरणा से इंदौर, सिवनी, लखनादौन, नरसिंहपुर, गोंदिया, मंडला जिले में भी युवाओं द्वारा रक्तदान शिविर का आयोजन किया जा रहा है। उनका कहना है कि रक्तदान का यह सिलसिला आगे भी जारी रहेगा।
जिला चिकित्सालय में संग्रहित रक्त की स्थिति
स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार जिला चिकित्सालय में ० से 35 दिनों तक अधिकत्तम 300 यूनिट और न्यूनतम200 यूनिट रक्त संग्रह करने की व्यवस्था है। जिला चिकित्सालय में रोजाना 25 से 30 लोग रक्तदान करने के लिए स्वेच्छा से आते हैं। जबकि20 से 25लोगों को रक्त की आवश्यकता होती है। सबसे ज्यादा ओ पाजीटिव रक्त की आवश्यकता मरीजों को होती है। जिला चिकित्सालय में एबी पाजीटिव या नेगेटिव रक्त की अमूमन रोजाना कमी होती है। वर्ष 2018 में जनवरी माह से लेकर अभी तक 23 सौ यूनिट रक्त संग्रहित किया जा चुका है। मौजूदा समय में जिला चिकित्सालय में एबी पाजीटिव एक यूनिट और ओ पाजीटिव 15 यूनिट रक्त ही मौजूद है।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Ad Block is Banned