scriptNo degree nearby, claim of better treatment by sitting on the pavement | पास में डिग्री नहीं, फुटपाथ पर बैठकर बेहतर उपचार का दावा | Patrika News

पास में डिग्री नहीं, फुटपाथ पर बैठकर बेहतर उपचार का दावा

अस्पताल में डॉक्टरों की कमी, बैगा, गुनिया, झोलाछाप चिकित्सक कर रहे उपचार
वर्षों से रिक्त पड़े हैं स्वास्थ्य केन्द्रों में डॉक्टरों के पद
आदिवासी अंचलों में नहीं मिल पा रहा स्वास्थ्य सुविधा का लाभ

बालाघाट

Published: May 15, 2022 09:23:25 pm

बालाघाट. पास में डिग्री नहीं है लेकिन आयुर्वेद से बेहतर उपचार का दावा किया जाता है। ये ऐसे आयुर्वेद चिकित्सक होते हैं, जो सड़क किनारे बैठकर अपना दवाखाना संचालित करते हैं। ऐसे नीम हकीमों के पास हर मर्ज की दवा होती है। इधर, जिले के शासकीय चिकित्सालयों में न तो पर्याप्त संख्या में डॉक्टर है और न ही ग्रामीणों को स्वास्थ्य सुविधाओं का लाभ मिल पा रहा है। सर्वाधिक खराब स्थिति जिले के आदिवासी बाहुल्य क्षेत्र परसवाड़ा, बैहर, बिरसा, लांजी, किरनापुर की है। दरअसल, ये क्षेत्र दूरस्थ अंचलों में बसे हुए हैं। इन क्षेत्रों में आवागमन के साधन नगण्य है। समय पर डॉक्टर नहीं मिलते हैं, जिसके चलते ग्रामीणों को झोला छाप डॉक्टर या फिर नीम हकीमों से उपचार कराना पड़ता है। आदिवासी अंचल में आज भी बैगा, आदिवासी समाज के लोग बीमार होने पर झोला छाप डॉक्टरों या फिर जड़ी-बूटी से अपना उपचार कराते हैं। शासन-प्रशासन बेहतर स्वास्थ्य सुविधा के लाख दावें कर ले लेकिन ग्रामीण अंचलों की लचर व्यवस्था इसकी पोल खोलती है।
जानकारी के अनुसार जिले में दो दर्जन से अधिक प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों में द्वितीय श्रेणी के डॉक्टरों के पद वर्षों से रिक्त पड़े हुए हैं। इतना ही नहीं सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों में भी डॉक्टरों की कमी बनी हुई है। जिसके चलते ग्रामीणों को समय पर स्वास्थ्य सेवाओं का लाभ नहीं मिल पा रहा है। जिला चिकित्सालय की भी ऐसी ही स्थिति बनी हुई है। विभाग से मिली जानकारी के अनुसार इन प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों में द्वितीय श्रेणी चिकित्सक के पद तो रिक्त है, लेकिन वहां डॉक्टर की पदस्थापना नहीं हो पाई है।
घर पहुंच सेवा देते हैं झोला छाप डॉक्टर
ग्रामीण अंचलों में झोलाछाप डॉक्टर घर पहुंच सेवा देते हैं। इनके पास न तो कोई डिग्री होती है और न ही उन्हें शासन या स्वास्थ्य विभाग से कोई मान्यता होती है। बल्कि ये झोलाछाप डॉक्टर किसी निजी नर्सिंग होम में कुछ दिनों तक प्रेक्टिस कर डॉक्टर बन जाते हैं। बाद में गांवों में क्लीनिक खोलकर उपचार करना शुरू कर देते हैं। इनका नेटवर्क भी काफी तेज होता है। डॉक्टरों की कमी के चलते ये झोलाछाप डॉक्टर घर पहुंचकर ग्रामीणों का उपचार करते हैं।
जड़ी-बूटी से भी करते हैं उपचार
आदिवासी अंचल में आज भी जड़ी-बूटी से उपचार किया जाता है। ऐसे जड़ी-बूटी से उपचार करने वालों के पास सभी मर्ज की दवाएं होती है। आदिवासी, बैगा या नासमझ लोग इनके बहकावे में आसानी से आ जाते हैं। चंद रुपयों के खातिर ऐसे आयुर्वेद के डॉक्टर ग्रामीणों के जीवन से खिलवाड़ करते हैं।
इन स्वास्थ्य केन्द्रों में है रिक्त पद
सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र बैहर में प्रथम श्रेणी डॉक्टर सर्जिकल विशेषज्ञ, शिशु रोग विशेषज्ञ, स्त्री रोग विशेषज्ञ, निश्चेतना विशेषज्ञ, द्वितीय श्रेणी डॉक्टर आयुष चिकित्सक, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र परसवाड़ा, बिरसा, लांजी, कटंगी, किरनापुर, खैरलांजी, रामपायली, लालबर्रा, में मेडिसीन, गायनिक, सर्जरी, चिकित्सा अधिकारी के पद रिक्त है। इसी तरह प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र उकवा, मझगांव, चिखलाझोड़ी, सोनगुड्डा, मानेगांव, मंडई, सालेटेकरी, भानेगांव, रिसेवाड़ा, कारंजा, गोरेघाट, महकेपार, तिरोड़ी, सिरपुर, महदूली, माटे, रजेगांव, सालेटेका, मिरगपुर, कटंगझरी, जाम, मोहगांव, हट्टा, चरेगांव में द्वितीय श्रेणी के डॉक्टरों के पद रिक्त पड़े हुए है।
पास में डिग्री नहीं, फुटपाथ पर बैठकर बेहतर उपचार का दावा
पास में डिग्री नहीं, फुटपाथ पर बैठकर बेहतर उपचार का दावा

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

सुशील कुमार मोदी का नीतीश सरकार पर हमला, कहा - 'लालू के दामाद और कार्यकर्ता चला रहे सरकार, नीतीश लाचार'ड‍िप्‍टी सीएम मनीष स‍िसोद‍िया के यहां CBI की रेड के बाद LG का बड़ा आदेश, 12 IAS अफसरों का ट्रांसफरमनीष सिसोदिया के घर समेत 31 जगहों पर रेड, 17 अगस्त को ही दर्ज हुई थी FIR, CBI ने जारी की पूरी डीटेलउपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के आवास पर CBI की छापेमारी के बाद आम आदमी पार्टी ने किया ऐलान - '2024 में मोदी Vs केजरीवाल'Kerala News: मुस्लिम लीग के महासचिव का विवादित बयान, बोले- 'लड़के-लड़कियों का स्कूल में साथ बैठना खतरनाक'CBI Raids Manish Sisodia House Live Updates: बीजेपी की बौखलाहट ने देश को ये संदेश दिया है कि 2024 का चुनाव AAP v/s BJP होगा- संजय सिंहबंगाल, महाराष्ट्र में भी ED के छापे, उनके सामने तो मैं तिनका हूँ, 'सांसद अफजाल अंसारी ने दी चुनौती- पूर्वांचल हमारा ही रहेगा'Mumbai News: दही हांड़ी फोड़ने पर 55 लाख से लेकर स्पेन जाने सहित मिल रहे हैं ये खास ऑफर; पढ़े पूरी खबर
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.