वैनगंगा नदी में डूबने से दो तो तालाब में डूबने से एक बच्ची की मौत

Bhaneshwar sakure

Publish: Sep, 17 2017 09:01:46 (IST)

Balaghat, Madhya Pradesh, India
वैनगंगा नदी में डूबने से दो तो तालाब में डूबने से एक बच्ची की मौत

रविवार को दो अलग-अलग घटना में तीन बच्चों की मौत हो गई

बालाघाट/रामपायली. रविवार को दो अलग-अलग घटना में तीन बच्चों की मौत हो गई। रामपायली थाना क्षेत्र के ग्राम चीचगांव के वैनगंगा नदी घाट में डूबने से दो नाबालिग बच्चों की मौत हो गई। वहीं दूसरी घटना में लामता थाना क्षेत्र के ग्राम कोचेवाड़ा में तालाब में डूबने से एक बच्ची की मौत हो गई। इधर, रामपायली पुलिस ने वैनगंगा नदी में डूबे दोनों युवकों में से एक का शव रेस्क्यू ऑपरेशन कर निकाल लिया। जबकि दूसरे के लिए सोमवार को खोजबीन की जाएगी। वहीं कोचेवाड़ा में हुई घटना में बालिका का शव निकाल लिया गया है।
रामपायली थाना क्षेत्र के चीचगांव निवासी है दोनों बालक
जानकारी के अनुसार रामपायली थाना क्षेत्र के चीचगांव निवासी रुद्रकांत पिता प्रकाश पंचेश्वर (१३) और आलोक पिता सतीश (१०) रविवार की सुबह अपने घर से मवेशी चराने और धोने के लिए वैनगंगा नदी की ओर सुबह करीब ८ बजे गए थे। यहां मवेशियों को धोने के बाद दोनों बच्चे नदी में नहाने लगे। नहाने के दौरान दोनों बालक तैरते हुए नदी पार कर गए थे। लेकिन वे लौटे नहीं। इन बच्चों को नदी में नहाते हुए कुछेक ग्रामीणों ने देख लिया था। इन बच्चों के घर नहीं लौटने और मवेशियों के घर पहुंचने पर परिजनों को शक हुआ। उन्होंने तत्काल सुबह करीब ११ बजे इसकी सूचना पुलिस और ग्रामीणों को दी। सूचना मिलने पर पुलिस सुबह करीब ११.३० बजे मौके पहुंची और रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू किया। यह रेस्क्यू ऑपरेशन करीब ६.३० घंटे तक चलते रहा। विदित हो कि रुद्रकांत कक्षा ९वीं का छात्र है। जबकि आलोक कक्षा ६वीं का छात्र था। बताया गया है कि आलोक अपने माता-पिता की इकलौती संतान था।
बाघ नदी के पुल के पास मिला शव
पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार करीब ६.३० घंटे रेस्क्यू ऑपरेशन किया गया। इसी दौरान सतोना की ओर बाघ नदी के पुल के पास घटना स्थल से दो किमी दूर एक युवक रुद्रकांत का शव मिला। जबकि आलोक के शव की तलाश की गई। लेकिन देर शाम तक शव नहीं मिल पाया। रामपायली थाना प्रभारी विजय सिंह सिसोदिया के अनुसार सोमवार को फिर से रेस्क्यू ऑपरेशन किया जाएगा।
कपड़े धोने के लिए तालाब गई थी बच्ची
जानकारी के अनुसार लामता थाना क्षेत्र के ग्राम कोचेवाड़ा निवासी पूनम पिता भोजराम कंसरे (१५) अपनी सहेली दिव्या वाडि़वा, मनीषा तिलासे के साथ गांव के बाहर स्थित तालाब कपड़ा धोने के लिए गई थी। इन बच्चियों के साथ एक महिला भी मौजूद थी। कपड़ा धोने के दौरान पूनम का पैर फिसल गया। जिसके कारण वह तालाब के गहरे पानी में चले गई। मौके पर मौजूद उसकी सहेलियों ने इस घटना की सूचना परिजनों और अन्य लोगों को दी। सूचना मिलने पर परिजन व ग्रामीण मौके पर पहुंचे। जहां ग्रामीणों ने पूनम का शव को बाहर निकाला। लेकिन जब तक पूनम की मौत हो चुकी थी। इधर, घटना की सूचना लामता पुलिस को भी दी गई। सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची। पंचनामा कार्रवाई की। मर्ग कायम कर मामले को जांच में लिया।
रेस्क्यू ऑपरेशन कर निकाला शव
दोनों बच्चों का शव निकालने के लिए करीब ६.३० घंटे रेस्क्यू ऑपरेशन चला। एक बच्चे का शव मिल गया है। जबकि दूसरे के लिए सोमवार को पुन: ऑपरेशन किया जाएगा।
-विजय सिंह सिसोदिया, नगर निरीक्षक, रामपायली

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned