स्वाइन फ्लू से एक की मौत, दहशत में नगरवासी

नगरपालिका परिषद वारासिवनी के पूर्व पार्षद हितेश गजभिए की स्वाइन फ्लू से मौत के बाद नगर में दहशत का माहौल बन गया है।

By: Bhaneshwar sakure

Published: 18 Aug 2017, 08:53 PM IST

बालाघाट/वारासिवनी.. नगरपालिका परिषद वारासिवनी के पूर्व पार्षद हितेश गजभिए की स्वाइन फ्लू से मौत के बाद नगर में दहशत का माहौल बन गया है। इधर, स्वास्थ्य विभाग ने वार्ड में शिविर लगाकर न केवल वार्डवासियों की जांच की। बल्कि पूरे नगरवासियों को सावधानी बरतने की अपील भी की। वहीं दूसरी ओर नगर पालिका सीएमओ ने भी वार्ड क्रमांक ९ का भ्रमण कर वहां की स्थिति देखी। साफ-सफाई सहित अन्य कार्य करने के निर्देश नपा अमले को दिए।
दस दिन पूर्व हुआ था स्वास्थ्य खराब
जानकारी के अनुसार कुछ दिनों पूर्व हितेश गजभिए का स्वास्थ्य खराब हुआ था। स्थानीय चिकित्सक से उसका उपचार कराया गया। इसके बाद बालाघाट अस्पताल में भी उसका उपचार कराया गया। लेकिन यहां के डॉक्टरों ने स्वाइन फ्लू की संभावना को देखते हुए उसे नागपुर रेफर कर दिया था। पूर्व पार्षद हितेश गजभिए सर्दी, खांसी, बुखार के साथ सांस लेने की तकलीफ से परेशान था। नागपुर के एक अस्पताल में उपाचार के दौरान उसकी मौत ने सभी नगरवासियों को झकझोंर दिया। इधर, पूर्व पार्षद को स्वाइन फ्लू होने की पुष्टि होने के बाद नगर पालिका परिषद ने सतर्कता बरतना शुरू कर दिया। नपा की ओर से गुरुवार और शुक्रवार को शहर के वार्डों का निरीक्षण किया गया। सूकर और  पालने वाले लोगों को हिदायत देकर उन्हें दूर करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। नपा सीएमओ अजय ठाकरे के नेतृत्व में नपा टीम ने वार्ड नं 09 का निरीक्षण कर नालियों में पाउडर और दवाईयां छिड़काव किया। दरअसल, इस वार्ड में सर्वाधिक सूकर पालन किया जाता है। जिसके कारण स्वाइन फ्लू जैसी बीमारी फैलने का बना हुआ है।
मदद के लिए बढ़े हाथ
पूर्व हितेश गजभिए को स्वाइन फ्लू की पुष्टि होने और आर्थिक स्थिति कमजोर होने पर उसकी मदद के लिए लोगों के हाथ स्वमेय ही बढऩे लगे थे। सोशल मीडिया के माध्यम से लोगों ने पूर्व पार्षद को उपचार में लगने वाली राशि के लिए सहयोग प्रदान किया। डॉ. नीरज अरोरा, आलोक खरे, अभिषेक सुराना, राहुल अरोरा, गुड्डू सोनी ने इसकी पहल की थी। इस पहल के बाद करीब एक लाख रुपए की सहयोग राशि एकत्रित कर ली गई थी। वहीं नपा अध्यक्ष विवेक पटेल के साथ नपा अमले ने गुरुवार की शाम को ही सत्तर हजार रुपए नागपुर भेज दिए थे। लेकिन सहयोग राशि ने भी हितेश की जान नहीं बचा पाई।
वार्ड क्रमांक ९ में लगाया शिविर
इधर, स्वास्थ्य अमले ने वार्ड क्रमांक ९ में शिविर भी लगाया। करीब आधा सैकड़ा लोगों की जांच की गई। हालांकि, किसी भी वार्डवासी में स्वाइन फ्लू जैसे लक्षण नहीं पाए गए। बावजूद इसके सभी वार्डवासियों को सचेत रहने की सलाह दी गई।
सावधानी बरतने की दी सलाह
वार्ड क्रमांक ९ में चिकित्सा शिविर लगाया गया है। लगभग ५० लोगों के स्वास्थ्य की जांच की गई है। नागरिकों को विशेष सावधानी बरतने की सलाह दी गई है।
-डॉ मनोज पांडे, बीएमओ, वारासिवनी
स्वच्छता बनाए रखने की अपील
नगर को साफ-सुथरा रखने के निर्देश नपा अमले को दिए गए हैं। सूकर पालकों को भी हिदायत देकर उन्हें बाहर करने का कार्य किया जा रहा है। नगरवासियों से भी स्वच्छता बनाए रखने की अपील की गई है।
-विवेक पटेल, नपा अध्यक्ष, वारासिवनी

Bhaneshwar sakure Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned