जनता की समस्याओं का हल निकालना हमारी नैतिक जिम्मेदारी-

हट्टा में लगा आपकी सरकार आपके द्वार शिविर

By: mukesh yadav

Published: 06 Mar 2020, 08:13 PM IST

बालाघाट. मप्र में 15 सालों के बाद सत्ता का परिवर्तन हुआ है और इसका असर जनता में दिखाई दे रहा है। आम जनता की समस्याओं के निराकरण के लिए प्रदेश सरकार ने आपकी सरकार आपके द्वार योजना लागू कर गांवों में समाधान शिविर लगाना प्रारंभ किया है। इसके माध्यम से आम जनता की समस्याओं को सुना जा रहा है और उनका समाधान भी किया जा रहा है। जनप्रतिनिधि एवं सरकार का काम आम जन के हित की योजनाएं बनाना और उनका क्रियान्वयन करना है। जनता कोई समस्या बताए तो उसका समाधान करना हमारी नैतिक जिम्मेदारी है। यह बातें मप्र विधानसभा की उपाध्यक्ष हिना कावरे ने शुक्रवार को हट्टा में आपकी सरकार आपके द्वार योजना में आयोजित शिविर में उपस्थित ग्रामीणों को संबोधित करते हुए कही।
शिविर में जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक के प्रशासक उदय सिंह नगपुरे, कलेक्टर दीपक आर्य, एसपी अभिषेक तिवारी, जिपं सीईओ रजनी सिंह, लांजी एसडीएम अंशुल गुप्ता, अवर सचिव मुकेश जोशी, नवीन चौधरी, विकास हजारी, सरपंच डिलन पिछोड़े, सभी विभागों के अधिकारी एवं ग्रामीण जन उपस्थित थे।
१४० प्रकरण हुए प्राप्त
जिपं सीईओ रजनी सिंह ने इस अवसर पर बताया कि हट्टा शिविर में कुल 140 आवेदन प्राप्त हुए हंै। इनमें से 40 आवेदन का मौके पर ही निराकरण कर दिया गया है। शेष 100 आवेदनों के निराकरण के लिए समय सीमा में तय कर दी जाएगी।
शिविर में पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ आरएस नगपुरे ने ग्रामीणों को पशुपालन संबंधी योजनाओं की जानकारी दी और बताया कि वे कोरोना वायरस से डरे नहीं और मांस खाना बंद न करें। उन्होंने कहा कि मांस, मछली, अंडा जरूर खाए, लेकिन स्वच्छता के साथ उसे अच्छी तरह से पकाकर ही खाए। सहायक मत्स्य अधिकारी पूजा रोडगे ने ग्रामीणों को मत्स्य पालन संबंधी योजनाओं की जानकारी दी। महिला एवं बाल विकास अधिकारी शैलेन्द्र चौकसे ने लाडली लक्ष्मी योजना एवं प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के बारे में जानकारी दी। जिला श्रम प्रदाधिकारी पीएल पिछोड़े ने श्रम विभाग की योजनाओं के बारे में जानकारी दी।
शिविर में सभी विभागों द्वारा विभागीय योजनाओं की जानकारी देने के लिए अलग-अलग स्टाल लगाए गए थे। शिविर में आयुष विभाग द्वारा 200 से अधिक मरीजों की जांच कर निशुल्क दवाए दी गई। स्वास्थ्य विभाग द्वारा लगाए गए स्टाल पर 100 से अधिक मरीजों का एलोपैथी पद्धति से उपचार कर दवाए दी गई।

mukesh yadav Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned