वनग्रामों के किसानों से नहीं हो रही धान की खरीदी

Bhaneshwar Sakure

Updated: 19 Jan 2020, 08:01:19 PM (IST)

Balaghat, Balaghat, Madhya Pradesh, India

बालाघाट. गढ़ी क्षेत्र के आदिवासी अंचल के वन ग्रामों में निवासरत किसानों से समर्थन मूल्य पर धान की खरीदी नहीं की जा रही है। जिसके कारण किसानों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। विडम्बना यह है कि वन ग्रामों के किसानों को समितियों के माध्यम से कर्जा भी दिया गया है। लेकिन उनकी धान समर्थन मूल्य पर नहीं खरीदी जा रही है।
वनग्राम जैतपुरी के किसान सुन्हेर सिंह, धीरी निवासी संतकुमार उयके, मोहरई निवासी चैतराम, खिरसाड़ी निवासी करन सिंह धुर्वे सहित समरिया, पटुआ, छतरपुर, जामी, कटंगी व अन्य गांवों किसानों ने बताया कि उनकी धान समर्थन मूल्य पर नहीं खरीदी जा रही है जिसके कारण मजबूरी में वे औने-पौने दाम पर अपनी उपज बेचने के लिए मजबूर है। किसानों ने बताया कि जब उन्हें समितियों के माध्यम से ऋण दिया जा रहा है तो उनकी उपज को क्यों नहीं खरीदा जा रहा है। इस मामले में सहायक प्रबंधक गढ़ी ओपी बिसेन ने बताया कि इस समिति के अंतर्गत आने वाले सभी वन ग्रामों का पंजीयन तो किया गया है। लेकिन पोर्टल पर जानकारी उपलब्ध नहीं होने की वजह से वन ग्राम के किसानों की धान को नहीं खरीदा जा रहा है।
इधर, मौसम खराबी के चलते सोसायटियों में धान खरीदी का कार्य भी प्रभावित हो रहा है। जबकि २० जनवरी अंतिम तिथि निर्धारित है। ऐसे में किसानों को काफी परेशानियों का सामाना करना पड़ रहा है। प्रत्येक किसान अपनी उपज का तौल कराने के लिए जद्दोजहद कर रहा है।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned