कंसुली में कोरोना का संदिग्ध होने की खबर से दहशत

१०८ से जिला अस्पताल में लाकर कराया गया भर्ती

By: mukesh yadav

Updated: 27 Mar 2020, 07:02 PM IST

बालाघाट. कोरोना संक्रमण धीरे-धीरे पैर पसार रहा है और संक्रमित लोग जहां-जहां जा रहे हैं, यह वायरस उन्हें भी अपनी चपेट में ले रहा है, जिसे देखते हुए संपूर्ण भारत देश 21 दिनो के लिए लॉकडाउन है, लेकिन आज भी लोग लॉक डाउन का पालन करते नजर नही आ रहे हंै, जिस कारण अब यह हालत बन रहे हंै कि कोरोना वायरस अब शहरो से ग्रामीण अंचलों तक पहुंच चुका है। ऐसे ही एक मामले में लांजी क्षेत्र के ग्राम कंसुली से एक व्यक्ति के संदिग्ध होने की बात सामने आई है, जिसे जानकारी के बाद १०८ से जिला अस्पताल लाकर भर्ती किया गया है। उसकी जांच रिपोर्ट भेजी जा रही है।
लांजी के ग्राम कंसुली में कोरोना का संदिग्ध लांजी क्षेत्र के ग्राम पंचायत कंसुली में कोरोना वायरस के संक्रमण से ग्रसित एक व्यक्ति के २५ मार्च को आने की खबर प्राप्त हुई। बताया गया कि कंसुली निवासी महारूलाल पिता मांगीलाल आचरे (28) जो हैदराबाद में कार्य करता है वह गत 22 मार्च को लांजी आया था, जिसमें 25 मार्च को कोरोना वायरस होने संबधी लक्षण पाए गए हैं।
बताया गया कि महारूलाल आचरे हैदराबाद में जिस स्थान पर कार्य करता है, वहां के ठेकेदार लंदन से लौट कर आए हंै जिन्हें शायद कोरोना वायरस संक्रमित बताया जा रहा है। ऐसे में महारूलाल आचरे का इस व्यक्ति के संपर्क में आना उसके बाद 22 मार्च को हैदराबाद से लांजी के कंसुली पहुंचना और यदि यह व्यक्ति संक्रमित है तो यह बहुत गंभीर विषय है।
शादी समारोह में हुआ था शामिल
बताया जा रहा है कि 25 मार्च को महारूलाल लोढ़ामा के एक शादी समारोह में भी शामिल हुआ था और 26 मार्च को जब पता चला की महारूलाल आचरे में कोरोना से संबंधित लक्षण दिखाई दे रहे तो तत्काल ही स्थानीय स्वास्थ्य विभाग, प्रशासन से संपर्क कर 108 एंबुलेंस की व्यवस्था की गई तथा एंबुलेंस के पायलट सुनील कालबेले एवं डॉक्टर द्वारा संपूर्ण ऐहतियात बरतते हुए, किट आदि पहनकर संदिग्ध को जिला अस्पताल पहुंचाया गया है। जानकारी अनुसार जिला अस्पताल में भी एंबुलेंस को लगभग 1 घंटा बाहर खड़े रखकर संपूर्ण वाहन एवं व्यक्ति को सैनेटाईज कर जांच के लिए लिया गया, जिसकी जांच रिपोर्ट जल्द तैयार की जा रही है।
रिपोर्ट के होगा स्पष्ट
जांच रिपोर्ट आने के बाद ही स्पष्ट हो पाएगा कि महारूलाल में कोरोना के संक्रमण है या नही, दूसरी ओर संदिग्ध के परिवार की बात की जाए तो घर पर व्यक्ति के मां, पिताजी, पत्नी और 4 बच्चें होना बताया जा रहा है, लेकिन इनमें वर्तमान में कोई लक्षण नही दिखाई दिए। जिसके चलते इन्हें जांच के लिए नही ले जाया गया है लेकिन यदि महारूलाल संक्रमित होना पाया जाता है, तो पूरा परिवार, आस-पड़ोस के लोग तथा वह स्थान जहां महारूलाल शादी समारोह में गया था और न जाने कितने लोग इस व्यक्ति के संपर्क में आए है, यह बहुत विकट स्थिति बन सकती है। क्योंकि जो लोढ़ामा आए थे, वह अब कितने और लोगों से मिलेंगे यह सभी संदेह के दायरे में आ चुके हैं।
वर्सन
लांजी से एक संदिग्ध मरीज को लाकर जिला अस्पताल में आइसोलेशन में रखा गया है। जांच रिपोर्ट भेजी गई है। रिपोर्ट आने पर सामने आ पाएगा कि वह संक्रमित है या नहीं।
डॉ आरके, सिविल सर्जन

mukesh yadav Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned