दस हजार रुपए की रिश्वत लेते पटवारी गिरफ्तार

लोकायुक्त जबलपुर पुलिस ने की कार्रवाई
फौती नामातंरण के लिए मांगी गई थी २० हजार रुपए की रिश्वत

By: Bhaneshwar sakure

Published: 28 Jul 2021, 11:02 PM IST

बालाघाट. जिले में लंबे अरसे बाद लोकायुक्त पुलिस ने रिश्वत के मामले में कार्रवाई की है। इस बार लोकायुक्त पुलिस ने एक पटवारी को दस हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार किया है। लोकायुक्त जबलपुर पुलिस ने तहसील कार्यालय बालाघाट में पदस्थ पटवारी शैलेन्द्र हरिनखेड़े को रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार किया है। वहीं उसके खिलाफ प्रकरण दर्ज कर मामले को जांच में लिया गया है।
जानकारी के अनुसार शिकायतकर्ता अभय मेश्राम निवासी जबलपुर, जिसकी बालाघाट के गायखुरी में जमीन हैं। उसके माता-पिता की मौत के बाद फौती नामांतरण के लिए उसने पटवारी कार्यालय में आवेदन दिया था। जहां पर इस कार्य के लिए पटवारी शैलेन्द्र हरिनखेड़े ने 20 हजार की रिश्वत की मांग की थी। जिसकी प्रथम किश्त बुधवार को देना तय हुआ था। रिश्वत देने के दौरान ही लोकायुक्त पुलिस ने पटवारी को गिरफ्तार कर लिया। इस पूरे मामले में लोकायुक्त टीम गहनता से जांच कर रही है। लोकायुक्त टीम द्वारा पटवारी के संपत्ति की भी जांच की जा रही है। यह कार्रवाई लोकायुक्त निरीक्षक स्वप्निल दास के नेतृत्व में की गई।
इस मामले में पटवारी शैलेन्द्र हरिनखेड़े का कहना है कि उनके द्वारा न तो कोई पैसों की मांग की गई और न ही कोई रिश्वत ली गई है। यह उसे फंसाने की साजिश थी। लोकायुक्त निरीक्षक स्वप्निल दास का कहना है कि शिकायतकर्ता अभय मेश्राम ने फौती नामांतरण के लिए पटवारी द्वारा रिश्वत मांगे जाने की शिकायत की थी। २० हजार रुपए में सौदा तय हुआ था, जिसमें से पहली किश्त दस हजार रुपए बुधवार को बतौर रिश्वत पटवारी को प्रदान की गई थी, जिसे नोटों के साथ ही गिरफ्तार कर लिया गया है। इस मामले में पटवारी के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत अपराध दर्ज कर प्रकरण को जांच में लिया गया है।

Bhaneshwar sakure
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned