अमानक चावल प्रदाय करने में अधिकारियों पर लगाया जुर्माना

सिविल सप्लाय कार्पोरेशन के गुणवत्ता निरीक्षक, प्रबंधक, तीन राइस मिलर्स पर जुर्माना, अपर कलेक्टर न्यायालय ने लगाया एक लाख पंद्रह हजार रुपए का जुर्माना

बालाघाट. अपर जिला दंडाधिकारी न्यायालय बालाघाट द्वारा मानव उपभोग के लिए अमानक स्तर का चावल सप्लाय करने और उसका गोदाम में भंडारण करने पर तीन राइस मिलर्स व मध्यप्रदेश सिविल सप्लाय कार्पोरेशन के गुणवत्ता निरीक्षक व शाखा प्रबंधक पर एक लाख 15 हजार रुपये का जुर्माना लगाया गया है। जुर्माने की यह राशि 30 दिनों के भीतर जमा कराने कहा गया है। जुर्माने की राशि जमा होने तक इन प्रतिष्ठानों का लायसेंस निलंबित रखने का आदेश भी दिया गया है। जुर्माने की राशि जमा नहीं करने पर दोषी व्यक्तियों से भू-राजस्व के बकाया की तरह यह राशि वसूल की जाएगी।
खाद्य सुरक्षा अधिकारी संध्या मार्को द्वारा 11 मई 2018 को एफसीआई एवं वेयर हाउस के वारासिवनी स्थित तीन गोदाम से विभिन्न स्टेगों से वेयर हाउस के शाखा प्रबंधक मनोहर पाटिल, उमाशंकर धार्मिक और गुणवत्ता निरीक्षक अनिल सिंह बैस की मौजूजगी में सीएमआर चावल के नमूने एकत्र कर प्रयोगशाला जांच के लिए भेजे गए थे। यह चावल मां दुर्गा राईस मिल मेंहदीवाड़ा, पटेल राईस मिल गर्रा और किंजल राईस मिल गोंदिया महाराष्ट्र द्वारा सप्लाय किया गया था। प्रयोगशाला जांच में यह चावल मानव उपभोग के लिए अमानक स्तर का पाया गया है। इस पर खाद्य सुरक्षा अधिनियम के अंतर्गत प्रकरण दर्ज कर कार्रवाई के लिए अपर कलेक्टर न्यायालय बालाघाट में प्रस्तुत किया गया था।
अपर कलेक्टर न्यायालय में सुनवाई के दौरान सभी पक्षों को सुना गया। सुनवाई के बाद इन तीनों प्रकरणों में मानव उपभोग के लिए अमानक खाद्य सामग्री के भंडारण पर वेयर हाउस के गुणवत्ता निरीक्षक अनिल सिंह बैस पर 15 हजार रुपए, शाखा प्रबंधक मनोहर पाटिल पर 20 हजार रुपए, उमाशंकर धार्मिक पर 5 हजार रुपए का जुर्माना लगाया गया। इसी तरह मां दुर्गा राईस मिल मेंहदीवाड़ा के मालिक भोजेश्वर पटले, योगेश पटले, सुखराम पटले, राजेश पटले, कीर्ति पटले व गुंजन पटले पर 50 हजार रुपए, पटेल राईस मिल गर्रा के मालिक तोपसिंह कटरे व हसन पटले पर 15 हजार रुपए, किंजल राईस मिल गोदिया के मालिक दामोदर अग्रवाल व शांताबाई आग्रवाल पर 10 हजार रुपए का जुर्माना लगाया गया है।

Bhaneshwar sakure Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned