सीएम से मिले आश्वासन के बाद प्रदर्शन किया स्थगित

मप्र बुलंद आवाज नारी शक्ति आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, सहायिका संगठन ने सीएम से की मुलाकात

By: Bhaneshwar sakure

Published: 13 Mar 2018, 09:11 PM IST

बालाघाट. प्रदेश में मध्यप्रदेश बुलंद आवाज नारी शक्ति आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, सहायिका संगठन ने सीएम के आश्वासन का एक माह तक इंतजार करने का निर्णय लिया है। साथ ही महापंचायत बुलाकर घोषणा का वादा किया है। जिसके बाद संगठन की प्रदेश महासचिव योगिता कावड़े ने कहा कि एक माह के इंतजार के बाद भी यदि सरकार अपना वादा पूरा नहीं करती है तो संगठन फिर से अपनी लड़ाई सड़क पर आकर सरकार के खिलाफ लड़ेगा।
संगठन प्रदेश महासचिव योगिता कावड़े का कहना है कि पूरे देश से ज्यादा वेतन देने का मुख्यमंत्री ने वादा किया है। इसके अलावा अन्य मांगो के लिए भारत सरकार से चर्चा कर आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं और सहायिकाओं के लिए जो भी अच्छा होगा, वह किए जाने की बात कही है। मुख्यमंत्री के आश्वासन के बाद मध्यप्रदेश बुलंद आवाज नारी शक्ति आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, सहायिका संगठन ने अपना आंदोलन अभी स्थगित कर दिया है और सरकार के वादा पूरे होने की प्रतीक्षा कर रहा है। उन्होंने कहा कि 10 मार्च को मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने अपने निवास में संगठन के प्रतिनिधियों से मुलाकात करते हुए आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और सहायिका की मांगो को पूरा करने का भरोसा दिलाया है। इसके अलावा भारत सरकार से भी राष्ट्रीय मांगो के निराकरण पर चर्चा करने का विश्वास दिलाया है। जिसके बाद संगठन ने अभी आंदोलन को एक माह तक के लिए स्थगित कर दिया है। सीएम से मिले आश्वासवन के बाद सभी अपने-अपने काम पर लौट गई है। उन्होंने बताया कि संगठन का प्रतिनिधिमंडल प्रदेश अध्यक्ष रामेश्वरी मेश्राम के नेतृत्व में सीएम से मुलाकात कर उन्हें समस्याओं से अवगत कराया। साथ ही संघ की मांगों को सीएम के समक्ष रखा।
संगठन संरक्षक सौरभ लोधी ने कहा कि संगठन को यह एक बड़ी कामयाबी मिली है। यदि सरकार आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं एवं सहायिकाओं की मांगो पर सकारात्मक निर्णय लेती है तो प्रदेश की कई बहनों के घरों में खुशियां आ जाएगी। जहां प्रदेश में अब संगठनों को सरकार सौगात देने का काम कर रही है, वहां आंगनाबाड़ी कार्यकर्ता और सहायिकाओं की मांगो पर भी सरकार गंभीरता से सोचे और सकारात्मक निर्णय ले।

Bhaneshwar sakure Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned