रंजीता, भूनेश को लगेगा कोविड वैक्सीन का पहला टीका

बालाघाट, लांजी में प्रारंभ होगा कोविड वैक्सीन टीकाकरण

By: Bhaneshwar sakure

Published: 15 Jan 2021, 09:13 PM IST

बालाघाट. कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए पुणे के सीरम इंस्टीट्यूट में बनाई गई वैक्सीन के टीकाकरण का प्रथम चरण 16 जनवरी से जिले में भी प्रारंभ होगा। जिले में कोविड वैक्सीन के लगाने के लिए सभी आवश्यक तैयारियां कर ली गई है और 16 जनवरी को जिला चिकित्सा बालाघाट व सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र लांजी में इसका टीकाकरण प्रारंभ किया जाएगा। कोविड वैक्सीन का पहला टीका दो व्यक्तियों को लगाया जाएगा। जिसमें बालाघाट से रंजीता वाघाड़े तो लांजी से भूनेश किरनापुरे को पहला टीका लगाया जाएगा।
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ मनोज पांडेय ने बताया कि 16 जनवरी को कोविड वैक्सीन का पहला टीका दो व्यक्तियों को लगाया जाएगा। जिला चिकित्सालय बालाघाट में वार्ड नंबर 13 बुढ़ी बालाघाट निवासी रंजीता वाघाडे और सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र लांजी में वार्ड नंबर 1 बकरामुंडी लांजी के भूनेश किरनापुरे को कोविड वैक्सीन का पहला टीका लगाया जाएगा। कोविड वैक्सीन टीकाकरण की बालाघाट जिले में शुरूआत रंजीता एवं भूनेश को टीका लगाने के साथ होगी और कोविड वैक्सीन का टीका लगाने के बाद वे बालाघाट जिले के लिए एक मिसाल बन जाएंगे। आम जन के लिए प्रेरणा स्रोत भी बनेंगें। इन दोनों स्वास्थ्य कर्मियों ने कोरोना टीकाकरण के लिए प्रथम स्थान पर अपना नाम दर्ज करा कर अनुकरणीय उदाहरण पेश किया है।
कलेक्टर दीपक आर्य ने पत्रकारों को बताया कि 14 जनवरी को जबलपुर संभाग से बालाघाट जिले को कोविड वैक्सीन के 9660 डोज प्राप्त हो गए है। इन्हें जिला वैक्सीन स्टोर में सुरक्षित रखा गया है। कोविड वैक्सीन टीकाकरण के लिए जिले में 7898 लोगों का पंजीयन हो चुका है। इसमें से 7027 शासकीय स्वास्थ्य कर्मचारी और 871 प्रायवेट स्वास्थ्य कर्मचारी है। कोविड वैक्सीन टीकाकरण तीन चरणों में किया जाना है। प्रथम चरण में जिला चिकित्सालय बालाघाट, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र लांजी में टीकाकरण किया जाएगा। प्रथम चरण में डॉ सीएस पारधी, डॉ रागिनी पारधी, डॉ रोहित गुप्ता व डॉ गुप्ता ने स्वेच्छा से कोविड वैक्सीन लगाने की सहमति प्रदान की है। उन्होंने बताया कि प्रथम चरण में स्वास्थ्य कार्यकत्र्ताओं को, द्वितीय चरण में फ्रंट लाइन वर्कर और तृतीय चरण में 50 वर्ष से अधिक की आयु के लोगों व 50 वर्ष से कम आयु के विभिन्न बीमारियों से ग्रसित लोगों को कोविड वैक्सीन टीका लगाना है। 18 वर्ष से कम आयु के बच्चों, गर्भवती माताओं और जिन्हें किसी तरह की एलर्जी हो, उन्हें प्रथम चरण में यह टीका नहीं लगाया जाएगा।
अपर कलेक्टर फ्रेंक नोबल ए ने बताया कि प्रथम चरण के टीकाकरण के लिए जिला वैक्सीन स्टोर बालाघाट से वैक्सीन के 440 डोज लांजी पहुंचा दिए गए है। कोविड वैक्सीन को फ्रीजर में निर्धारित तापमान पर पूरी सुरक्षा में रखा गया है। टीका लगवाने के बाद व्यक्ति को आधे घंटे के लिए टीकाकरण केन्द्र पर ही रूकना होगा।
द्वितीय चरण के टीकाकारण के लिए भी तैयारी प्रारंभ कर दी गई है। द्वितीय चरण में जिला चिकित्सालय बालाघाट, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र लांजी, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र चरेगांव, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र किरनापुर में टीका लगाया जाएगा। कोविड वैक्सीन टीके का दूसरा डोज 28 दिनों के बाद लगाया जाएगा। टीका लगाने के बाद भी व्यक्ति को मास्क लगाना व अन्य सावधानी बरतना जरूरी है। टीका लगाने के बाद एंटीबाडी तैयार होने में कुछ दिनों का समय लगता है।
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ मनोज पांडेय ने इस दौरान बताया कि कोविड वैक्सीन का टीका दाहिनी बांह में लगाया जाएगा। एक टीके में 0.5 मिली दवा का डोज दिया जाएगा। टीकाकरण के दौरान टीका लगावाने के लिए आने वाले व्यक्ति के दस्तावेजों का सत्यापन भी किया जाएगा। यह टीका पूरी तरह से सुरक्षित है और मन में इसको लेकर किसी तरह का भय या आशंका न होने दें। डॉ पांडेय ने बताया कि वैक्सीनेशन कार्यक्रम के तहत दो बार वैक्सीन दी जाएगी। पहले व्यक्ति का कोविन पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन होगा। जिसमे उसकी सारी जानकारी आइडी प्रूफ और एड्रेस प्रूफ द्वारा ली जाएगी। वैक्सीन लगने के एक दिन पहले उस व्यक्ति के मोबाइल पर एसएमएस द्वारा जानकारी भेजी जाएगी कि उसे किस स्थान पर कितने समय पर जाना है। आधार या अन्य कोई दस्तावेज प्रस्तुत करने के बाद ही वैक्सीन दी जाएगी। वैक्सीन लगने के बाद एक एसएमएस और एक लिंक आएगा, एसएमएस में वैक्सीन लग जाने की जानकारी होगी और लिंक से सर्टिफिकेट मिल जाएगा।

Show More
Bhaneshwar sakure
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned