scriptSchool closed air and children's education | स्कूल बंद हवा हवाई हुई बच्चों की पढ़ाई | Patrika News

स्कूल बंद हवा हवाई हुई बच्चों की पढ़ाई

बच्चों को रास नहीं आ रही हमारा घर हमारा विद्यालय योजना
पालकों को नहीं भेजी गई है ऑन लाइन लिंक
किसी के पास मोबाइल नहीं, कोई नहीं चलाता व्हाट्सअप
पालकों ने भी माना स्कूल में ही बेहतर पढ़ाई

बालाघाट

Published: January 21, 2022 12:34:40 pm


बालाघाट. कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए सभी स्कूलों को शासन ने बंद करवा दिया है। वहीं बच्चों को ऑन लाइन पढ़ाई करवाए जाने के निर्देश है। लेकिन बच्चों को ऑन लाइन पढ़ाई रास नहीं आ रही है। वहीं पालकगण भी स्कूली पढ़ाई को ही बेहतर होना बता रहे हैं। कुछ पालकों का कहना है कि उनके पास स्मार्ट फोन नहीं है। इस कारण मोबाइल से पढ़ाई कराना मुनासिब नहीं है। वहीं कुछ पालकों का कहना है कि बच्चों को मोबाइल देने पर वे गेम खेलने लगते हैं। ऐसे में स्कूल बंद होने से बच्चों की पूरी पढ़ाई हवा हवाई हो गई है। वहीं दूसरी ओर शिक्षकों द्वारा भी पालकों के मोबाइल में ऑन लाइन लिंक नहीं भेजी गई है। ऐसे में बच्चे ऑन लाइन पढ़ाई नहीं कर पा रहे हैं।
नहीं बनाया गया ग्रुप
चरेगांव लामता के पालक गणों ने बताया कि उनके गांव के प्राथमिक स्कूल के शिक्षकों द्वाा बच्चों को बताया गया था सोशल मीडिया व्हाट्स अप ग्रुप बनाकर सभी बच्चों को उसमें जोड़ा जाएगा। इसके बाद शिक्षक नित्य उसमें पाठ्क्रम की लिंक शेयर करें, जिसके माध्यम से बच्चों को घर पर ही ऑनलाइन पढ़ाई करवाई जाएगी। लेकिन अब तक न कोई ग्रुप बनाया गया है और ना ही लिंक भेजी जा रही है। इस कारण इस स्कूल में बच्चों की पढ़ाई छुट्टी लगने के बाद से बंद है।
इसी तरह नगरीय क्षेत्र के बूढी के पालकगणों का कहना है कि बच्चों को मोबाइल देने पर वे गेम खेलने लगते हैं। ऐसे में मोबाइल पर पढ़ाई नहीं हो पाती है। मजबूरन उन्हें बच्चों को पड़ोस में ही ट्यूशन लगवानी पड़ रही है, जिससे अतिरिक्त खर्च बढ़ गया है।
नहीं बज रही थाली, न हो रही पढ़ाई
शिक्षा विभाग द्वारा शुरू किए गए हमारा घर हमारा विद्यालय को लेकर भी बच्चों और पालकों में रुझान नहीं दिखाई दे रहा है। खासकर ग्रामीण अंचलों में बच्चे पूरी तरह से शिक्षा से वंचित होते नजर आ रहे हैं। उकवा क्षेत्र के अंदर गांवों में नेटवर्क की समस्या हमेंशा से बनी रहती है। इस कारण यहां ऑन लाइन पढ़ाई पूरी तरह से फेल साबित हो रही है। पालकों कहना है कि इन सब समस्याओं के लिए भी विभाग को कोई हल निकालना चाहिए।
वर्सन
शिक्षकों ने मोबाइल पर लिंक भेजे जाने की बात कही थी। लेकिन अब तक कोई लिंक नहीं भेजी गई है। इस कारण बच्चे पढ़ाई नहीं कर रहे हैं। ऐसे में उनका कोर्स पिछड़ रहा है।
सविता राउत, उकवा
स्कूल बंद हवा हवाई हुई बच्चों की पढ़ाई
स्कूल बंद हवा हवाई हुई बच्चों की पढ़ाई
स्कूल की छुट्टी लगने के बाद शिक्षको कोई प्रतिक्रिया नहीं दे रहे हैं। ना तो डिजीलेप से पढ़ाई हो रही है और न ही कुछ पाठ्यक्रम मुहैया कराए जा रहे हैं। बच्चे की पढ़ाई के लिए नया मोबाइल लिए हैं। लेकिन शिक्षक कुछ भेज ही नहीं रहे हैं।
सुरेश वरकड़े, पोंडी
सभी शिक्षकों को ऑनलाइन पढ़ाई करवाए जाने सारी सामग्री मुहैया करवाई दी गई है। हमारे द्वारा शिक्षकों से समीक्षा की जाएगी। बच्चों की हर हाल में ऑन लाइन पढ़ाई शुरू करवा दिए जाने के निर्देश दिए गए हैं।
अश्विनी कुमार उपाध्या, डीईओ

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

सीएम Yogi का बड़ा ऐलान, हर परिवार के एक सदस्य को मिलेगी सरकारी नौकरीचंडीमंदिर वेस्टर्न कमांड लाए गए श्योक नदी हादसे में बचे 19 सैनिकआय से अधिक संपत्ति मामले में हरियाणा के पूर्व CM ओमप्रकाश चौटाला को 4 साल की जेल, 50 लाख रुपए जुर्माना31 मई को सत्ता के 8 साल पूरा होने पर पीएम मोदी शिमला में करेंगे रोड शो, किसानों को करेंगे संबोधितराहुल गांधी ने बीजेपी पर साधा निशाना, कहा - 'नेहरू ने लोकतंत्र की जड़ों को किया मजबूत, 8 वर्षों में भाजपा ने किया कमजोर'Renault Kiger: फैमिली के लिए बेस्ट है ये किफायती सब-कॉम्पैक्ट SUV, कम दाम में बेहतर सेफ़्टी और महज 40 पैसे/Km का मेंटनेंस खर्चIPL 2022, RR vs RCB Qualifier 2: राजस्थान ने बैंगलोर को 7 विकेट से हराया, दूसरी बार IPL फाइनल में बनाई जगहपूर्व विधायक पीसी जार्ज को बड़ी राहत, हेट स्पीच के मामले में केरल हाईकोर्ट ने इस शर्त पर दी जमानत
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.