नागरिकता संशोधन कानून पर संगोष्ठी

विधायक कावरे के नेतृत्व में हुई

By: mukesh yadav

Published: 03 Jan 2020, 05:39 PM IST

बालाघाट। कटंगी कोस्ते रजेगांव में एक समारोह के दौरान परसवाड़ा विधायक रामकिशोर कावरे ने हालिया केन्द्र सरकार के नागरिकता संशोधन कानून पर आहुत चौपाल में आमजन मानस से मुखातिब होते हुए कहा कि किसी की नागरिकता संशोधन विधेयक किसी भी हालत में नागरिकता छीनने के लिए नहीं, बल्कि नागरिकता देने के लिए बनाया गया है। दुर्भाग्यवश कुछ लोग जो नहीं चाहते कि शरणार्थी भाई बंधुओं की तकलीफें कम हों, उनके जीवन में सुधार आए वे ही इसका विरोध कर रहे हैं। विरोध के नाम पर देश को गुमराह करने वाले दलों और ऐसे लोगों की असलियत उजागर करने के लिए भाजपा द्वारा राष्ट्रीय स्तर पर जन जागरण अभियान चलाए जाने का निर्णय लिया गया है। इसके माध्यम से हम जन-जन तक पहुंचेंगे और सच्चाई लोगों के समक्ष रखेंगे। उन्होंने आगे कहा कि नागरिकता संशोधन कानून किसी के खिलाफ नहीं है। जो भी इसका विरोध कर रहे हैं, वे झूठ बोल रहे हैं और भ्रम फैला रहे हैं।
उन्होंने कहा कि मैं इस कानून का विरोध करने वालों से पूछना चाहता हूं कि पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश में धार्मिक आधार पर प्रताडि़त होने वाले हमारे भाई बहनों को भारत की नागरिकता क्यों नहीं मिलनी चाहि और अगर उन्हें नागरिकता मिल रही है, तो इसमें गलत क्या है। विधायक कावरे ने सवाल रखते हुए कहा पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश में अगर इन भाई बहनों पर अत्याचार किए जाएंगे, तो ये कहां जाएंगे, उन्हें भारत के अलावा किस देश में शरण मिलेगी। नागरिकता संशोधन कानून संगोष्ठी में भारी तादाद में जनसमुदाय का विशेष सहयोग रहा।

mukesh yadav Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned