दो नाबालिग बच्चियों को बेचने वाले सात आरोपी गिरफ्तार

मुख्य सरगना से पुलिस कर रही है पूछताछ

By: Bhaneshwar sakure

Published: 12 Jan 2021, 10:05 PM IST

बालाघाट/बैहर. नाबालिग बच्चियों को उनकी शादी कराने का झांसा देकर उन्हें बेचने का मामला प्रकाश में आया है। यह मामला बैहर क्षेत्र का है। इस प्रकरण में पुलिस ने सात आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है, जिसमें एक महिला भी शामिल है। गिरफ्तार आरोपियों में से एक महिला सहित ६ आरोपी न्यायिक अभिरक्षा में जेल भिजवा दिए गए हैं। वहीं एक आरोपी से पुलिस रिमांड में पूछताछ की जा रही है। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार इस मामले में दुर्गेश पिता भागीरथ प्रजापति (२१) ग्राम तलावली थाना झालावाड़ा राजस्थान, राहुल पिता भेरूलाल प्रजापति (१८) ग्राम धामंदा राजस्थान, उमरावसिंह पिता रतन सिंह सौंधिया (४०) ग्राम कराडिया मंदसौर, शुभम पिता कन्हैयालाल डोंगरे (२०), रविन्द्र पिता छोटेलाल साहू (३८) दोनों बैहर निवासी और सुप्रिया पति अंतूलाल (३३) बैहर, आमीन खान पिता महबूब खान (३४) बैहर निवासी शामिल है।
पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार दो नाबालिग के लापता होने की शिकायत रूपझर थाने में दर्ज की गई थी। जिसमें एक शिकायत 4 जनवरी को और दूसरी शिकायत 8 जनवरी को दर्ज की गई। इस शिकायत के बाद एसपी ने मामले को गंभीरता से लिया। सोनगुड्डा से २७ नवम्बर को एक नाबालिग बच्ची सिलाई सिखने की बात अपने परिजनों को बताकर एक अन्य नाबालिग के साथ घर से निकली थी। दोनों जब घर नहीं पहुंचे तो उनके परिजनों ने खोजबीन की। इसके बाद दोनों की अलग-अलग तिथियों में गुमशुदगी दर्ज कराई गई। इसी दौरान ५ दिसम्बर को एक नाबालिग ने अपने चाची को फोन कर उसकी और उसके सहेली की शादी होने की जानकारी दी थी। जिसमें उसने मनीहारी सामान की बिक्री करने वाले भाईजान के द्वारा शादी कराए जाने की जानकारी दी गई थी। इसी जानकारी के आधार पर पुलिस ने मनीहारी का सामान बिक्री करने वाले आमीन खान को हिरासत में लिया। उससे पूछताछ की। जिसने पूछताछ में मंदसौर निवासी उमराव सिंह को दोनों बच्चियों को बेचने की बात कही। आमीन खान की सूचना और उमरावसिंह की निशानदेही पर पुलिस ने राजस्थान में दबिश देकर दुर्गेश प्रजापति व राहुल प्रजापति को हिरासत में लिया। वहीं उनके कब्ज से एक नाबालिग को हिरासत में लिया। जबकि दूसरी बच्ची पहले ही बैहर पहुंच चुकी थी। जिसे बाद में पुलिस ने दस्तयाब किया। बताया गया है कि इन दोनों नाबालिगों को करीब सवा लाख रुपए में बेच दिया गया था।
इनका कहना है
इस मामले में जो भी जांच के दायरे में आएंगे, उन पर प्रशासनिक कार्रवाई बगैर किसी दबाव के की जाएगी। इस मामले की अभी जांच चल रही है।
-एसके मरावी, एएसपी, बैहर

Bhaneshwar sakure Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned