वैक्सीनेशन सेंटरों में हवा में सोशल डिस्टेंस नियम

वैक्सीनेशन सेंटरों के बढ़ाए जाने की महसूस की जा रही आवश्यकता

By: mukesh yadav

Published: 03 Jul 2021, 10:54 AM IST

लालबर्रा. कोरोना की तीसरी लहर से निपटने व लोगों में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने शासन-प्रशासन पूरी तरह मुस्तैद है, इसके लिए विभिन्न स्थानों में वैक्सीनेशन सेंटर लगाकर लोगों को टीकाकरण किया जा रहा है। ताकि कोरोना से जंग जीती जा सके, लेकिन वैक्सीनेशन सेंटरों के हाल देखे तो कुछ और ही सामने आता है। प्राय: सेंटरों में सामाजिक दूरी की धज्जिया उड़ते साफ नजर आती है। वहीं लोग बगैर फेस मास्क के भी नजर आ रहे हैं। ऐसे में संक्रमण से बचाव के इंतजाम में पहुंचने वाले लोगों के संक्रमित होने का अंदेशा बना हुआ है।
ताजा उदाहदण लालबर्रा अंतर्गत 1 जुलाई को ग्राम मिरेगांव, घोटी, जाम, नेवरगांव, कंजई, पाथरशाही, नगपुरा, चिचगांव और लालबर्रा में बनाए गए वैक्सीनेशन सेंटरों में देखने मिला। १८ सेंटर बनाए जाने के बावजूद भीड़ के मुकाबले इन सेंटरों की संख्या नाकाफी नजर आई। इस मामले में क्षेत्र के जागरूक जनों का कहना रहा कि वैक्सीनेशन सेंटरों से भीड़ कम करने प्रशासन को वैक्सीनेशन सेंटरो की संख्या में इजाफा करना चाहिए। खासकर लालबर्रा मुख्यालय में जहा पांढरवानी पंचायत के अलावा आसपास की दर्जनों पंचायतों के ग्रामीण पहुंचते हंै, ताकि सभी को बिना किसी परेशानी, धक्का मुक्की व सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुए वैक्सीन लग पाए और संक्रमण फैलने का खतरा भी न बने।
आज लगाया जाएगा दूसरा डोज
क्षेत्र के खंड चिकित्साधिकारी डॉ. ऋतिक पटेल ने बताया कि 3 जुलाई को शासन के निर्देशों के अनुसार पूर्व में प्रथम डोज लगवा चुके लोगों को कोविड वेक्सीन का दूसरा डोज लगाने के लिए विशेष टीकाकरण अभियान चलाया जाएगा। जिसमें उच्चाधिकारियों के निर्देश पर उमावि को टीकाकरण केन्द्र बनाया गया है। डॉ पटेल ने बताया कि क्षेत्र के ऐसे नागरिक जिनकों कोवैक्सीन का पहला डोज लगाए 28 दिन हो गए हंै और कोविशील्ड का पहला डोज लगाए 84 दिन हो गए हैं, वे ही इस केन्द्र में आए। डॉ पटेल ने बताया कि स्टाफ की कमी के कारण सेंटरों की संख्या बढ़ाना संभव नहीं है। ०1 जलाई को विकासखंड अंतर्गत 18 केन्द्र बनाए गए थे।
इनका कहना है-
मुख्यालय में एकलौता टीकाकरण केन्द्र होने से यहां पांढरवानी के अतिरिक्त दर्जनों पंचायत के ग्रामीण टीका लगवाने पहुंचते हंै, जिससे सामाजिक दूरी का पालन नही हो पाता, वही टारगेट पूर्ण होने से ग्रामीण किसानों को खाली लौटना पड़ रहा है। प्रशासन से मांग है, कि वे लालबर्रा मुख्यालय में टीकाकरण केन्द्र की संख्या बढ़ाए या फिर दिनवार ग्रामीणों को बुलवाए। साथ पेयजल, बैठक सहित अन्य व्यवस्था करें।
नरेन्द्र जायसवाल, आप सेक्टर प्रभारी

mukesh yadav Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned