किसी ने रोजगार तो किसी ने सहायता राशि की मांग की

जनसुनवाई में कलेक्टर ने सुनी जनता की समस्याएं, शिक्षकों ने भी जनसुनवाई में जिलाधीश को सुनाई समस्याएं,41 आवेदक पहुंचे जनसुनवाई में

By: Bhaneshwar sakure

Published: 21 Sep 2021, 10:11 PM IST

बालाघाट. कोरोना संक्रमण काल के दौरान बंद कर दी गई जनसुनवाई 21 सितम्बर से पुन: प्रारंभ हो गई है। कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आयोजित जनसुनवाई में कलेक्टर डॉ गिरीश कुमार मिश्रा ने अपनी समस्याएं लेकर आए आवेदकों की समस्याओं को सुना और संबंधित अधिकारियों को उनका शीघ्र निराकरण करने के निर्देश दिए। कुछ प्रकरणों में उन्होंने सीधे संबंधित अधिकारी को फोन लगाकर प्रकरण की वस्तुस्थिति की जानकारी ली और आवेदक पर कार्रवाई करने के निर्देश दिए। आज की जनसुनवाई में 41 आवेदक अपनी समस्याएं व शिकायतें लेकर आए थे।
जनसुनवाई में वार्ड नंबर 3 बैहर रोड बालाघाट की रोजीना अंजुम काम दिलाने की मांग लेकर आई थी। उसका कहना था कि वह पीजी कर चुकी है और कम्प्यूटर में पीजीडीसीए भी कर चुकी है। उसके परिवार की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है। अत: उसे किसी कार्यालय में काम दिलाया जाए। वार्ड नंबर 9 बैहर रोड बालाघाट का लखनलाल खंडेत शिकायत लेकर आया था कि उसकी पत्नी तुलसी खंडेत कर्मकार कल्याण मंडल की पंजीकृत श्रमिक थी। उसकी पत्नी की 27 अप्रैल 2019 को मृत्यु हो गई है। उसकी पत्नी की मृत्यु पर उसे 2 लाख रुपए की अनुग्रह राशि स्वीकृत की गई है, लेकिन यह राशि अब तक उसे नहीं मिली है। किरनापुर का योगेन्द्र सिंह दशमेर शिकायत लेकर आया था कि उसने अपने खेत के सागौन के पेड़ काटने की अनुमति के लिए वर्ष 2018 में किरनापुर तहसीलदार के कोर्ट में आवेदन दिया है। लेकिन उसे अब तक अनुमति नहीं मिली है।
इसी तरह ग्राम बिनोरा की शेषराव, लड़सड़ा का धनलाल बिजेवार, मोहगांव धपेरा की द्रोपती बावने, समनापुर का टेकचंद भौरगड़े, गणेशपुर का राजाराम रजक प्रधानमंत्री आवास योजना की सूची में नाम शामिल करने और आवास योजना का लाभ दिलाने की मांग लेकर आए थे। जनसुनवाई में रोशनी गेडाम अपनी शिक्षा के दस्तावेज दिलाने की मांग लेकर आई थी। रोशनी का कहना था कि उसका विवाह गोंदिया जिले के राहुल गेडाम के साथ हुआ है और विवाद के बाद पति द्वारा उसके सभी दस्तावेज रख लिए गए है और वापस नहीं किए जा रहे है। इस पर कलेक्टर डॉ मिश्रा ने नवेगांव थाना प्रभारी को फोन लगाकर निर्देशित किया कि वे गोंदिया जिले के गंगाझरी थाने से सम्पर्क कर रोशनी के दस्तावेज उपलब्ध कराएं।
लांजी तहसील के ग्राम डोरली की दमयंती बनाफर आर्थिक मदद की मांग लेकर आई थी। उसका कहना था कि उसके पति की पिछले दिनों मृत्यु हो गई है और अब उसके पास कमाई का कोई जरिया नहीं है। वह बहुत गरीब है। उसे आर्थिक सहायता दी जाए। कलेक्टर डॉ मिश्रा ने दमयंती स्थिति को देखकर तत्काल रेडक्रॉस से ५ हजार रुपए की राशि का चेक प्रदान किया।
माध्यमिक शाला सारद सिवनी के सहायक अध्यापक दुर्गाप्रसाद शेंडे शिकायत लेकर आए थे कि उसकी वर्ष 2015 में अध्यापक के पद पर पदोन्नति की गई है। लेकिन अब तक उसे पदोन्नति का आदेश नहीं मिला है। उसे पदोन्नति का आदेश प्रदान किया जाएग। खैरलांजी जनशिक्षा केन्द्र के अंतर्गत कन्या प्राथमिक शाला सावरी के शिक्षक मोहित नेताम ब्रेन लकवा होने के कारण उसका स्थानांतरण बिरसा विकासखंड की प्राथमिक शाला चैनाटोला में करने की मांग लेकर आए थे। प्रमोद बोरकर शिकायत लेकर आया था कि वह हायर सेकेंडरी स्कूल समनापुर में अतिथि शिक्षक था। उसका माह मई व जून 2021 का मानदेय का अब तक भुगतान नहीं किया गया है। अतरू उसका बकाया मानदेय का भुगतान कराया जाए।

Bhaneshwar sakure
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned