गेेंहु में रसायनिक खाद मिलने से मचा हड़कंप

सेवा सहकारी समिति डोकरबंदी का मामला, अब सोसायटियों से उपभोक्ताओ को जहर परोसने का लगा आरोप

By: mukesh yadav

Published: 16 May 2018, 11:46 AM IST

लालबर्रा/बालाघाट. क्षेत्र की सेवा साख सहकारी समिति डोकरबंदी में 14 मई को उस समय हड़कंप मच गया जब राशन की बोरियों से कुछ और निकला। बताया गया कि रोजाना की तरह उचित मुल्य की दुकान राशन प्रदाय किए जाने के लिए खोली गई। इस दौरान 50 किलों गेेंहु की 2 कट्टियों में एक से डीएपी नामक रसायनिक खाद एवं दुसरी बोरी में भारी मात्रा में मिट्टी मिली दिखाई दी। खबर फैलने पर विपक्ष के जिपं सदस्य राकेश डहरवाल मौके पर पहुंचे। जिन्होंने सोसायटी पदाधिकारियों पर आम जनों को जहर वितरण करने को आरोप लगाया। इसके बाद मौके पर समिति अध्यक्ष ओमेश्वरी गौतम पहुंची। जिन्होंने राशन वितरण पर रोक लगाई। वहीं प्रबंधक के अलावा वेयर हाउस को सूचना दी।
कुछ उपभोक्ताओं हो चुका था वितरण
बताया गया कि डोकबंदी सोसायटी में सुबह 10.30 से 1 बजे तक करीब 59 व्यक्तियों को राशन का वितरण किया जा चुका था। जिसमें 951 किलों चांवल, गेंहु 664 किलों एवं 184 लीटर केरोसीन व 59 किलो नमक शामिल है। हालांकि सेल्समेंन ईश्वरदयाल सलामे सभी को उच्च क्वालिटी का राशन प्रदाय किए जाने की बात कर रहे हैं। कई लोग निम्न स्तरीय गेंहु प्रदाय किए जाने का आरोप भी लगा रहे हैं। जिनका कहना है कि सोसायटी में हमेंशा ऐसा ही अनाज वितरण किया जाता है।
अप्रैल माह में हुआ था आबंटन
सोसायटी से प्राप्त जानकारी के अनुसार 18 अप्रैल 2018 को बिल क्रमांक 1724750713-809026 के अनुसार गेंहु की मात्रा 74.34 क्विंटल प्राप्त हुई थी। जिसका वितरण मई माह में कार्डधारी सदस्यों को किया जा रहा था।
पंचनामा कर की खानापूर्ति
इस मामले पर अध्यक्ष ओमेश्वरी गौतम, लिपिक बीके राणा पलड़ा झाड़ते नजर आए। जिन्होंने मीडिया से दूरी बनाते हुए मौके पर पंचनामा कार्रवाई में 1 बोरी गेंहु की कट्टी में रसायनिक खाद, सोडा एवं 1 बोरी गेंहु की कट्टी में मिट्टी युक्त गेंहु मिलने का पंचनामा बनाकर पूरे मामले में खानापूर्ती कर दी गई।
घटिया राशन देने का आरोप
किसान कांग्रेस जिलाध्यक्ष सोमेन्द्र पटले, मुकेश मंडलेकर, दुर्गा पगरवार, चंद्रभान सैयाम, रतेसिंह सैयाम, सुरेश महरकर, महेश पर्ते, चतरु सिंह परते, वैधराज वाघाडे व प्रकाश उइके सहित अन्य लोगों ने घटिया किस्म का राशन प्रदान करने का आरोप समिति प्रबंधक पर लगाया है।
इनका कहना है
उपभोक्ताओं को राशन वितरण करने के दौरान गेंहु कि 2 कट्टी में गेंहु के साथ रसायनिक खाद व मिट्टी मिलने की जानकारी मिली थी। जिसके बाद समिति द्वारा उक्त बोरियों को हटाकर दुसरी बोरियों का राशन वितरण किया गया है।
ईश्वरदयाल सलामें, सेल्समेंन सोसायटी

mukesh yadav Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned