ओरमा से समनापुर सड़क कीचड़ से सनी, घर से निकलना दूभर

ओरमा से समनापुर सड़क कीचड़ से सनी, घर से निकलना दूभर

mantosh singh | Publish: Sep, 03 2018 08:08:22 PM (IST) Balaghat, Madhya Pradesh, India

ओरमा से टेकाड़ी रोड कीचड़ से सन गई है। इस रोड पर आवागमन में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

बालाघाट. परसवाड़ा विधानसभा क्षेत्र के ओरमा से टेकाड़ी रोड बारिश में कीचड़ से सन गई है। इस रोड पर स्कूली बच्चे, शिक्षक सहित ग्रामीण बुजुर्ग व आमजनों को आवागमन में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। ग्रामीणों द्वारा मार्ग निर्माण को लेकर कई बार कलेक्टर प्रधानमंत्री सड़क योजना के महाप्रबंधक सहित क्षेत्रीय जनप्रतिनिधियों से कई बार गुहार लगाए है। लेकिन सड़क की समस्या की ओर कोई ध्यान नहीं दे रहे है। जिससे ग्रामीणों व आमजनों को हर रोज इस समस्या से जूझना पड़ रहा है। सड़क नहीं बनने से ग्रामीणों में काफी आक्रोश पनप रहा है।
आए दिन हो रही दुर्घटना
ओरमा से टेकाड़ी मार्ग में ओरमा बस्ती के अंदर काफी कीचड़ हो गया है। सड़क बदहाल हो गई है जिससे आए दिन दुर्घटना होते रहती है। गत दिवस ही इस मार्ग पर सड़क खराब होने के चलते टे्रक्टर पलटने से दो लोग घायल हो गए। ग्रामीणों ने बताया कि करीब ५ वर्ष से सड़क की हालत जर्जर है। लेकिन इस समस्या की ओर प्रशासनिक अधिकारी व जनप्रतिनिधियों के कानों में जूं तक नहीं रेंग रही है।
शिकायत पर नहीं अमल
इस संबंध में ग्रामीणों ने बताया कि गत ४ वर्षो में कलेक्टर को १७ बार व प्रधानमंत्री सड़क के महाप्रबंधक को १९ बार सड़क की समस्या को लेकर शिकायत की गई। इसके अलावा क्षेत्रीय विधायक व जिले के सांसद को भी इस समस्या से अवगत कराया गया। लेकिन इस समस्या पर कोई अमल नहीं किया जा रहा है। बारिश होने पर सड़क में बने गड्ढों में पानी भर जाने व सड़क दलदल में तब्दील हो जाने से लोगों का घर से निकलना दूभर होता है।
सड़क नहीं बनी तो होगा उग्र आंदोलन
क्षेत्रीय ग्रामीणों ने शासन-प्रशासन से मांग की है कि शीघ्र सड़क का निर्माण नहीं किया गया तो उग्र आंदोलन किया जाएंगा। ग्रामीणों ने बताया कि सड़क की समस्या को लेकर इसके पूर्व भी आंदोलन किया गया। जिससे प्रशासन द्वारा सड़क निर्माण का आश्वासन भी दिया गया। सड़क निर्माण का टेंडर होने के बाद ठेकेदार अधूरी सड़क बनाकर काम छोड़ चला गया। उन्होंने कहा कि शीघ्र दूसरे ठेकेदार को काम देकर सड़क निर्माण शीघ्र प्रारंभ कराया जाए। सड़क निर्माण की मांग करने वालों में प्रमुख रूप से हेमेन्द्र कुमार बनोटे, राजेन्द्र मसकरे, पवन पिछ़ोड़े, निजाम खान, मनीष कामड़े, घनश्याम धामड़े, नेमीचंद बनोटे, कृष्णकुमार बनोटे, दिनेश पिछोड़े, कृष्णा कुमार रजक, प्रताप बनोटे, अमजद खान, भोले कासरे, महिपाल परते, गुलाब गोले, हेमराज बनोटे, दयाराम लिल्हारे, शिशुलाबाई, अनिता बनोटे, सरस्वती बनोटे, मोहनलाल लिल्हारे, उषाबाई गोले सहित अन्य शामिल है।
इनका कहना है
उक्त सड़क प्रधानमंत्री सड़क योजना अंतर्गत आती है। सड़क निर्माण के लिए कई बार कलेक्टर व क्षेत्रीय जनप्रतिनिधियों को ज्ञापन देकर मांग की गई। सड़क का टेण्डर हो गया था। लेकिन ठेकेदार काम छोड़ भाग गया।
धनेन्द्र बागड़े, ग्राम पंचायत सरपंच

Ad Block is Banned