पुरानी रंजिश के चलते की गई थी सुनील की हत्या

लालबर्रा पुलिस ने किया अंधेहत्याकांड का पर्दाफास
हत्या में शामिल तीन आरोपी गिरफ्तारी, भेजे गए जेल

By: mukesh yadav

Published: 25 Jan 2019, 02:37 PM IST

बालाघाट. जिले के लालबर्रा थाना क्षेत्र के निलजी निवासी युवक की हत्या की गुत्थी सुलझाते हुए लालबर्रा पुलिस ने तीन हत्यारों को गिरफ्तार कर लिया है। जिन्होंने पूछताछ में पुरानी रंजिश के चलते हत्या करना कबूल किया है। पुलिस ने आरोपियों को घेराबंदी कर गिरफ्तार किया गया। जिन्हें न्यायालय में पेश कर जेल भिजवा दिया गया है। तीनों ही आरोपी निलजी के रहने वाले है। इनमें जाहिद पिता साकीर अली, ओमकार उर्फ टकलु पिता सूरज इड़पांचे व अनीश पिता अतरलाल नागोत्रा शामिल है।
पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार १७ जनवरी को मृतक सुनील पिता सुरनलाल खरोले (३४) की गुमशुदगी की रिपोर्ट उसके परिजनों द्वारा लिखवाई गई थी। इसके बाद १९ जनवरी को सुनील के ही घर के कुंए से उसकी लाश बरामद की गई थी। पुलिस पंचनामा कार्रवाई कर शव का पीएम करवाया गया था। पीएम रिपोर्ट में सामने आया था कि सुनील की मौत पानी में डूबने से पूर्व जनेन्द्रीयों में चोट लगने से हुई है। इसके बाद लालबर्रा पुलिस ने २३ जनवरी को अज्ञात हत्यारों के विरूद्ध हत्या का मामला धारा 302, 201 ताहि के तहत दर्ज कर मामले की विवेचना शुरू की। इसके बाद स्थानीय लोगों और मुखबीर की सुचना पर तीनों आरोपियों को घेराबंदी कर धरदबोचा गया। जिनसे मनोवैज्ञानित तरीके से पूछताछ करने पर उन्होंने अपना जुर्म कबूल किया है।
ऐसे दिया वारदात को अंजाम
टीआई विजय विश्वकर्मा के अनुसार निलजी के गनपत कटरे के घर पर बारसा कार्यक्रम था। जिसमें सुनील खरोले भी आया था। जिसको जाहिद अली ने शराब पीने के बाहने बाहर लेकर आया। जहां पहले से ही ओमकार, अनीश इंतजार कर रहे थे। जिनके साथ मिलकर सुनील को हाथ, लात मुक्को से मारपीट किए। जिससे सुनिल की मौत हो गई। साक्ष्य छुपाने के उद्देश्य से हत्यारों ने गांव के ही हुकुमचंद ग्वालवंशी की बाड़ी के कुंए में सुनील के कपड़े उताकर शव को फंेक दिया था।

mukesh yadav Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned