scriptThe last parting of the asthmatic with moist eyes, the crowd gathered | नम आंखों से दी डाली दमाहे को अंतिम बिदाई, उमड़ा जन सैलाब | Patrika News

नम आंखों से दी डाली दमाहे को अंतिम बिदाई, उमड़ा जन सैलाब

सुरक्षा के रहे पुख्ता इंतजाम, पुलिस ने ड्रोन से की निगरानी
आरोपितों के गिरफ्तारी की उठते रही मांग

बालाघाट

Published: March 04, 2022 10:48:26 pm

बालाघाट. बालाघाट में बब्बर सेना के प्रमुख और पूर्व जिला पंचायत सदस्य डाली दमाहे का शुक्रवार को अंतिम संस्कार किया गया। उनके अंतिम संस्कार में जनसैलाब उमड़ पड़ा। हजारों की संख्या में लोगों ने नमआंखों से उन्हें अंतिम बिदाई दी। अमूमन किसी बड़े नेता या व्यक्तितत्व या सैनिकों के शहीद होने पर इस तरह की भीड़ उमड़ती है। लोग डाली दमाहे के पार्थिव शरीर की अंतिम यात्रा को देखने के लिए अपने घरों की छतों पर व सड़क पर उतर आए थे। उनकी अंतिम यात्रा उनके गृहग्राम कोसमी से निकाली गई थी। बाजे-गाजे के बीच, भगवा झंडा, रथ और नाचे तो बब्बर शेर के धार्मिक गीत के बीच जय भवानी जय अंबे, डाली दमाहे अमर रहे के जयघोष के साथ निकली इस अंतिम यात्रा में महिला व पुरूष सहित बहुतायत में लोग शामिल रहे। इस अंतिम बिदाई में पूर्व सांसद कंकर मुंजारे, भाजपा जिलाध्यक्ष रमेश भटेरे, पूर्व विधायक मधु भगत, उदयसिंह नगपुरे, उम्मेद लिल्हारे, अनुभा मुंजारे, वैभव कश्यप सहित कई प्रमुख लोग शामिल हुए।
जानकारी के अनुसार पूर्व जिपं सदस्य डाली दमाहे पर २८ फरवरी की रात्रि प्राणघातक हमला किया गया था। जिससे वह गंभीर रुप से घायल हो गया था। जिसकी उपचार के दौरान गोंदिया के एक निजी अस्पताल में मौत हो गई। जिसके कारण कोसमी में तनाव का माहौल बना रहा। इसी कारण से सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम रहे। वरिष्ठ अधिकारियों ने मोर्चा संभाले रखा। कोसमी चौक पर पुलिस अधीक्षक समीर सौरभ भी कुछ देर के लिए पहुंचे थे। जबकि अंतिम संस्कार होने तक एएसपी गौतम सोलंकी, बैहर एएसपी विजय डाबर, सीएसपी अपूर्व भलावी, लांजी एसडीओपी दुर्गेश आर्मो, बैहर एसडीओपी, एसडीएम बालाघाट केसी बोपचे, तहसीलदार रामबाबू देवांगन सहित दर्जन भर थाना के प्रभारी व भारी पुलिस बल व वज्र वाहन तैनात रहे। दरअसल अंतिम संस्कार के समय स्थिति बिगडऩे की आशंका के चलते सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए थे। पुलिस ने ड्रोन कैमरे के माध्यम से निगरानी रखी। पुलिस ने गोंदिया मार्ग में दोनों ओर हनुमान चौक और नवेगांव से मार्ग को पहले ही डायवर्ट कर दिया और भारी वाहन सहित अन्य दुपहिया वाहनों के आवाजाही को भी प्रतिबंधित कर दिया था।
विहिप जिला अध्यक्ष गिरफ्तार, प्रांत मंत्री के खिलाफ मामला दर्ज करने की मांग
पूर्व जिपं सदस्य डाली दमाहे पर 28 फरवरी की रात्रि में प्राणघातक हमला हो गया था। जिसके चलते उपचार के दौरान 3 मार्च को गोंदिया में उनकी मौत हो गई। इस मामले में पुलिस ने विहिप के जिलाध्यक्ष संजीव उर्फ भाऊ अग्रवाल सहित 8-9 के खिलाफ अपराध दर्ज किया हैं। वही विहिप जिलाध्यक्ष संजीव अग्रवाल को तेलांगना पुलिस के माध्यम से गिरफ्तार कर लिया गया है। सूत्रों के मुताबिक पुलिस ने इस घटनाक्रम से जुड़े अन्य 5 आरोपियों को भी अभिरक्षा में ले लिया हैं। इस मामले में विहिप के प्रांतीय मंत्री ललित पारधी का नाम भी लिया जा रहा हैं। लेकिन पुलिस ने ललित पारधी के खिलाफ कायमी नहीं की हैं। ललित पारधी के खिलाफ अपराध दर्ज कर उनकी गिरफ्तारी की मांग लोधी समाज द्वारा की जा रही है। लोधी समाज के जिलाध्यक्ष उम्मेद लिल्हारे सहित अन्य द्वारा भी ललित पारधी के खिलाफ मामला दर्ज कर गिरफ्तार करने की मांग की गई हैं। अन्यथा आगामी दिवस में उग्र प्रदर्शन करने की चेतावनी भी दी गई हैं।
रात्रि में हुआ पथराव, पुलिस अधिकारी सहित आरक्षक हुए घायल
3 मार्च की रात्रि करीबन ९ बजे डाली दमाहे के शव को लेकर परिजन गोंगलई पहुंचे। जहां शव को करीबन २० मिनट रखा गया। इसके बाद शव को गृह ग्राम कोसमी लाया गया। जब शव को कोसमी लाया जा रहा था तब कुछ समर्थकों ने जमकर उपद्रव किया। कोसमी के पीपल चौक के पास टायर जलाकर विरोध जताने का प्रयास किया। वहीं भाऊ अग्रवाल की गोंदिया मार्ग पर स्थित लॉन के निकट कोसमी में संचालित मार्बल दुकान में जमकर तोड़-फोड़ की गई। दुकान पर भी पथराव किया गया। इस बीच पुलिस ने उन्हें रोकने का प्रयास किया तो कुछ समर्थकों ने पुलिस पर पथराव कर दिया। हालांकि इस बीच पुलिस ने हल्का बल प्रयोग कर उन्हें खदेड़ दिया। एक समय यहां पर जमकर तनाव का माहौल रहा। लेकिन बाद में पुलिस ने स्थिति को नियंत्रित कर लिया। इस घटना में सीएसपी अपूर्व भलावी सहित करीब दर्जन भर पुलिस चोटिल हुए। जिसमें 2 पुलिस कर्मचारी को नागपुर रेफर किए जाने की जानकारी सामने आई है। बताया गया है कि पुलिस आरक्षक तोपेश्वर कावरे और अजय अकेला को सिर पर चोटें आई है। जिसके कारण उन्हें रेफर किया गया। शेष लोगों को मामूली चोटे आई है, जिनका प्राथमिक उपचार किया गया है। हालंाकि, इस मामले में एसपी समीर सौरभ ने कहा कि प्रकरण की जांच की जा रही हैं। इस प्रकरण में एक आरोपी संजीव अग्रवाल को गिरफ्तार कर लिया गया हैं।
नम आंखों से दी डाली दमाहे को अंतिम बिदाई, उमड़ा जन सैलाब
नम आंखों से दी डाली दमाहे को अंतिम बिदाई, उमड़ा जन सैलाब

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

बुध जल्द वृषभ राशि में होंगे मार्गी, इन 4 राशियों के लिए बेहद शुभ समय, बनेगा हर कामज्योतिष: रूठे हुए भाग्य का फिर से पाना है साथ तो करें ये 3 आसन से कामजून का महीना किन 4 राशियों की चमकाएगा किस्मत और धन-धान्य के खोलेगा मार्ग, जानेंमान्यता- इस एक मंत्र के हर अक्षर में छुपा है ऐश्वर्य, समृद्धि और निरोगी काया प्राप्ति का राजराजस्थान में देर रात उत्पात मचा सकता है अंधड़, ओलावृष्टि की भी संभावनाVeer Mahan जिसनें WWE में मचा दिया है कोहराम, क्या बनेंगे भारत के तीसरे WWE चैंपियनफटाफट बनवा लीजिए घर, कम हो गए सरिया के दाम, जानिए बिल्डिंग मटेरियल के नए रेटशादी के 3 दिन बाद तक दूल्हा-दुल्हन नहीं जा सकते टॉयलेट! वजह जानकर हैरान हो जाएंगे आप

बड़ी खबरें

Drone Festival: दिल्ली के प्रगति मैदान में भारत के सबसे बड़े ड्रोन फेस्टीवल का उद्घाटन करेंगे पीएम मोदीपाकिस्तान में 30 रुपए महंगा हुआ पेट्रोल-डीजल, Pak सरकार को घेरते हुए इमरान खान ने की मोदी की तारीफअजमेर शरीफ दरगाह में मंदिर होने के दावे के बाद बढ़ाई गई सुरक्षा, पुलिस बल तैनातपहली बार हिंदी लेखिका को मिला अंतरराष्ट्रीय बुकर पुरस्कार, एक मॉं की पाकिस्तान यात्रा पर आधारित है उपन्यासजम्मू कश्मीर: टीवी कलाकार अमरीन भट की हत्या का 24 घंटे में लिया बदला, तीन दिन में सुरक्षा बलों ने मारे 10 आतंकीमहरौली में गैस पाइपलाइन में लीकेज के बाद जोरदार धमाका लगी आग, एक घायलमानसून ने अब तक नहीं दी दस्तक, हो सकती है देरखिलाड़ियों को भगाकर स्टेडियम में कुत्ता घुमाने वाले IAS अधिकारी का ट्रांसफर, पति लद्दाख तो पत्नी को भेजा अरुणाचल
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.