बोनकट्टा से मोवाड़ सड़क मार्ग पर आवागमन बंद

हरदोली पुलिया के पास बनाया परिवर्तित मार्ग पानी में बहा-

By: mukesh yadav

Updated: 03 Jan 2020, 05:36 PM IST

तिरोड़ी/बोनकट्टा। क्षेत्र में गुरूवार को पूरा दिन भर होने वाली तेज बारिश के बाद कई नदी-नाले एक बार फिर से उफान पर है। तिरोड़ी के कई छोटे-छोटे नालों पानी का बहाव काफी तेज है। इस कारण आवागमन प्रभावित हो रहा है। बोनकट्टा से मोवाड़ मुख्य सड़क मार्ग पर हरदोली क्षतिग्रस्त पुलिया के नवनिर्माण के चलते बनाया गया परिवर्तित मार्ग भी गुरूवार की बारिश के बाद बह गया। इस मार्ग पर आवागमन पूरी तरह से बंद हो गया है। वहीं पुलिया निर्माण कार्य बीते 3 दिन से बंद पड़ा है।
गौरतलब हो कि इसी साल बारिश में हरदोली पुलिया दो बार बह गया था। जिसका अभी हाल ही में नवनिर्माण शुरू किया गया था। इसके साथ ग्रामीणों के आवागमन को बरकरार रखने के लिए पुलिया के नजदीक से ही एक परिवर्तित मार्ग बनाया गया था, जो बारिश में बह गया है।
इन गांवों का संपर्क टूटा
जानकारी अनुसार इस सड़क मार्ग से प्रतिदिन बोनकट्टा, हरदोली, पुलपुट्टा, छतेरा, टेकाड़ी, शंकर पिपरिया, चिचोली, डोंगरिया, मोवाड़ के लोगों का आना जाना करते थे। इसके अलावा यह मार्ग सीधे वारासिवनी और बालाघाट को भी जोड़ता है। पुलिया के क्षतिग्रस्त होने के कारण बसों का संचालन काफी कम हो गया था। अब नए पुलिया निर्माण का काम शुरू हुआ है। बता दें कि लगातार होने वाली बारिश से ग्रामीण इलाकों के कई सड़क मार्ग पुलिया के उपर से पानी बहने की वजह से बंद हो गए हैं। जिससे ग्रामीण जनता को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। ग्रामीण लगातार होने वाली बारिश से परेशान होकर अब भगवान से पानी बंद कराने की प्रार्थना कर रहे हैं।
बारिश से बढ़ी ठंड
जबरदस्त ठंड और उपर से जारी बारिश व ओलावृष्टि ने इन दिनों जनजीवन को खासे प्रभावित कर रखा है। खाकर मौसम की मार से किसान वर्ग खासे परेशान है। इन दिनों चल रही सोसायटियों में विक्रय के लिए रखी धान भीग चुकी है। वहीं खेतों में खड़ी फसल पर भी खासा असर पड़ रहा है। जिले के दुरस्थ आदिवासी अंचलों और ग्रामीण अंचलों में बारिश और ओलावृष्टि का जबरदस्त प्रभाव देखने को मिल रहा है।

mukesh yadav Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned