परिनिर्वाण दिवस पर बाबा साहब को दी श्रद्धाजंलि

तिरोड़ी में अंबेडकर अनुयाईयों ने निकाला कैड़ल मार्च

By: mukesh yadav

Published: 08 Dec 2019, 05:19 PM IST

तिरोड़ी। संविधान निर्माता डॉ बीआर अंबेडकर के 63 वें महापरिनिर्वाण दिवस पर मॉयल नगरी तिरोड़ी में अंबेडकर अनुयाईयों ने कैंडल मार्च निकालकर श्रद्धाजंलि दी तथा उनके संदेशों को घर-घर तक पहुंचाने का प्रयास किया। अंबेडकर भवन से रैली का शुभारंभ हुआ, जिसने चांदनी चौक, मॉयल कार्यालय से होते हुए अंबेडकर चौक का भ्रमण कर यथास्थान पर विराम लिया। इस दौरान रतन पारखी, थाना प्रभारी रघुनाथ खातरकर, सरपंच आनंद बरमैया, समाजसेवी ज्ञानीराम राहंगडाले, आंनद नाग, राजेन्द्र अरोरा, प्रशांत सूर्यवंशी, मनीष सूर्यवंशी, बीएम बोरकर, घनश्याम गजभिए, प्रदीप उके सहित बड़ी संख्या में अंबेडकर अनुयाईयों ने हिस्सा लिया। अंबेडकर भवन में बाबा साहब के छायाचित्र के समक्ष कैंडल जलाई गई। इसके बाद पुष्प अर्पित कर श्रद्धाजंलि दी गई।
अंबेडकर भवन में श्रद्धाजंलि कार्यक्रम को संबोधित करते हुए सरपंच आनंद बरमैया ने कहा बाबा साहब अंबेडकर पूंजीवाद के घोर आलोचक थे। इसके साथ-साथ वह जातीय भेदभाव को देश और सभ्य समाज पर कलंक मानते थे। मनुष्य द्वारा मनुष्य पर किए जा रहे तमाम प्रकार के शोषण के प्रबल विरोधी थे। सबको समान रूप से रोटी, कपड़ा, मकान एवं शिक्षा, स्वास्थ्य व रोजगार जैसी सुविधाएं समान रूप से प्राप्त हो, इसके लिए वह आजीवन संघर्ष करते रहे। इस अवसर पर सभी ने बाबा साहब को श्रद्धा सुमन अर्पित कर उनके बताए मार्ग पर चलने का संकल्प लिया।

mukesh yadav Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned