शिकार या वर्चस्व की लड़ाई, दो तेंदुए की मौत

दो अलग-अलग स्थानों में मिले दो तेंदुए के शव, दो दिन पुराना शव होने की संभावना, जांच में जुटा वन अमला

By: Bhaneshwar sakure

Published: 23 Jan 2021, 09:41 PM IST

बालाघाट. तेंदुए का शिकार हुआ या वर्चस्व की लड़ाई में दो तेंदुओं की मौत हो गई, अभी यह स्पष्ट नहीं हो पाया है। लेकिन दो अलग-अलग स्थानों में दो तेंदुओं की मौत से वन विभाग में हडकंप मचा हुआ है। मामला जिले के बालाघाट वन परिक्षेत्र अंतर्गत धापेवाड़ा सर्किल के आगरवाड़ा बीट के प्लांटेशन का हैं। जहां से वन अमले ने दो तेंदुए (नर और गर्भवती मादा) का शव बरामद किया है। हालांकि, वन विभाग ने दोनों ही तेंदुओं के शव का पीएम कराकर उनका अंतिम संस्कार कर दिया है। वहीं वन विभाग अब पीएम रिपोर्ट का इंतजार कर रहा है ताकि यह स्पष्ट हो पाए कि दोनों ही तेेंदुओं की मौत कैसे हुई है।
जानकारी के अनुसार जो दो तेंदुए के शव बरामद किए गए हैं वे दोनों शव 2 दिन पूर्व के बताए जा रहे हैं। दोनों मृतक तेंदुए के शव सही सलामत है। दोनों तेंदुए के शव से किसी भी प्रकार के अंग नहीं निकाले गए हैं जिससे कहा नहीं जा सकता की इनका शिकार किया गया हो। लेकिन दो तेंदुए के एक साथ शव मिलना शिकार की ओर इशारा कर रहा है। आशंका जताई जा रही है कि किसी ने पानी या मांस में जहर मिलाकर तेंदुए का शिकार किया होगा और डर की वजह से उसके अंग नहीं निकाले होंगे। दोनों मृत तेंदुए की पंचनामा कार्रवाई कर वरिष्ठ अधिकारियों की उपस्थिति में शव को नष्ट करने की कार्रवाई विभाग द्वारा की गई। वन विभाग को अब दोनों ही तेंदुए के पीएम रिपोर्ट का इंतजार है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आने के बाद ही यह तय हो पाएगा कि इन दोनों तेंदुओं की मौत किस कारण से हुई है। हालांकि वन विभाग ने इस पूरे मामले की जांच शुरू कर दी है। प्रथम दृष्टया वन अमला पूरे मामले को तेंदुए के शिकार जोड़कर देख रहा है। विदित हो कि हाल ही में उकवा क्षेत्र में शिकारियों द्वारा तेंदुए का शिकार किया गया था। जिसमें तेंदुए के कुछ अवशेष गायब थे। वन अमले ने इस मामले में आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार जिस स्थान पर तेंदुए के शव मिले हैं, उस क्षेत्र में पेड़ों पर खरोंच के निशान भी मिले हैं। कुछेक स्थानों पर बाल भी नजर आए हैं। जिसके कारण वन विभाग यह भी संभावना जता रहा है कि दो तेंदुए के बीच वर्चस्व की लड़ाई के लिए संघर्ष हुआ होगा। जिसमें उनकी मौत हो गई। हालांकि, जब तक पीएम रिपोर्ट नहीं आ जाती, तब तक दोनों ही तेंदुओं की मौत का कारण भी स्पष्ट नहीं हो पाता।
मुख्य वन संरक्षक नरेंद्र कुमार सनोडिया ने बताया कि धापेवाडा सर्किल अगरवाड़ा बीट के प्लांटेशन के पास एक नर शावक और एक गर्भवती मादा तेंदुए का शव मिला है। दोनों शव का पीएम कराकर अंतिम संस्कार करा दिया गया है। जब तक पीएम रिपोर्ट नहीं आती तब तक कुछ भी नहीं कहा जा सकता।

Show More
Bhaneshwar sakure Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned