नलजल योजना स्वीकृत फिर भी योजना से वंचित ग्रामीण

तुमाड़ी का ठेकेदार की लापरवाही से ग्रामीण त्रस्त

By: mukesh yadav

Published: 01 Jun 2020, 08:53 PM IST

वारासिवनी। जनपद अंतर्गत ग्राम पंचायत तुमाड़ी में जल संकट गहराने लगा है। ग्रामीणों को पीने का पानी लाने के लिए लंबी दूरी तय करना पड़ रहा है। पानी के लिए करीब एक घंटा हैंडपंप खड़े होकर इंतजार करना पड़ रहा है। पिछली विधानसभा के अंतिम वर्ष के सत्र में क्षेत्र में तुमाड़ी के लिए नल जल योजना स्वीकृत की गई थी। जिसका कार्य वर्तमान तक पूरा नहीं हुआ है। इसी के कारण ग्रामीणों में शासन के प्रति आक्रोश व्याप्त है।
ग्राम पंचायत तुमाड़ी को वर्ष २०१८-१९ में नल जल योजना स्वीकृत हुई थी। ग्राम में पानी की टंकी और घर घर में नल की व्यवस्था की जानी थी। लेकिन ठेकेदार की लापरवाही के चलते बीते करीब ३ वर्ष से उक्त योजना के तहत ग्राम में कुछ जगहों पर पाइपलाइन बिछा दी गई है। वहीं कुछ जगहों पर पाइप लाइन के लिए नाली खोदकर रख दी गई है। पानी टंकी का निर्माण होना था वह भी अधूरा पड़ा है। जिसमें पंप हाउस और पानी टंकी के कालम बनाकर तैयार कर दिए गए हैं। ग्रामीणों को भीषण गर्मी के समय पानी के लिए ग्राम के हैंडपंप, कुए की खाक जानना पड़ रहा है। २०० से ३०० मीटर और किसी को १ किमी दूर से पानी लाना पड़ रही है। आवश्यकताओं के अनुरूप पानी नहीं मिल पा रहा है। ग्रामीणों ने शासन से मांग की है कि उक्त नल जल योजना को जल्द प्रारंभ किया जाए।
वर्सन
गांव में पानी की बहुत बड़ी समस्या है। हैंडपंप पर महिलाएं खड़ी रहती है। जिन्हें १ से २ घंटा इंतजार के बाद एक गुंडी पानी मिलता है। नल जल योजना का कार्य २ साल से बंद है। ऐसे में हैंडपंप एक किमी दूर तक के लोग पानी लेने आ रहे हैं।
उषा पटले, तुमाड़ी

ग्राम में पानी एक समस्या बन चुकी है। नल जल योजना की टंकी का काम अधूरा पड़ा है। पाइप लाइन बिछा दी गई है और लंबे समय से काम चालू नहीं हो रहा है। हैंडपंप से गंदा पानी आता है। शासन से मांग है की ठेकेदार पर उचित कार्रवाई कर निर्माण कार्य चालु किया जाए।
पुरुषोत्तम सोनेकर, ग्रामींण

कोरोना वायरस संक्रमण के कारण लॉकडाऊन लगा है इसलिए पानी टंकी का कार्य बंद है। अधूरे निर्माण कार्य को दो दिन में प्रारंभ कर दिया जाएगा।
मयंक चौबे, ठेकेदार

mukesh yadav Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned