होम क्वॉरंटाइन का पालन नहीं करना ग्रामीणों को पड़ा महंगा

सजा बतौर गांव से बाहर १४ दिनों के लिए रखा क्वॉरंटाइन सेंटर में

By: Bhaneshwar sakure

Updated: 10 May 2020, 07:32 PM IST

बालाघाट. होम क्वॉरंटाइन का पालन नहीं करना और आशा कार्यकर्ताओं के साथ अभद्रता करना तीन ग्रामीणों को महंगा पड़ गया। इन तीनों ही ग्रामीणों को सजा बतौर दूसरे गांव में १४ दिनों के लिए क्वॉरंटाइन सेंटर में रखा गया है। मामला लांजी क्षेत्र का है। ये तीनों ग्रामीण हैदराबाद और छग राज्य के राजनांदगांव से आए थे। बाहर से आने के बाद उनके द्वारा किसी भी प्रकार के नियमों का पालन नहीं किया जा रहा था।
जानकारी के अनुसार तहसील लांजी के ग्राम पंचायत मोहझरी में रविवार को एसडीएम रविंद्र परमार के निर्देश पर 3 ऐसे व्यक्ति जो बाहर से आए थे, को आशा कार्यकर्ताओं के साथ अभद्रता और होम क्वॉरंटाइन का पालन नहीं करने के मामले में दूसरे गांव में १४ दिनों के लिए क्वॉरंटाइन सेंटर में रखा गया है। इन तीनों ही ग्रामीणों को सजा बतौर ग्राम पालडोंगरी के क्वॉरंटाइन सेंटर में रखा गया है। जानकारी के अनुसार संजय पिता दुर्योधन वार्ड क्रमांक १६ और वार्ड क्रमांक १० निवासी लोकेश पिता देलचंद अवसरे हैदराबाद से कुछ दिन पूर्व ही गांव पहुंचे थे। इसी तरह वार्ड क्रमांक ११ निवासी देवीलाल पिता शिवा मिसारे छग राज्य के राजनांदगांव जिले से गांव पहुंचा था। इन तीनों ही ग्रामीणों के द्वारा गांव में होम क्वॉरंटाइन का पालन नहीं किया जा रहा था। साथ ही आंगनबाड़ी कार्यकर्ता के साथ दुव्र्यवहार भी किया गया था। जिसके चलते सजा बतौर इन ग्रामीणों को दूसरे गांव में १४ दिनों के लिए क्वॉरंटाइन सेंटर में रखा गया है। इस कार्रवाई के दौरान लांजी थाना से एसआई बघेल, नायब तहसीलदार सारिका परस्ते उपस्थित रही।

Bhaneshwar sakure Bureau Incharge
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned