जिला चिकित्सालय में मनाया गया विश्व मलेरिया दिवस

विश्व मलेरिया दिवस 25 अप्रैल को जिला अस्पताल में मनाया गया।

By: mukesh yadav

Published: 25 Apr 2018, 08:15 PM IST

बालाघाट. विश्व मलेरिया दिवस 25 अप्रैल को जिला अस्पताल में मनाया गया। विदित होवे कि विश्व मलेरिया दिवस का आयोजन प्रति वर्ष 25 अप्रैल को पुरे विश्व मे मनाया जाता है। इसी प्रकार से जिले में भी विश्व मलेरिया दिवस का आयोजन जिला स्वास्थ्य समिती, फैमिली हेल्थ इंडियाए, कम्युनिटी डेव्हलपमेंट सेंटर बालाघाट के संयुक्त सहयोग से आयोजित किया गया। जिसमें मुख्य रूप से मलेरिया जागरूकता के संबध में आयोजित की गई।
प्रर्दशनी का शुभांरभ मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ मनोज पांडेय द्वारा किया गया तथा प्रर्दशनी को देखकर उसकी सराहना की। इस अवसर पर स्वास्थ्य विभागए जिला मलेरिया विभाग तथा कम्युनिटी डेव्हलपमेंट सेंटर के अधिकारी कर्मचारी, एम्बेड परियोजना के स्टाफ भी उपस्थ्ति थे। गोदरेंज के सहयोग से संचालित एम्बेड परियोजना के तहत विश्व मलेरिया दिवस पर आयोजित इस प्रर्दशनी का मुख्य उद्देश्य मच्छर जनित बीमारियों के उन्नमुलन हेतु जन जागरूकता ज्यादा से ज्यादा लाया जाना है ए ताकि इनसे संबधित बीमारियों का जड़ से खात्मा हो सकें।
इसी अवसर पर एआरटी सेंटर में जिला स्तरीय कार्यशाला का भी आयोजन मुख्य चिकित्सा एंव स्वास्थ्य अधिकारी डॉ मनोज पांडेय की गरिमामय उपस्थिती में संम्पन हुआ। विश्व मलेरिया दिवस के अवसर पर मुख्य अतिथि द्वारा मलेरिया से बचाव एंव उन्नमुलन हेतु सरकार के द्वारा किए जा रहे प्रयासों के बारे में विस्तृत रूप से बताया गया ताकि कार्यशाला उपस्थित प्रतिभागियों से उनका परिचय लेते हुए उनके द्वारा किए जा रहे कार्यो की जानकारी ली गई। इस अवसर पर इंचार्ज एंव अंसिसटेंट मलेरिया अधिकारी श्री एचण्एलण्गौतम द्वारा भी मलेरिया के संबध में चलाए जा रहे कार्यक्रमों में बारें में बताया।
फैमिली हेल्थ इंडिया के ओर से डॉ मनमोहन हरदाह द्वारा बालाघाट जिले में एम्बेड परियोजना के बारे में पावर पांइट प्रजेन्टेशन के माध्यम से विस्तार से बताया गया कि परियोजना मुख्यत: जिले के बैहरएबिरसा एंव परसवाडा के कुल 108 ग्रामों में मलेरिया उनन्मुलन हेतु जनजागरूकता के लिए कम्युनिटी डेव्हलपमेंट सेंटर बालाघाट के साथ कार्य कर रही है। अमीन चाल्र्स निर्देशक कम्युनिटी डेव्हलपमेंट सेंटर बालाघाट द्वारा बताया गया कि इन लक्षित 108 ग्रामों में 25 से 40 परिवारों का कलस्टर बना कर चौपालों के माध्यम सेए घर-घर विजिट कर जनजागरुकता लाए जाने हेतु कार्य किया जा रहा है, ताकि पोषण आहार एवं टिकाकरण दिवस पर एम्बेड परियोजना के कार्यकर्ता आशा कार्यकर्ताओं, एएनएम के साहायता भी करते हंै तथा संस्था द्वारा संचालित अन्य योजनाओं के बारे में भी जानकारी दी गई। इस अवसर पर एम्बेड परियोजना के बालाघाट के प्रोजेक्ट डायरेक्टर वंदना चाल्र्सए भी मुख्य रूप से उपस्थ्ति थे।

mukesh yadav Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned