यूपी के बलिया में सवर्ण-दलितों के बीच हिंसा, दलितों ने कहा बीजेपी को वोट न देने पर हुई पिटाई

सवर्णों ने कहा पहले दलितों ने शुरू की मारपीट, पुलिस बोली घटना का चुनाव से कोई मतलब नहीं।

बलिया. यूपी चुनाव के ठीक बाद बलिया जिले के फेफना में चुनावी रंजिश को लेकर जमकर मारपीट हुई। सवर्णों पर आरोप है कि उन्होंने दलित बस्ती में घुसकर वहां लोगों को मारापीटा। बस्ती मे झोंपड़ी भी फूंकी गई। दलितों का आरोप है कि कमल यानि बीजेपी को वोट न देने को लेकर सवर्णों ने उन्हें मारा-पीटा, तोड़-फोड़ की और आग लगा दी। हालांकि सवर्णों का कहना है कि लड़ाई पहले दलितों ने शुरू की।









मामला बलिया जिले के फेफना का है। यहां के मिड्ढा गांव में दो पक्ष आपस में भिड़ गए। दलित बस्ती में जमकर तोड़-फोड़ हुई और झोंपड़ी भी जलायी गयी। वहां बाइक और गाड़ी भी तोड़ी गयी। घरेलू सामान भी इस मारपीट में बरबाद हो गए।






मामले में सवर्ण और दलितों का कहना है कि उन्हें बीजेपी को वोट न देने के चलते मारा-पीटा गया। यह हमला चुनावी रंजिश में किया गया। उधर सवर्णों ने आरोप को गलत बताया है। उधर इस घटना के बाद वहां मिड्ढा गांव में पैरा मिलिट्री तैनात कर दी गयी है। पुलिस अधीक्षक आरपी सिंह ने इसे चुनावी रंजिश के चक्कर में हुई घटना मानने से इनकार किया है उनका कहना है कि होली के बाद अक्सर ऐसी घटनाएं होती हैं। यह आपसी विवाद का मामला है। उन्होंने दोषियों पर कड़ी कार्रवाई की बात कही है।



रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned