Ayodhya Ka Faisla अयोध्या विवाद का फैसला आज, स्कूल-कॉलेज बंद, पुलिस की अपील, फैसले का करें सम्मान, न खुशी मनाएं न गम

बलिया में आजमगढ़ के डीआईजी ने पुलिस के साथ किया फ्लैग मार्च।

बलिया . पूरे 40 दिन की लगातार मैराथन सुनवायी के बाद आखिरकर वह घड़ी आ ही गयी जिसका देश की जनता को दशकों से इंतजार था। आज यानि शनिवार को सुप्रीम कोर्ट के पांच जजो की बेंच अयोध्या विवाद में अपना फैसला सुनाएगी। फैसले के बाद की परिस्थितियों को संभालने के लिये सरकार से लेकर शासन-प्रशासन, धर्मगुरु, बुद्धिजीवी और राजनेता सब जुट गए हैं। उत्तर प्रदेश सरकार ने फैसले को मद्देनजर रखते हुए बड़े इंतजाम किये हैं। सरकार का कहना है कि हम फैसले के लिये पूरी तरह से तैयार हैं। पुलिस लगातार मार्च करके लोगों से शांति बनाए रखने की अपील कर रही है। पुलिस का कहना है कि सोशल मीडिया पर खास नजर रखी जा रही है, किसी भी कीमत पर अफवहें फैलने नहीं दी जाएंगी। लोगों से भी अफवहों पर ध्यान न देने की अपील की गयी है।

बलिया में फैसले की पूर्व संध्य पर रात में पुलिस ने गश्त किया और लोगों से शांति व्यवस्था बनाए रखने की अपील किया। इसक साथ ही पुलिस ने अफवह फैलाने वालों को चेतावनी भी दी है। कहा है कि फैसले के विरोध या समर्थन में किसी तरह की कोई टिप्पणी न करें। आजमगढ़ के डीआईजी मनोज कुमार तिवारी ने कहा कि किसी भी अनफॉर्चुनेट सिचुएशन से निपटने के लिये हमारे पास पर्याप्त सुरक्षा बल है। पीएसी से लेकर अर्धसैनिक बल तैनात किये गए हैं।

कहा कि जो भी सौहार्द्र बिगाड़ने की कोशिश करेगा उसके खिलाफ एनएसए की कार्रवाई की जाएगी। ऐसे किसी भी व्यक्ति को बख्शा नहीं जाएगा। हालांकि उन्होंने साथ ही यह भी जोड़ा कि प्रशासन ने लोगों के साथ बैठक कर उनसे फैसले का सम्मान करने का आह्वान किया गया है। हालांकि हम हर स्थिति से निपटने के लिये तैयार हैं।

By Amit Kumar

Show More
रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned