बीजेपी विधायक का दावा, मैं इतना चरित्रवान और ईमानदार कि गंगा और घाघरा अपनी धारा बदल देंगे

बीजेपी विधायक का दावा, मैं इतना चरित्रवान और ईमानदार कि गंगा और घाघरा अपनी धारा बदल देंगे
भाजपा विधायक सुरेन्द्र सिंह

Mohd Rafatuddin Faridi | Updated: 01 Jul 2019, 05:43:15 PM (IST) Ballia, Ballia, Uttar Pradesh, India

  • बलिया में कटान को लेकर हुए सवाल पर बोले बीजेपी विधायक।

बलिया . हरियाणवी डांसर सपना चौधरी के कांग्रेस में जाने की खबरें आने के बाद उन्हें नाचने वाली बताने और बाद में बीजेपी के साथ आने पर अपनी बहन कहने वाले भाजपा विधायक सुरेन्द्र सिंह अब अपने चरित्रवान और ईमानदार होने का ढोल पीट रहे हैं। उन्होंने तो यहां तक दावा कर दिया है कि उनके चरित्र और ईमानदारी में इतना दम है कि गंगा और घाघरा अपनी धारा बदल देगी।

 

 

सुरेन्द्र सिंह वही विधायक हैं, मायावती से लेकर प्रियंका गांधी और राहुल गांधी से लेकर सोनिया गांधी तक के लिये अमर्यादित शब्दों का इस्तेमाल किया है और आए दिन अपने विवादित बयानों से सुर्खियों में बने रहते हैं। अब वह खुद को चरित्रवान और ईमानदार बता रहे हैं और उनका दावा है कि उनके चरित्र और ईमान के दम पर बारिश के दिनों में उनके इलाके में होने वाला कटान नहीं होगा, गंगा और घाघरा दोनों अपना रास्ता बदलने पर मजबूर हो जाएंगी। हालांकि विधायक जी ने यह नहीं बताया कि उनका चरित्र और ईमानदारी पिछले साल क्यों नहीं काम कर पायी जब उनके विधानसभा क्षेत्र में भयंकर कटान हुआ।

 

विधायक जी ने कहा कि पिछले वर्ष बंधे में लगने वाली समाग्री में कमी नहीं थी। कटान में केवल बंधा कटा संस्थान बच गए। उन्होंने दावा किया है कि इस बार कटान नहीं होगी। इस बार संसाधन की कोई कमी नहीं। कहा कि मेरे चरित्र और ईमान यदि दम होगा तो गंगा और घाघरा अपना रास्ता बदल देंगी।

 

चमकी बुखार पर बोले, 80 प्रतिशत डॉक्टर राक्षस

बीजेपी विधायक सुरेन्द्र सिंह ने बिहार में चमकी बुखार से 150 से अधिक बच्चों की मौत पर नितीश सरकार पर निशाना साधा है। उनके निशाने पर डॉक्टर भी रहे। उन्होंने कहा है कि चमकी बुखार मामले में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार फेल हैं और बलिया के 80 प्रतिशत डॉक्टरो राक्षस बताया है। विधायक ने कहा कि चिकित्सकों को गरीब मजबूर से काई मतलब नहीं। उन्हें अगर मतलब है तो सिर्फ पैसे से। दावा किया कि मुझे हर महीने अपने विधानसभा के दर्जन भर से अधिक गरीब मजदूरों का खुद दबाव बनाकर इलाज कराना पड़ता है।

By Amit Kumar

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned