पंखुड़ी पाठक बोलीं, सीएम योगी ने गोरखपुर हादसे से ध्यान हटाने को दिया जनमाष्टमी मनाने वाला बयान

पंखुड़ी पाठक बोलीं, सीएम योगी ने गोरखपुर हादसे से ध्यान हटाने को दिया जनमाष्टमी मनाने वाला बयान

Mohd Rafatuddin Faridi | Publish: Aug, 19 2017 10:34:00 PM (IST) Ballia, Uttar Pradesh, India

बलिया पहुंचीं सपा नेता पंखुड़ी पाठक, रागिनी के परिवार से मिलकर कहा हम लड़ेंगे आपकी लड़ाई।

बलिया. सपा नेता पंखुड़ी पाठक ने शनिवार को बलिया पहुंचकर वहां मौत के घाट उतार दी गयी रागिनी के परिवार से मिलीं। उन्होंने परिवार को ढाढस बंधाया और भरोसा दिलाया कि सपा उनके साथ खड़ी है और उन्हें न्याय दिलाकर रहेगी। इस दौरान उन्होंने कहा कि बीजेपी केवल प्रोपगेंडा के लिये अखिलेश सरकार को अपराध और महिलाओं के साथ होने वाले अपराध के नाम पर बदनाम करती थी। सच तो ये है कि यूपी में इस वक्त सबसे ज्यादा अपराध हो रहे हैं। रात तो क्या भाजपा राज में लड़कियां दिन में भी सुरक्षित नहीं हैं। रागिनी का प्रकरण इसका जीता जागता ताजा सुबूत है।

 

 

पंखुड़ी ने मीडिया के सवालों का जवाब देते हुए कहा कि पिछली अखिलेश सरकार को बदनाम करने के लिये भाजपा ने अपराध को लेकर कई बार झूठा प्रचार किया। जबकि एनसीआरबी के आंकड़े उस पिछली सरकार के दौरान यह बताते थे कि तब भी भाजपा शासित राज्यों में यूपी से ज्यदा अपराध होते हैं। पर अब यूपी में भी भाजपा सरकार है और उत्तर प्रदेश में अपराध सबसे ज्यादा हो रहा है और महिलाओं के प्रति अपराध का तो कहना ही नहीं। चार महीने में ही यूपी में महिलाओं के प्रति अपराध और बलात्कारइ चारगुना तक अधिक बढ़ चुके हैं।

 

 

पंखुड़ी ने एक सवाल के जवाब में कहा कि यूपी में महिला अपराध आम हो गाय है। कहीं लड़कियां जलायी जा रही हैं तो कहीं उनके साथ छेड़छाड़ हो रही है। हमें यह नहीं भूलना चाहिये कि ये वही सरकार है जिसने बेटी बचाओ और बेटी पढ़ाओ की बात कही थी। चुनाव में नारा दिया था कि महिलाओं के सम्मान में भाजपा मैदान में। यही नहीं मुझे यह भी याद है कि पीएम नरेन्द्र मोदी ने अपने भाषण में पूछा था कि क्या आपकी लड़कियां रात में घर से बाहर निकल सकती हैं। पर आज भाजपा राज है और इस वक्त लड़कियां रात तो क्या सुबह या दोपहर में भी घर से निकल नहीं सकतीं। रागिनी का केस इसका ताजा सुबूत है।

 

 

पंखुड़ी ने कहा कि वह रागिनी के परिवार से भी मिलीं और उन्हें इंसाफ दिलाने के लिये हर कदम पर उनकी लड़ाई लड़ने का भरोसा दिलाया। कहा कि रागिनी के परिवार की एक ही मांग है कि उनकी बच्ची को इंसाफ मिले। पर उन्हें इस बात का भी डर है कि आरोपी सत्ताधारी दल से मिले हुए हैं और उन्हें कुछ ढील दी जा सकती है। सपा कार्यकर्ता उसकी लड़ाई लड़ रहे हैं।

 

पंखुड़ी ने सीएम योगी के जनमाष्टमी मनाने को लेकर दिये गए बयान के सवाल पर कहा कि ये बयान गोरखपुर की घटना से ध्यान हटाने के लिये दिया गया। पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने तो प्रेस कांफ्रेंस कर सवाल किया है कि योगी जी बताएं कि कब थानों में जनमाष्टमी नहीं मनायी गयी या पिछले 100 सालों में कभी ऐसा हुआ हो।

by  AMIT KUMAR

 

 

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned