पुलिस अधीक्षक ने किया बड़ा फेर-बदल, इन्हें सौंपी थाने की कमान

इन्हें मिला इस थाने का चार्ज, पुलिस अधीक्षक ने दिया आदेश

By: sarveshwari Mishra

Published: 04 Jan 2018, 01:02 PM IST

बलिया. यूपी में क्राइम लगातार बढ़ रहा है। क्राइम कंट्रोल करने में यूपी पुलिस पूरी तरह से फेल नजर आ रही है। जिसे देखते हुए बलिया पुलिस अधीक्षक ने बड़ा फेर-बदलाव किया है। पुलिस अधीक्षक अनिल कुमार ने जनपद की कानून व्यवस्था को चुस्त-दुरुस्त रखने के लिए तीन थानाध्यक्षों के कार्यक्षेत्र में देर रात को बदलाव कर दिया। जिनमें से कुछ उपनिरीक्षकों को थानों की कमान सौंप दी है। साथ ही कुछ इंचार्जो को पुलिस कार्यालय से अटैच कर दिया है।

यह भी पढ़ें-शौचालय निर्माण के लिए चेक आने के बाद भी बैंक और विभागों का चक्कर काट रहा यह लाभार्थी

इन्हें मिला इस थाने का चार्ज, पुलिस अधीक्षक ने दिया आदेश

बता दें कि पुलिस अधीक्षक अनिल कुमार ने सत्येंद्र कुमार राय को बांसडीह रोड थाना इंचार्ज का पद सौंपा है। ये पहले ओसनगंज में थे उसके बाद इनकी पोस्टिंग हनुमानगंज चौकी पर हुई। अब इन्हें बलिया के बांसडीह का चार्ज सौंपा गया है। इन्हें पहली बार SO पोस्ट का चार्ज मिला है। इनकी हर थाने में काफी अच्छी छवि रही है।

यह भी पढ़ें- एसडीएम ने मारा छापा, सरकारी अनाज के चार मजदूरों को रंगे हाथ किया गिरफ्तार

 


वहीं फेफना थाने में तैनात उपनिरीक्षक राम दिनेश तिवारी को नगरा थाने की कमान व कोरंटाडीह चौकी इंचार्ज जगदीश प्रसाद को भीमपुरा व पुलिस लाइन से विवेक पांडेय को दोकटी थानाध्यक्ष बनाया है। इसी क्रम में प्रभारी निरीक्षक रेवती को उपाधीक्षक पद पर प्रोन्नति होने पर पुलिस लाइन से अटैच किए हैं।

यह भी पढ़ें-जल निगम के जेई ने खाया जहर! इलाज के दौरान मौत, एक्सईएन बोले कोई विभागीय दबाव नहीं था

 

वहीं दोकटी थानाध्यक्ष अशोक कुमार यादव को क्राइम ब्रांच में तैनाती की है। दोकटी थाने पर पुलिस लाइन से विवेक पांडेय, नगरा थाना से सुरेश सिंह को रेवती, भीमपुरा थाना से सत्यप्रकाश को पकड़ी व पकड़ी थाना से बच्चे लाल को पकड़ी थाने से दुबहड़ थाने पर तैनाती। पुलिस अधीक्षक अनिल कुमार ने आशा जताया कि इस बदलाव से काफी हद तक कानून व्यवस्था में सुधार होगा।

By- Anil Kumar

sarveshwari Mishra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned