झोलाछाप महिला चिकित्सिका की लापरवाही से जच्चा-बच्चा की मौत, अस्पताल में हुई तोड़-फोड़, हंगामा

पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया

By: sarveshwari Mishra

Published: 07 Jan 2019, 01:52 PM IST

बलिया. सिकंदरपुर थाना क्षेत्र के जलालीपुर चट्टी के पास झोलाछाप महिला चिकित्सक की लापरवाही से जच्चा-बच्चा दोनों की मौत हो गई। जच्चे-बच्चे की मौत के बाद परिजन हंगामा और तोड़-फोड़ करना शुरू कर दिए। सूचना पर पहुंची पुलिस ने परिजनों को समझा-बुझाकर कार्रवाई करने का आश्वासन दिया। जिसके बाद परिजन शांत हुए और चिकित्सक के विरूद्घ तहरीर दिए। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।


बता दें कि सिकंदरपुर थाना क्षेत्र के नरहनी तुर्कवालिया निवासी मोहन वर्मा की पुत्री प्रियंका (24) की शादी पकड़ी थाना क्षेत्र के डरारी गांव निवासी जय प्रकाश वर्मा से हुई थी। प्रियंका अपनी मायके में आई थी। रविवार की दोपहर प्रसव पीड़ा होने पर प्रियंका को किसी आशा बहू के द्वारा सिकंदरपुर स्थित जलालीपुर चट्टी के समीप झोलाछाप डॉ. मालती देवी के यहां ले जाया गया। जहां प्रसव के दौरान बच्चा फंस गया। आनन-फानन में चिकित्सक मालती देवी द्वारा जच्चे-बच्चे को बस स्टेशन चौराहा के समीप दीप लोक अस्पताल में डॉ. रश्मि राय के यहां ले जाया गया, जहां इलाज के दौरान जच्चे-बच्चे की मौत हो गई। परिजन जच्चे-बच्चे को लेकर सामुदायिक स्वास्थ केंद्र सिकंदरपुर पहुंचे, जहां चिकित्सक ने दोनों को मृत घोषित कर दिया।


परिजन शव को लेकर जलालीपुर स्थित झोलाछाप चिकित्सक के यहां पहुंचकर हंगामा शुरू कर दिए। जैसे ही यह जानकारी प्रभारी निरीक्षक राम सिंह को मिली घटनास्थल पर पहुंच गए और परिजनों को समझा-बुझाकर शांत कराया और शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। उधर, झोलाछाप डॉक्टर अपने आवास पर ताला बंद कर फरार हो चुकी थी। वहीं पुलिस ने आवास पर ताला जड़ दिया।

BY- Amit Kumar

sarveshwari Mishra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned