script5 माह में 191 सड़क दुर्घटनाएं हुईं, 98 लोगों ने गंवाई जान, 186 घायल हुए, थम नहीं रहा मौतों का सिलसिला | Patrika News
बालोद

5 माह में 191 सड़क दुर्घटनाएं हुईं, 98 लोगों ने गंवाई जान, 186 घायल हुए, थम नहीं रहा मौतों का सिलसिला

बालोद जिले की सड़कों पर अगर चलना है तो जरा संभलकर चलिए। क्योंकि सड़कों पर अब मौत के वाहन दौड़ रहे हैं। इन दिनों लगातार सड़क दुर्घटना से सड़कें खून से लाल हो रही हैं। सड़क दुर्घटना रोकने पुलिस विभाग लगातार प्रयास व जागरूकता अभियान चला रहा है।

बालोदJun 08, 2024 / 10:50 pm

Chandra Kishor Deshmukh

बालोद जिले की सड़कों पर अगर चलना है तो जरा संभलकर चलिए। क्योंकि सड़कों पर अब मौत के वाहन दौड़ रहे हैं। इन दिनों लगातार सड़क दुर्घटना से सड़कें खून से लाल हो रही हैं। सड़क दुर्घटना रोकने पुलिस विभाग लगातार प्रयास व जागरूकता अभियान चला रहा है।

Awareness campaign बालोद जिले की सड़कों पर अगर चलना है तो जरा संभलकर चलिए। क्योंकि सड़कों पर अब मौत के वाहन दौड़ रहे हैं। इन दिनों लगातार सड़क दुर्घटना से सड़कें खून से लाल हो रही हैं। सड़क दुर्घटना रोकने पुलिस विभाग लगातार प्रयास व जागरूकता अभियान चला रहा है। लगातार सड़क दुर्घटनाओं को देखते हुए जिला प्रशासन व पुलिस विभाग जिलेभर के चौक-चौराहों में यातायात जागरूकता संबंधित बैनर पोस्टर लगा जा रहा है। वहीं इस विषय पर कलेक्टर ने बैठक लेकर भी दुर्घटना रोकने पर पहल करने के निर्देश दिए हैं। एक आंकड़े के मुताबिक बीते पांच माह में अभी तक 191 सड़क दुर्घटनाएं हुई हैं, जिसमें 98 लोगों की मौत हुई और वहीं 186 लोग घायल हुए हैं।

बीते मई माह में ही 20 लोगों की हुई मौत

यातायात विभाग से मिले आंकड़े के मुताबिक बीते मई माह में ही 42 सड़क दुर्घटनाओं में 20 लोगों की मौत हुई है। वहीं 40 लोग घायल हुए हैं। यातायात विभाग लगातार वाहन चालकों को जागरूक कर रहा है।

दुर्घटना को लेकर कलेक्टोरेट में बैठक

बढ़ती सड़क दुर्घटनाओं पर रोक लगाने को लेकर जिला प्रशासन ने भी विगत दिनों कलेक्टरेट में जिम्मेदार अधिकारियों की बैठक ली, बैठक में कई दिशा-निर्देश दिए गए।

अधिकतर दुर्घटना रात के समय, शराब व तेज रफ्तार वाहन चलाने के कारण

मिली जानकारी के मुताबिक जिले में सड़क दुर्घटनाओं के आंकड़ों को देखा जाए तो जिले की सड़कों पर हो रही बड़ी सड़क दुर्घटना अक्सर रात के समय हो रही है। रात में शराब पीकर वाहन चलाना तथा तेज रफ्तार वाहन चलाना भी सड़क दुर्घटना होने का एक बड़ा कारण है।

यह भी पढ़ें

गन्ने का समर्थन मूल्य बढ़ाने और 200 रुपए बोनस के लिए किसानों ने दिया धरना

सबसे ज्यादा सड़क दुर्घटना मौत मार्च में, 31 लोगों की हुई

पुलिस विभाग के आंकड़ों के मुताबिक जिले में अगर सबसे ज्यादा मौतों की बात करें तो इस साल मार्च महीने में हुई है। मार्च माह में 50 सड़क दुर्घटना में 31 लोगों की मौत व 51 लोग घायल हुए।

जानें इस साल कितनी हुई सड़क दुर्घटना

माह – दुर्घटना – मौत – घायल
जनवरी – 34 – 18 – 30
फरवरी – 28 – 16 – 32
मार्च – 50 – 31 – 51
अप्रैल – 37 – 13 – 33
मई – 42 – 20 – 40
कुल – 191 – 98 – 186

यह भी पढ़ें

पांच माह बाद होंगे नगरीय निकाय चुनाव, शहर में कांग्रेस के लिए जीतना आसान नहीं

लोगों को जागरूक करने का प्रयास किया जा रहा

यातायात प्रभारी बालोद राकेश ठाकुर ने कहा कि समय-समय पर जागरूकता अभियान चलाकर लोगों को जागरूक करने का प्रयास किया जा रहा है। वहीं होर्डिंग फ्लेक्स, बैनर पोस्टर लगाकर यातायात नियम के प्रति लोगों को जागरूक कर रहे हैं। वहीं लापरवाह वाहन चालकों के खिलाफ चालानी कार्रवाई की जाती है। लोगों से अपील है कि वाहन धीमी गति से चलाएं व यातायात नियम के तहत वाहन चलाएं।

Hindi News/ Balod / 5 माह में 191 सड़क दुर्घटनाएं हुईं, 98 लोगों ने गंवाई जान, 186 घायल हुए, थम नहीं रहा मौतों का सिलसिला

ट्रेंडिंग वीडियो