महिला बाल विकास मंत्री के गृह जिले में 64.92 लाख का घोटाला, आंगनबाड़ी केंद्रों के लिए खरीदी घटिया हैंडवॉश मशीन

जिला पंचायत बालोद के पूर्व अध्यक्ष व भाजपा नेता देवलाल ठाकुर ने जिला महिला बाल विकास विभाग में खनिज न्यास निधि में 64.92 लाख के घोटाले का आरोप लगाया है।

By: Dakshi Sahu

Published: 29 May 2021, 08:25 PM IST

बालोद/डौंडीलोहारा. जिला पंचायत बालोद के पूर्व अध्यक्ष व भाजपा नेता देवलाल ठाकुर ने जिला महिला बाल विकास विभाग में खनिज न्यास निधि में 64.92 लाख के घोटाले का आरोप लगाया है। उन्होंने जिला भाजपा कार्यालय में पत्रवार्ता ली। दस्तावेज के साथ दावा किया कि जिले के 1524 आंगनबाडी केंद्रों में नियम विरुद्ध हैंडवाश मशीन की खरीदी की गई, जो गुणवत्ताहीन है।

राज्यपाल को सौंपेंगे ज्ञापन
साल 19-2020 में इस हैंडवॉश उपकरण की खरीदी खनिज न्यास निधि से की गई, लेकिन आंगनबाड़ी खुला ही नहीं है और सप्लाई की गई सामग्री बिना उपयोग के ही खराब हो गई है। उन्होंने प्रदेश की महिला बाल विकास मंत्री अनिला भेडिय़ा के जिले में हुई इस गड़बड़ी पर सवाल उठाए हैं। उन्होंने कहा कि जिले के आदिवासी विकासखंड डौंडी में सबसे ज्यादा दुर्गति हुई है। 64 लाख 92 हजार 240 रुपए की इस खरीदी की सही जांच एवं दोषियों पर उचित कार्रवाई के लिए राज्यपाल अनुसुइया उइके को ज्ञापन सौंपा है।

यह मेरे कार्यकाल का मामला नहीं
मामले में जिला महिला एवं बाल विकास अधिकारी एचके राठौर ने कहा कि यह मेरे कार्यकाल का मामला नहीं है। इसकी फाइल मेरे पास है। खनिज न्यास निधि से खरीदी हुई है। खरीदी के समय किस नियम के तहत हुई, इसकी जानकारी नहीं है। यह सही है कि कई आंगनबाड़ी केंद्रों में खरीदे गए हैंडवॉश उपकरण खराब हो चुके हैं। कई जगह उपयोग किया जा रहा है।

स्तरहीन सामान की सप्लाई, इसलिए टूटा
बालोद जिले के 1524 आंगनबाड़ी केंद्रों में सप्लाई किए गए सामानों की गुणवत्ता पर भी सवाल उठाए हैं। हैंडवॉश उपकरण की कीमत 4262 रुपए बताई जा रही है। जिसमें एक छोटी टंकी, नल पाइप व एंगल शामिल है। यह समान आंगनबाड़ी केंद्र में ही बिना उपयोग के खराब हो गया है। भाजपा नेता देवलाल ठाकुर ने बताया कि खराब गुणवत्ता के कारण ही यह सामग्री टूट गई है। कई केंद्रों में यह सामग्री नालियों व कचरे में पड़ी हुई है।

एक माह के टेंडर को दस दिन में पूरा
भाजपा नेता देवलाल ठाकुर ने आरोप लगाया कि एक माह के टेंडर प्रक्रिया को मात्र 10 दिन में पूरा कर दिया। अपने चहेते को खरीदी करने व आंगनबाड़ी केंद्र में सप्लाई करने का काम दे दिया। नियम विरुद्ध क्यों अधिकारी कार्य कराते हैं। अधिकारियों ने बालोद के निकिता नेट कॉम मरार पारा को समान सप्लाई का काम दिया। अधिकारियों की सांठगांठ से खराब व गुणवत्ताहीन समानों की सप्लाई कराई गई। जब निविदा राज्य स्तरीय प्रकाशित की गई तो खरीदी के लिए जिला क्रय समिति ने कौन से हैंड मशीन क्रय करने व किस कम्पनी या ब्रांड का उल्लेख अपने निविदा में किया था। राज्य स्तरीय प्रकाशन में मात्र 3 निविदा ही प्राप्त हुई। बालोद शहर अंदर से बालाजी एजेंसी सदर रोड बालोद, निकिता नेटकाम मरारपारा बालोद व हिम्मतलाल जैन सदर रोड बालोद।

भाजपा नेता देवलाल ठाकुर ने कहा कि लगभग 1524 आंगनबाड़ी केंद्रों में हैंडवॉशिंग यूनिट सप्लाई की बात कही जा रही है। कई आंगनबाड़ी केंद्रों में सामान पहुंचा ही नहीं और टूट गया है। इसके लिए टॉक्सिक और नॉनटॉक्सिक प्रमाण पत्र की आवश्यकता होती है। लेकिन उस प्रमाण पत्र को दरकिनार करते हुए इस तरह की सामग्रियों की सप्लाई की गई है, जो बच्चों के लिए बिल्कुल भी उचित नहीं है। यह लोहे की चादर और पाइप से बनाया गया है। बच्चों को नुकसान पहुंचा सकता है।

एक से डेढ़ हजार का सामान 4262 में खरीदा
भाजपा नेता देवलाल ठाकुर ने कहा कि सांठगांठ कर चहेते फर्म को काम दिया गया है, जिन सामान की सप्लाई की गई है, उसे यदि फेब्रिकेशन कार्य किया जाता है तो उसकी लागत लगभग 1000 आएगी, लेकिन यहां 4262 के हिसाब से भुगतान किया गया है। 3262 रुपए के हिसाब से लगभग 50 लाख रुपए अधिक भुगतान किया गया है जो बड़ा भ्रष्टाचार है।

हैंडवॉशिंग यूनिट की लैब टेस्टिंग भी नहीं की
बड़ी अजीब बात यह है कि इन उपकरणों की खरीदी की गई, लेकिन उसकी जांच नहीं की। एक तहसीलदार को कलेक्टर का प्रतिनिधि बनाकर चयन समिति का सदस्य बना दिया गया। उनसे सप्लाई करा दी गई। वर्तमान में हर आंगनबाड़ी केंद्रों में इस हैंडवॉश मशीन की दयनीय स्थिति साफ देखी जा सकती है।

भाजपा नेता देवलाल ठाकुर ने दावा किया है कि जिले में खनिज न्यास निधि की बंदरबांट की जा रही है। जहां उपयोग किया जाना चाहिए, वहां उपयोग ही नहीं हो रहा है। जिस ब्लॉक से जिले को सबसे ज्यादा राजस्व मिल रहा है, उस ब्लॉक का विकास छोड़ सिर्फ खनिज न्यास की राशि का बेवजह खर्च की जा रही है। इस मामले की सही जांच कर मामले में दोषियो पर कड़ी कार्रवाई की जाए। एचके राठौर, जिला महिला बाल विकास अधिकारी ने बताया कि खनिज न्यास निधि से जिले के 1524 आंगनबाड़ी केंद्रों में हैंडवॉश सामग्री की सप्लाई की गई है। प्रक्रिया नियम के तहत की गई। यह जरूर है कि कई आंगनबाड़ी केंद्रों में सामग्री टूट गई है। कई जगह उपयोग हो रहा है। गड़बड़ी का आरोप लगाना गलत है।

Dakshi Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned