लाखों के काम से सब अनजान

लाखों के काम से सब अनजान
chek dams are being raised questions about construction costs.

सहायक कृषि भूमि संरक्षण विभाग द्वारा तैयार किए जा रहे 70 लाख के सात चेक डेम के मामले में बड़ी गड़बड़ी की आशंका है।

बालोद/गुंडरदेही. सहायक कृषि भूमि संरक्षण विभाग द्वारा तैयार किए जा रहे 70 लाख के सात चेक डेम के मामले में बड़ी गड़बड़ी की आशंका है। इस कार्य को कराने वाले विभाग के जिम्मेदार अधिकारी भले ही टेंडर व कोटेशन प्रक्रिया को नजरंदाज कर दिए हैं, लेकिन जिला पंचायत के कृषि विभाग की स्थायी समिति ने निर्माण पर आपत्ति की है।

गुंडरदेही ब्लॉक में चल काम
समिति के सभापति का कहना है कि विभाग में टेंडर प्रक्रिया नहीं होती, लेकिन बिना कोटेशन लाखों का कार्य कराना संदेहजनक है। कृषि विभाग दुर्ग कार्य एजेंसी होने के कारण बालोद जिले के अधिकारी इस कार्य से अनजान हैं। यह विवादित कार्य गुंडरदेही ब्लॉक में चल रहा है।

डेढ़ माह में पूरा हो जाएगा काम
भिलाई पत्रिका के 15 फरवरी के अंक में इस खबर को प्रमुखता के साथ प्रकाशित कर जिला प्रशासन का ध्यान खींचा गया था। मामले में जिला पंचायत सदस्य व भूमि संरक्षण विभाग के सभापति आलोक चंद्राकर ने जानकारी दी कि सहायक कृषि भूमि संरक्षण विभाग से जुड़े अधिकारी सारे नियम को ताक में रखकर समिति को बिना पूछे इतने बड़े कार्य को छिपे तौर पर अंजाम दे रहे हैं।

10 नहीं 4 लाख में तैयार हो जाते हैं ऐसे डेम
चंद्राकर ने कहा इस मुद्दे को जिला पंचायत की सभा में उठाया जाएगा। पता चला है कि एक हफ्ते के अंदर 20 लाख के कार्य को पूर्ण कर लिया गया है। खुटेरी व खर्रा में चेक डेम बनकर तैयार हो गया है। अर्थात 70 लाख का कार्य डेढ़ माह में पूरा हो सकता है। इधर विभाग से जुड़े एक इंजीनियर का कहना है चेक डेम तीन से चार लाख में बन सकता है, लेकिन इसमें 10 लाख खर्च किया जा रहा है, जो आश्चर्यजनक है। दो साल पूर्व मुंदेरा में करीबन तीन लाख में चेक डेम तैयार हुआ था।

बोर्ड में नहीं दी कोई जानकारी
इधर निर्माण स्थल पर लगाए गए सूचना बोर्ड में चेक डेम की लंबाई, चौड़ाई, उंचाई का उल्लेख नहीं है। किसमें कितना खर्च होना है, मजदूरों का भुगतान कितना किया जाना है यह भी उल्लेख नहीं है। विभाग के अधिकारी इस कार्य में शासन के नियम को ताक में रख दिया है। मटेरियल सप्लाई करने वाले ठेकेदारों से कोटेशन लेना जरूरी नहीं समझा गया है। जबकि शासकीय अन्य निर्माण कार्यों में पूरी जानकारी दी जाती है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned