मां मेरा क्या कसूर, मुझे इस हालात में क्यों छोड़ दिया?

जिला मुख्यालय में बुधवार को एक मां की ममता शर्मसार हो गई। जहां एक मां ने अपने नवजात बच्ची को जन्म देने के बाद खेत में छोड़कर चली गई।

बालोद. जिला मुख्यालय में बुधवार को एक घटना से मां की ममता शर्मसार हो गई। जहां एक मां ने अपने नवजात बच्ची को जन्म देने के बाद ही खेत में छोड़कर चली गई। पर उस मां को अपने नवजात पर दया नहीं आई। अभी तक इस बच्चे की किसी ने सुध नहीं ली। वर्तमान में बच्चे को जिला अस्पताल के संरक्षण में दुर्ग जिला अस्पताल रेफर किया गया है।

महिलाएं कोसती रही बच्ची की मां को
यह घटना नगर के आमापारा की है जहां शाम 4 बजे खेत में मिले नवजात से हड़कंप मच गया। मोहल्लेवाशियों ने खेत पर ही रोते हुए नवजात की किलकारी सुनी, तो पूरा मोहल्ला इस खेत में पहुंच गया। लोगों ने इसकी सूचना स्वास्थ्य विभाग को दी, जिसके बाद आमापारा वार्ड के पार्षद सुनीता मनहर के पति बल्ला मनहर ने नवजात को संजीवनी 108 के माध्यम से जिला अस्पताल लाया। इस घटना को देखते ही उपस्थित कई मां की आंखें ही नम हो गईं, तो कई महिलाएं बच्ची की मां को कोसती रही।

जिला अस्पताल दुर्ग किया रेफर
बच्ची की स्थिति को देखते हुए यह पता चला कि बच्ची हाल ही में जन्म ली है और इसकी मां इस बच्ची को जन्म देते ही छोड़कर चली गई। बच्ची को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जिसे स्वास्थ्य जांच के बाद विशेष देख-रेख में स्वास्थ्य विभाग ने दुर्ग जिला अस्पताल रेफर कर दिया है।

आमापारा खरखरा केनाल के पास खेत में मिली बच्ची
स्वास्थ्य विभाग के मुख्य चिकित्सा अधिकारी सूर्यप्रसाद सक्सेना ने चिकित्सकों व नर्सों को बच्ची के स्वास्थ्य के प्रति विशेष ध्यान देने की निर्देश दिए हैं। इधर जब पुलिस को इस मामले की जानकारी मिली, तो वह तत्काल नवजात बच्ची की मां की तलाश शुरू कर दी है। थाना प्रभारी रंगी ने बताया आमापारा खरखरा केनाल के पास नवजात बच्ची खेत पर पड़ी मिली है, पर बच्ची कितने दिन की है यह पता नहीं है। अभी बच्ची की मां की तलाश की जा रही है।
Satya Narayan Shukla Desk/Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned