बर्ड फ्लू: बालोद के पोल्ट्रीफॉर्म में एक साथ 150 मुर्गियों मौत, इधर जारी है कौवों के मरने का सिलसिला

जिले के ग्राम गिधाली के पोल्ट्रीफॉर्म में एक साथ 150 मुर्गियों की मौत से दहशत फैल गई है। पशु चिकित्सा विभाग को भी कुछ समझ नहीं आ रहा है आखिर लगातार कौए और मुर्गियों की मौत कैसे हो रही है।

By: Dakshi Sahu

Published: 10 Jan 2021, 01:22 PM IST

बालोद. जिले में लगातार कौए और मुर्गियों की मौत से हड़कम्प है। बीते दिनों ग्राम पोंडी में पहली बार उड़ते चार कौए की मौत की खबर मिली थी। उसके बाद दल्लीराजहरा में दो दिनों में 20 कौए और जिला मुख्यालय के संजय नगर में दो कौए की मौत के बाद जिले के ग्राम गिधाली के पोल्ट्रीफॉर्म में एक साथ 150 मुर्गियों की मौत से दहशत फैल गई है। पशु चिकित्सा विभाग को भी कुछ समझ नहीं आ रहा है आखिर लगातार कौए और मुर्गियों की मौत कैसे हो रही है।

शनिवार को भी कौए और मुर्गियों की मौत का सिलसिला जारी रहा। जिसकी जानकारी के बाद जिला पशु चिकित्सा विभाग की टीम भी घटना स्थल पहुंची। मृत मुर्गियों की जांच की गई। हालांकि विभाग ने 10 मृत मुर्गियों का सैम्पल जांच के लिए भेजा है। सहायक पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ. टीडी देवांगन ने कहा कि अभी इस मामले में कुछ नहीं कहा जा सकता कि आखिर जो मुर्गियां मरी हैं, वह किस वजह से मरी हैं। जांच रिपोर्ट आने के बाद ही कुछ कह पाएंगे। जिले में लगातार मुर्गियों और कौए की मौत हो रही है, लेकिन पश ुचिकित्सा विभाग के उपसंचालक आरएस मौर्य फोन रिसीव नहीं कर रहे हैं। न ही कोई जानकारी दे रहे हैं।

विभाग को इंतजार है जांच रिपोर्ट का
एक तरफ जहां जिले में लगातार कौए और मुर्गियों की मौत हो रही है, वहीं दूसरी ओर तीन दिन पहले ग्राम पोंडी में मरे तीन कौए की जांच रिपोर्ट भोपाल लैब से अभी तक नहीं आई है। ऐसे में और चिंता बढ़ गई है। पशु चिकित्सा विभाग का कहना है कि रिपोर्ट आने के बाद ही पता चलेगा आखिर कौए व मुर्गियों की हो रही मौत का कारण बर्ड फ्लू है या फिर कोई और कारण। हालांकि पशु चिकित्सा विभाग दावा कर रहा है कि रविवार या सोमवार को भेजे गए सैम्पल की रिपोर्ट आ जाएगी।

कौए व मुर्गियों की मौत ग्रामीणों में दहशत
जिले में लगातार हो रही कौए की मौत को बर्ड फ्लू की आशंका से देखा जा रहा है। लेकिन जब तक इसकी जांच रिपोर्ट नहीं आ जाती, तब तक कुछ कह नहीं सकते। हालांकि गिधाली में 210 मुर्गियों की मौत के बाद सभी मुर्गियों को दफना दिया गया है। वहीं पोल्ट्री फॉर्म संचालक का कहना है कि जो मुर्गियां मरी हैं, वह बीमार थीं, उनका इलाज चल रहा था। ठंड के कारण भी मुर्गियां मरी होंगी। फिलहाल अब सभी को भेजे गए सैम्पल की रिपोर्ट आने का इंतजार है।

जिले में अलर्ट-मुर्गी व कौए मरने पर दें तत्काल जानकारी
सहायक पशु चिकित्सा अधिकारी टीडी देवांगन ने बताया कि जिले में लोगों को सतर्क रहने अलर्ट जारी किया गया है। साथ ही सभी पोल्ट्री फॉर्म वालों को भी दिशा निर्देश जारी किए गए हैं कि कहीं कोई मुर्गी व कौए की मौत होने की जानकारी मिलती है तो तत्काल इसकी जानकारी दें। इधर दो दिन से जिले के ग्राम बालोदगहन-जगतरा के जंगल में मरी मुर्गियों को बोरी में बांधकर फेंके जाने की खबर सोशल मीडिया पर चल रही थी, लेकिन मामले की जानकारी पशुचिकित्सा अधिकारी को नहीं है। गुरुर विकासखंड के खंड पशु चिकित्सा अधिकारी बीके विश्वकर्मा ने बताया कि इस तरह की कोई भी जानकारी मुझे नहीं है। अगर इस तरह की घटना होती तो ग्रामीणों से जानकारी मिल जाती, लेकिन अभी कोई जानकारी नहीं है। रविवार को इस मामले की जानकारी ग्रामीणों से ली जाएगी।

Show More
Dakshi Sahu Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned