दो साल पहले बनाया बायपास, भारी वाहनों की नहीं की शिफ्टिंग, शहर के भीतर से गुजरने से हो रही दुर्घटनाएं

दो साल पहले बनाया बायपास, भारी वाहनों की नहीं की शिफ्टिंग, शहर के भीतर से गुजरने से हो रही दुर्घटनाएं

Chandra Kishor Deshmukh | Publish: Sep, 16 2018 08:15:15 AM (IST) Balod, Chhattisgarh, India

लगातार यातायात दबाव बढ़ाता जा रहा है। इनसे उबरने शासन ने तो बायपास बना दिया है पर बायपास में अभी तक बड़े मालवाहक वाहनों की आवाजाही परिवर्तित नहीं की गई है।

बालोद. जिला बनने के बाद लगातार यातायात दबाव बढ़ाता जा रहा है। इनसे उबरने शासन ने तो बायपास बना दिया है पर बायपास में अभी तक बड़े मालवाहक वाहनों की आवाजाही परिवर्तित नहीं की गई है, जिसका नतीजा जिला मुख्यालय में वाहनों की संख्या बढ़ गई है, जिससे सड़कों पर दबाव बन रहा है, जो दुर्घटनाओं का कारण भी बन रहा है।

पड़कीभाट से पाररास तक 6 किमी की बायपास सड़क
बता दें कि जिला यातायात दबाव को कम करने के लिए शासन ने 10 करोड़ की लागत से पड़कीभाट से पाररास तक 6 किमी की बायपास सड़क बनाई है। यह बायपास बने भी लगभग दो साल हो गए हैं, लेकिन नगर से होकर गुजरने वाले भारी वाहनों को बायपास से नहीं भेजा जा रहा है। बड़े मालवाहकों को बायपास पर चलाया जाए तो शहर में यातायात का दबाव कम हो सकता है। हालांकि यातायात विभाग ने जल्द ही पहल करने की बात कही है।

हर बार लगता है जाम, आम लोग भी परेशान
वर्तमान में दुर्ग-धमतरी के भारी वाहन सीधे झलमला से होकर दल्ली चौक, फव्वारा चौक, मधु चौक होते हुए सीधे राजनांदगांव निकलते हैं। सुबह 10 बजे के बाद तो वाहनों की भीड़ बढ़ जाती है। खासकर 4 से 5 बजे जब स्कूली बच्चों की छुट्टी होती है तब तो और डर बना रहा है। कई बार तो इन वाहनों से सड़कों में बैठे मवेशी भी दुर्घटना का शिकार हुए हैं। जिला मुख्यालय की बिगड़ रही यातायात व्यवस्था को दुरुस्त करने की जरूरत है।

बिजली खंभों की ऊंचाई 40 फीट बढ़ाई
जानकारी के मुताबिक बायपास से होकर गुजरे विद्युत तारों की ऊंचाई कम होने के कारण भारी वाहनों को वहां से नहीं गुजारा गया। अब पीडब्ल्यूडी ने बायपास में आने वाले विद्युत पोलों की ऊंचाई बढ़ाने के लिए 7 लाख रुपए दिए। विद्युत विभाग ने भी लगभग एक दर्जन विद्युत पोलों की ऊंचाई बढ़ा दी है। यह कार्य हुए लगभग एक माह से ज्यादा हो गया है।

सड़क बनी पर पूरा नहीं हुआ उद्देश्य
बायपास सड़क को सिर्फ नगर में बड़ रहे यातायात दबाव कम करने के लिए ही बनाया गया है। पर यह उद्देश्य अब तक पूरा नहीं हुआ उल्टा अब भी नगर में यातायात का दबाव बढ़ाता जा रहा है। वहीं अब यह बायपास सड़क उखडऩे लगी है। 10 करोड़ की लागत से बनी सड़क पर अभी तो भारी वाहन चले भी नहीं है। जब ये वाहन वहां से गुजरेंगे तो स्थिति और गंभीर हो जाएगी। जबकि इस बायपास की मरम्मत कई बार कर चुके हैं। सूत्रों के मुताबिक अभी और इस सड़क की मरम्मत की जाएगी।

बायपास तिराहा पर ग्राम पंचायत बना रहा है अटल चौक
इधर ग्राम पंचायत पड़कीभाट ने पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी के सम्मान में पड़कीभाट बायपास तिराहे पर अटल चौक बनाने खुदाई शुरू कर दी है। आने वाले 10 दिनों में अटल चौक का निर्माण भी पूरा हो जाएगा।

अधिकारियों से चर्चा के बाद आगे कार्रवाई
बालोद के यातायात प्रभारी सत्यलता रामटेके ने कहा जल्द ही बायपास मार्ग से बड़े वाहन गुजारने पहल की जाएगी। इसके लिए उच्च अधिकारी से भी चर्चा करनी पड़ेगी। फिर आगे की कार्रवाई की जाएगी। पीडब्ल्यूडी के एसडीओ बीके गोटी ने बताया बायपास मार्ग बनकर तैयार है। विद्युत विभाग को बायपास मार्ग के अंतर्गत जितने विद्युत पोल है, उनकी ऊंचाई बढ़ाने 7 लाख रुपए जमा कर दिए गए हैं। विद्युत पोल की ऊंचाई विद्युत विभाग बढ़ाएगा। विद्युत विभाग के ईई वीके डहरिया ने बताया पीडब्ल्यूडी ने विद्युत पोल ऊंचा उठाने राशि जमा की थी, हमने विद्युत पोल की ऊंचाई बढ़ा दी है।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned